ज़ी स्पेशल

कितने बदले हैं 498ए में गिरफ़्तारी के प्रावधान?

कितने बदले हैं 498ए में गिरफ़्तारी के प्रावधान?

 इस धारा के मुताबिक 7 साल से कम की सजा के प्रावधान वाले मामलों में पुलिस सीधे गिरफ्तार नहीं कर सकती, इसके लिए पुलिस को कारण सहित मजिस्ट्रेट की परमिशन की ज़रूरत होती है. 

विनय जायसवाल | Sep 21, 2018, 07:57 PM IST
डियर जिंदगी : कितना सुनते हैं!

डियर जिंदगी : कितना सुनते हैं!

जब हमें गुस्‍सा दिलाने के लिए अब शब्‍दों की जगह आंख भर से काम हो जाए तो हमें समझना होगा कि हम कितने गंभीर स्‍तर पर पहुंच गए हैं! हम अंदर से इतने उबल रहे हैं कि ‘तापमान’ में जरा सा बदलाव हमारे गुस्‍से को ज्‍वालामुखी में बदल देता है.

दयाशंकर मिश्र | Sep 21, 2018, 09:57 AM IST

अन्य ज़ी स्पेशल

आदिवासी समाज के बिना पर्यावरण संरक्षण एक आत्मघाती सोच है...

आदिवासी समाज के बिना पर्यावरण संरक्षण एक आत्मघाती सोच है...

नीति आयोग की ताजा रिपोर्ट “कम्पोसिट वाटर मेनेजमेंट इंडेक्स-2018” के बारे में आप जानते ही होंगे, जो कहती है कि देश के 60 करोड़ लोग पानी के “उच्च से अति उच्च” स्तर के जलसंकट का सामना कर रहे हैं.

सचिन कुमार जैन | Sep 3, 2018, 06:19 PM IST
कृष्ण: मुक्ति संघर्ष के महानायक

कृष्ण: मुक्ति संघर्ष के महानायक

कृष्ण आदि स्वतंत्रता संग्राम सेनानी थे. स्वराज, स्वाधीनता और स्वतंत्रता क्या है कृष्णचरित के जरिए अच्छे से समझा जा सकता है.

जयराम शुक्ल | Sep 3, 2018, 01:32 PM IST
डियर जिंदगी : कितना ‘सहते’ हैं हम

डियर जिंदगी : कितना ‘सहते’ हैं हम

जिंदगी वन-वे ट्रैफिक नहीं है. जहां सड़क ठीक मिले तो आपको मनचाही गति मिल जाती है. दूसरे के कहीं और से ‘प्रवेश’ की चिंता नहीं होती. बस अपनी ड्राइविंग पर ध्‍यान लगाकर मंजिल तक पहुंचा जा सकता है!

दयाशंकर मिश्र | Sep 3, 2018, 09:36 AM IST
वाणी लोककल्याण का उपकरण थी मुनिश्री तरुण सागर के लिए

वाणी लोककल्याण का उपकरण थी मुनिश्री तरुण सागर के लिए

मुनिश्री तरुण सागर आचार्य पुष्पदंत के शिष्य थे, जब वे लोकमुक्त हुए उस समय वे दिल्ली में वर्षावास कर रहे थे. 

सुविज्ञा जैन | Sep 2, 2018, 11:26 PM IST
कैलाश मानसरोवर यात्रा: क्या राहुल गांधी के नए आस्तिक कवच को भेद पाएगी बीजेपी

कैलाश मानसरोवर यात्रा: क्या राहुल गांधी के नए आस्तिक कवच को भेद पाएगी बीजेपी

राहुल गांधी ने पिछले कुछ वर्ष में जिस तरह मंदिर-दर्शन को अपने राजनैतिक कार्यक्रमों का अभिन्न अंग बना लिया है, उससे बड़ी मेहनत से कांग्रेस पर थोपी गई मुस्लिमपरस्ती की छवि जरा धूमिल हुई है.

