Special News

साक्षी, सिंधु 'भारत की बेटी'... और आपकी बेटी ?

साक्षी, सिंधु 'भारत की बेटी'... और आपकी बेटी ?

पिछले हफ्ते का वाक्या है। शाम के वक्त एक व्यक्ति से फ़ोन पर बात हो रही थी। मौका रक्षा बंधन का था और सुबह-सुबह ही ख़बर आ चुकी थी कि हरियाणा की पहलवान साक्षी मलिक ने

जिंदगी पर भारी बेलगाम रफ्तार

जिंदगी पर भारी बेलगाम रफ्तार

सड़कें देश के लिए विकास का प्रतीक होती है। तो दूसरी तरफ हमारे देश की अर्थव्यवस्था पर एक खराब दशा हमेशा मंडराती है जिसका जुड़ाव हमारे देश की सड़कों से ही है। देश में सड़कों के अभाव और अच्छी सड़कें न

अस्सी पर ‘सुबह-ए-बनारस’

अस्सी पर ‘सुबह-ए-बनारस’

दशाश्वमेध घाट और गंगा आरती के विहंगम और मनमोहक दृश्यों वाली काशी आखिर अचानक अपनी खालिस देसी गालियों के लिए खबरों में कैसे आ गई? दशाश्वमेध और अस्सी के बीच का फ़ासला बमुश्किल पांच किलोमीटर का होगा लेकिन यहां तक आते आते पूरी की पूरी संस्कृति आखिर कैसे बदल जाती है?

स्मार्ट सिटी के 'आगाज' में खूबसूरत इंडिया की आहट!

स्मार्ट सिटी के 'आगाज' में खूबसूरत इंडिया की आहट!

हमारे देश के ज्यादातर अविकसित गांव कब संवरेंगे, उनकी तकदीर कब बदलेगी, इसकी तो उम्मीद नजर नहीं आती लेकिन देश के 13 शहरों का स्मार्ट होना अब तय हो गया है। इन 13 शहरों के स्मार्ट होने की उम्मीदों को प

सीएम अखिलेश यादव की 'मन की बात'

सीएम अखिलेश यादव की 'मन की बात'

देश के सबसे कम उम्र और सबसे बड़े प्रदेश के सीएम अखिलेश यादव को इस बात का मलाल है कि उनके ही प्रदेश के गांवों में रहने वाले लोग उन्हें नहीं पहचानते। युवा मुख्यमंत्री अखिलेश ने कहा कि गांव के लोग तो म

सियासी दलों में अपना बनाने की होड़

सियासी दलों में अपना बनाने की होड़

आजकल अपने पराये होते जा रहे हैं और पराये अपने से लगते हैं क्योंकि कहीं न कहीं आज हर व्यक्ति स्वार्थ सिद्धि में लगा हुआ है। नेतागण जो सिर्फ चुनाव के दौरान झुग्गी- झोपड़ियों में गरीब, कंगाल लोगों को

गुर्जर आरक्षण पर राज्य सरकार की सिफारिश अहम : थावरचंद गहलोत

गुर्जर आरक्षण पर राज्य सरकार की सिफारिश अहम : थावरचंद गहलोत

एक बार फिर राजस्थान में गुर्जर आंदोलन शुरू हो गया है। थावरचंद गहलोत केंद्र में सामाजिक न्याय मंत्री है। गुर्जर आंदोलन और आरक्षण के मसले पर सियासत की बात में केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत

'एकात्म मानववाद' पर सियासी खेल

'एकात्म मानववाद' पर सियासी खेल

वासिंद्र मिश्र ,एडिटर (न्यूज़ ऑपरेशंस), ज़ी मीडिया

नेपाल भूकंप से सबक लेने की जरूरत

नेपाल भूकंप से सबक लेने की जरूरत

नेपाल एक बार फिर दहशत और पीड़ा के साए में है। लोग अभी 25 अप्रैल को आए विनाशकारी भूकंप की त्रासदी से उबर भी नहीं पाए थे कि 12 मई को (मंगलवार) आए भूकंप के ताजा झटकों ने उनके जेहन में विनाश, भय और पीड

है सबसे मधुर वो गीत ...

अपनी म़ख़मली आवाज से करोड़ों प्रशंसक बनाने वाले तलत महमूद की दिलकश आवाज को लोग अभी भूले नहीं हैं । सत्रह साल पहले 9 मई 1998 को इस गजल सम्राट का इंतकाल हो गया था । तलत महमूद के गायक पुत्र खालिद महमू

मोदी और आंतरिक कलह !

मोदी और आंतरिक कलह !

नरेंद्र मोदी सरकार को एक साल पूरा होने वाला है। इससे पहले की बीजेपी अपनी सरकार के काम-काज का लेखा-जोखा पेश करे, पार्टी में आंतरिक विरोधी सुर सुनाई दे रहे हैं। अरुण शौरी ने सरकारी नीतियों को आड़े हा

उस दिन अगर बाबा रोक लेते...

उस दिन अगर बाबा रोक लेते...

बाबा केदारनाथ धाम के कपाट खुल गए। दो साल पहले तक केदारनाथ मंदिर के कपाट का खुलना और बंद होना हर साल की रूटीन खबर रहती थीं। वर्ष 2013 में यहां मची प्रकृति की प्रलयंकारी घटना की गूंज पूरी दुनिया में सुनाई दी थी। इस क्षेत्र में प्रकृति संभवत इतनी क्रोधित पहले कभी नहीं हुई होगी। मीलों तक सड़क मार्ग नदी का हिस्सा बन गए थे।

आक्रोश

आक्रोश

जंतर-मंतर पर हज़ारों लोगों की मौजूदगी में किसान की आत्महत्या पूरे प्रशासन की कार्यशैली पर सवालिया निशान लगाने के लिए काफी है। मरने वाले किसान ने अपने सुसाइड नोट में जय जवान जय किसान नारा भी लिखा है

मोदी जी! ये पब्लिक है …'

मोदी जी! ये पब्लिक है …'

वासिंद्र मिश्र एडिटर (न्यूज़ ऑपरेशंस), ज़ी मीडिया

तो क्या इतिहास दोहराएगी कांग्रेस?

तो क्या इतिहास दोहराएगी कांग्रेस?

इतिहास पलटेंगे तो पाएंगे, कांग्रेस का इतिहास अपनी राख से फिर जन्म लेने का रहा है, बिल्कुल फीनिक्स पक्षी की तरह। तो क्या एक बार फिर इतिहास दोहरा पाएगी कांग्रेस?

कश्मीरी पंडित और घर वापसी

कश्मीरी पंडित और घर वापसी

अमीर खुसरो का कहा गया यह वाक्य आज भी उतना ही विश्व में जनमानस के पटल पर अंकित है जितना उस समय था। "अगर धरती पर कहीं स्वर्ग है तो यहीं है यहीं है "। कश्मीर वो नाम है जिसे धरती का स्वर्ग कहा जाता है।

कितनी बदलेगी काशी?

कितनी बदलेगी काशी?

स्‍वयं को ही चुनौती दे डाली है। कहा जाता है कि जितना पुराना शहर उतनी समस्याएं। नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने से  भगवान शिव की नगरी वाराणसी कितनी बदलेगी? जैसे प्रश्नों का दिलो-दिमाग में आना स्वाभाविक है।

पुतिन-बराक के नक्शेकदम पर मोदी?

पुतिन-बराक के नक्शेकदम पर मोदी?

भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी क्या अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा और रूसी राष्ट्रपति पुतिन के नक्शेकदम पर चल पड़े हैं? नरेंद्र मोदी के लगभग 11 महीने की कार्यशैली से कमोबेश इसी तरह के संकेत मिल रहे हैं। मोदी के हालिया विदेश दौरे और राज्यपालों के लिए जारी निर्देशों से उनकी मंशा पर सवालिया निशान लग गया है?

आशाओं का अग्निपथ

आशाओं का अग्निपथ

कहते हैं 'ज़िंदा कौमें पांच साल इंतज़ार नहीं करतीं'। पिछले कुछ सालों में देश की राजनीति और राजनीति के प्रति लोगों के रवैये में जो बदलाव आया है, उसमें इस पंक्ति को चरितार्थ करने की ताकत दिखाई देती है।



लाइव स्कोर कार्ड