पीयूष बबेले | Sep 2, 2018, 06:42 PM IST
श्रद्धांजलि:  चला गया युवाओं को उत्साह और हिंसा का भेद समझाने वाला राष्ट्रसंत

श्रद्धांजलि: चला गया युवाओं को उत्साह और हिंसा का भेद समझाने वाला राष्ट्रसंत

आज जैन मुनि तरुण सागर महाराज जब हम सबके बीच नहीं हैं, तब हम सब उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि देते हैं और उसके साथ ही सबसे निवेदन करते हैं कि उनकी बातों को बहुत ध्यान से सुना जाए और ह्रदय में बसाया जाए. 

हम कब समझेंगे पानी की एक बूंद की कीमत

हम कब समझेंगे पानी की एक बूंद की कीमत

पानी की कमी हमें कहां तक ले जाएगी, ये आज का गम्भीर विषय है. हमें समय रहते ही सचेत होना होगा. पानी की कमी से हमें भविष्य में अनेक मुसीबतों का सामना करना पड़ सकता है.

रेखा गर्ग | Sep 1, 2018, 12:36 PM IST
नक्सलवाद यदि असहमति का मर्ज, फिर नजरबंदी का इलाज क्यों?

नक्सलवाद यदि असहमति का मर्ज, फिर नजरबंदी का इलाज क्यों?

नक्सलवाद पर सभी दलों की राजनीति- पूर्ववर्ती यूपीए सरकार ने जिन 128 संगठनों के खिलाफ कार्रवाई के लिए राज्य सरकारों को पत्र लिखा था उनमें इन आरोपियों के संगठनों का भी नाम था. 

विराग गुप्ता | Aug 31, 2018, 05:47 PM IST
मैं ब्राह्मण हूं और महिला हूं, इसलिए समाजवादी पार्टी में मेरे लिए नहीं थी जगह: पंखुड़ी पाठक

मैं ब्राह्मण हूं और महिला हूं, इसलिए समाजवादी पार्टी में मेरे लिए नहीं थी जगह: पंखुड़ी पाठक

समाजवादी पार्टी छोड़ने के बाद पार्टी की युवा प्रवक्ता पंखुड़ी पाठक ने पहली बार ZEE NEWS डिजिटल पर खोले अपने दिल के राज.

ज़ी न्यूज़ डेस्क | Aug 31, 2018, 03:27 PM IST
डियर जिंदगी: अकेले रहने के मायने!

डियर जिंदगी: अकेले रहने के मायने!

अकेले होने के अर्थ पुराने हो चले हैं. अब अकेले होने के मायने हो गए हैं, आप एक कमरे में चुपचाप मोबाइल के साथ अकेले हैं! आप वीडियो गेम के साथ अकेले हैं. अकेले में आप चैटिंग कर रहे होते हैं.

दयाशंकर मिश्र | Aug 31, 2018, 08:08 AM IST
...क्योंकि ध्यानचंद हॉकी के 'भगवान' नहीं बने!

...क्योंकि ध्यानचंद हॉकी के 'भगवान' नहीं बने!

29 अगस्त को दद्दा के जन्मदिन को राष्ट्रीय खेल दिवस के रूप में मनाया जाता है. इस दिन खेल से जुड़े सभी सम्मान व पुरस्कार बांटे जाते हैं. जिस किसी ने उनकी स्मृति को अक्षुण्ण रखने के लिए यह निर्णय लिया है वह स्तुत्य है.

जयराम शुक्ल | Aug 30, 2018, 07:33 PM IST
मीडिया से झगड़कर क्या हासिल कर लेंगे ट्रंप?

मीडिया से झगड़कर क्या हासिल कर लेंगे ट्रंप?

ट्रंप मेनस्ट्रीम मीडिया को ‘फेक न्यूज’ करार दे चुके हैं और जिन मीडिया संस्थानों पर ट्रंप लगातार निशाना साधते रहे हैं उनमें सीएनएन, वॉशिंगटन पोस्ट, एमएसएनबीसी, न्यूयॉर्क टाइम्स और वॉशिंगटन पोस्ट प्रमुख हैं.

जयशंकर चौधरी | Aug 30, 2018, 05:23 PM IST
डियर जिंदगी: घर के भीतर प्रवेश करने की कला...

डियर जिंदगी: घर के भीतर प्रवेश करने की कला...

प्रेम को पढ़ा तो हमने बहुत, लेकिन उसे ठहरकर जीना सरल नहीं है. इसे मन को समझाना होगा.

दयाशंकर मिश्र | Aug 30, 2018, 06:45 AM IST
डियर जिंदगी: दुख का आत्‍मा की 'काई' बन जाना...

डियर जिंदगी: दुख का आत्‍मा की 'काई' बन जाना...

बाढ़ का पानी अगर शहर में एक बार घुस जाए तो आसानी से कहां निकलता है... और असली परेशानी तो पानी निकलने के बाद शुरू होती है!

दयाशंकर मिश्र | Aug 29, 2018, 07:50 AM IST
हम भीड़तंत्र की ओर बढ़ रहे हैं, खामोशी से नहीं, ढोल-नगाड़ों के साथ

हम भीड़तंत्र की ओर बढ़ रहे हैं, खामोशी से नहीं, ढोल-नगाड़ों के साथ

भारत में भीड़तंत्र अपने आप स्थापित नहीं हो रहा है, उसे स्थापित किया जा रहा है. जरा गौर से देखिए, भीड़ केवल महिला को निर्वस्त्र करके सड़क पर दौड़ाती ही नहीं है, बल्कि उसकी फोटो खींचती है, वीडियो बनाती है और सोशल मीडिया पर गर्व से अपनी पहचान के साथ निडर होकर साझा करती है.

सचिन कुमार जैन | Aug 28, 2018, 02:51 PM IST
Opinion: सिंधु की हार, हार नहीं होती...

Opinion: सिंधु की हार, हार नहीं होती...

एशियाड के बैडमिंटन फाइनल में एक बार फिर पीवी सिंधु हार गईं. इससे पहले उनकी सबसे मशहूर हार ओलंपिक के फाइनल में हुई थी. दोनों ही बार वे दुनिया की एक नंबर खिलाड़ी से हारीं.

पीयूष बबेले | Aug 28, 2018, 02:38 PM IST
डियर जिंदगी: साथ छूटने से ‘बाहर’ आना…

डियर जिंदगी: साथ छूटने से ‘बाहर’ आना…

कुछ लोग उम्र, रिश्‍तों के ‘खास’ मोड़ पर एक-दूसरे का साथ छूट जाने से इतने दुखी, व्‍याकुल और उदास हो जाते हैं कि जिंदगी का मूल्‍य उसके सदके कर देते हैं. यह प्रेम नहीं जीवन के प्रति कृतज्ञता के भाव की कमी है.

दयाशंकर मिश्र | Aug 28, 2018, 07:38 AM IST
कांग्रेस में क्यों बढ़ रही है आरएसएस की दिलचस्पी

कांग्रेस में क्यों बढ़ रही है आरएसएस की दिलचस्पी

हाल के समय में कांग्रेस के प्रति संघ का यह नए किस्म का आकर्षण है. वैसे अतीत में महात्मा गांधी और राष्ट्रपति बनने से पहले सर्वपल्ली राधाकृष्णन भी संघ के कार्यक्रम में शामिल हो चुके हैं.

पीयूष बबेले | Aug 27, 2018, 04:59 PM IST
अटलजी और गठबंधन धर्म: लोकतंत्र 51 बनाम 49 का खेल नहीं

अटलजी और गठबंधन धर्म: लोकतंत्र 51 बनाम 49 का खेल नहीं

अटलजी ने लिखा है, "मैं इस विचार से सहमत नहीं हूं कि छोटे दल लोकतंत्र की प्रगति में बाधा हैं. छोटे दलों की अपेक्षाओं को राष्ट्रीय स्तर पर पर्याप्त महत्व दिया जाना चाहिए.'

जयराम शुक्ल | Aug 27, 2018, 01:49 PM IST
मधुशाला के परे: यहां लगता है कोई छोड़ गया है उर की गहरी पीर...

मधुशाला के परे: यहां लगता है कोई छोड़ गया है उर की गहरी पीर...

मधुशाला लोकप्रिय क्यों हुई? क्या काव्य के अंतर्निहित गुण के कारण? अगर कभी कोई समाज-विज्ञानी इस पर शोध करे और विश्लेषण करे तो बड़े ही रुचिकर निष्कर्ष निकलेंगे.

आलोक श्रीवास्तव | Aug 27, 2018, 01:09 PM IST

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close