ज़ी स्पेशल

डियर जिंदगी : चलो कुछ 'धीमा' हो जाए...

डियर जिंदगी : चलो कुछ 'धीमा' हो जाए...

पहले पड़ोसी का सुख देखकर मन में अपने प्रति आशा और उसके प्रति स्‍नेह का भाव आता था. चलो अच्‍छा हुआ, उसके दिन फि‍रे. लेकिन अब सबसे पहला तनाव उसके घर में सुख के स्‍वर मिलते ही आ जाता है.

दयाशंकर मिश्र | Apr 24, 2018, 07:29 AM IST
Opinion: क्या रेप पर मौत की सजा देने से अपराध कम होंगे?

Opinion: क्या रेप पर मौत की सजा देने से अपराध कम होंगे?

आज भी देश में टीएफटी यानी टू फिंगर टेस्ट जैसी यातना भरी प्रक्रिया बलात्कार पीड़ित के साथ कई जगह दोहराई जा रही है. जबकि 2013 में सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि टू फिंगर टेस्ट पीड़ित को उतनी ही पीड़ा पहुंचाता है जितनी बलात्कार के दौरान होती है.

पंकज रामेंदु | Apr 23, 2018, 11:05 PM IST

अन्य ज़ी स्पेशल

डियर जिंदगी: किसी से प्रेम का अर्थ 'दूसरे' को छोड़ना नहीं...

डियर जिंदगी: किसी से प्रेम का अर्थ 'दूसरे' को छोड़ना नहीं...

देश, समाज संक्रमण काल से गुजर रहा है. शहरों के विस्‍तार के साथ जाति के बंधन टूट रहे हैं, लेकिन अब भी वह पर्याप्‍त मजबूत हैं.

दयाशंकर मिश्र | Mar 21, 2018, 04:03 PM IST
लिंगायत को हिन्दू समाज से अलग करना कांग्रेस की भयंकर भूल

लिंगायत को हिन्दू समाज से अलग करना कांग्रेस की भयंकर भूल

कर्नाटक के लिंगायत समुदाय पर हाल के दिनों में बीजेपी की मजबूत पकड़ रही है. कर्नाटक में बीजेपी के कद्दावर नेता बीएस येद्दयुरप्पा लिंगायत समुदाय से ही आते हैं. अल्पसंख्यकों, पिछड़ों और दलितों के समर्थन पर आधारित राजनीति करने वाली कांग्रेस से लिंगायत समुदाय की दूरी है, जिसकी राज्य में आबादी 17 प्रतिशत (कुछ के मुताबिक 9.8 प्रतिशत) बताई जाती है.

सत्येंद्र सिंह | Mar 21, 2018, 12:52 PM IST
विश्व काव्य दिवस विशेष: कवि से कविता का होना...

विश्व काव्य दिवस विशेष: कवि से कविता का होना...

हमारे यहां गौतम से लेकर गांधी तक सब मौजूद है अजी हमारे आगे धरम ईमान, राम-रहीम का क्या वजूद है सच्चाई, नैतिकता तो हमारे सामने डूबता हरसूद हैं संवेदनाएं रोज़ हमारे कदमों में अपना सिर टेकती हैं ईमानदारी खुद की मार्केटिंग की राह देखती हैं.

पंकज रामेंदु | Mar 21, 2018, 12:32 PM IST
किसके हित में है शी जिनपिंग का चीनी अधिनायकवाद?

किसके हित में है शी जिनपिंग का चीनी अधिनायकवाद?

जिनपिंग के लंबे शासन का चीन के पड़ोसियों पर प्रत्यक्ष प्रभाव पड़ेगा. बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव के कारण भले ही क्षेत्र के कुछ देशों को फायदा हो जाए, लेकिन दक्षिण चीन सागर में चीन की विस्तारवादी नीति के कारण आसपास के कुछ देश आतंकित महसूस करेंगे.

सत्येंद्र सिंह | Mar 21, 2018, 10:05 AM IST
विचारों के 'अकाल में सारस' की बिदाई

विचारों के 'अकाल में सारस' की बिदाई

वे तमाम ऐसे शब्दों का प्रयोग अपनी कविताओं में करते हैं, जो कि अब कमोवेश बिसरा से दिए गए हैं . वे समय और भाषा की अनंतता को एक साथ जीवंत करते नजर आते हैं. उनकी विदाई के बाद क्या कोई ऐसा कर पाएगा? 

चिन्मय मिश्र | Mar 20, 2018, 09:28 PM IST
विश्व खुशहाली दिवस पर क्या बात करें?

विश्व खुशहाली दिवस पर क्या बात करें?

अपने देश की अधिसंख्य आबादी की बेहद कमजोर माली हालत के कारण अगर विश्व खुशहाली रिपोर्ट में हमारी ऐसी स्थिति बताई गई हो तो हमें आश्चर्य नहीं होना चाहिए. हमें चाहिए कि खेती किसानी और बेरोज़गारी पर ध्यान देने के काम पर फौरन लग जाएं.

सुविज्ञा जैन | Mar 20, 2018, 08:05 PM IST
डियर जिंदगी: 'न' कहने की आदत

डियर जिंदगी: 'न' कहने की आदत

प्रतिस्‍पर्धा और एक-दूसरे से आगे निकनले की होड़ में हम भीतर से इस तरह टूटते जा रहे हैं कि न कहने के लिए जिस प्रतिरोध के साहस की जरूरत होती है, हमारे अंदर उसका होना तो दूर विचार तक नहीं होता.

दयाशंकर मिश्र | Mar 20, 2018, 07:44 PM IST
एक देशज आधुनिक कवि का अवसान

एक देशज आधुनिक कवि का अवसान

वर्तमान पूँजी एवं उपभोक्तावाद का विरोध करते हुए केदारनाथ सिंह बड़े सहज तरीके से कुछ यूँ कह जाते हैं, ''मैं बाजार में टहलता रहा. खिड़कियों में सजे सामानों को देखता रहा और अंत में मैं बाजार से यूँ कहते हुए एक बादशाह की तरह निकल गया कि मुझे तुम्हारी जरूरत नहीं है.''

डॉ. विजय अग्रवाल | Mar 20, 2018, 02:56 PM IST
पीएम मोदी की ताकत विरोधियों की आत्मा में पलती है

पीएम मोदी की ताकत विरोधियों की आत्मा में पलती है

हमारे इलाके में एक लोकमान्यता है- दुश्मन की गाली उम्र को और बढ़ा देती है. किसी और संदर्भ में ये सच हो न हो, नरेंद्र मोदी के संदर्भ में तो ये सोलह आने सच है.

जयराम शुक्ल | Mar 20, 2018, 11:28 AM IST
प्रकृति, प्रेम और केदारनाथ सिंह

प्रकृति, प्रेम और केदारनाथ सिंह

वहीं कवि केदारनाथ सिंह की कविताओं में प्रकृति का बिंब देखने को मिलता है. जो ताउम्र यह मानते रहे कि टूटा हुआ ट्रक भी पूरी तरह से निराश नहीं है, बिल्कुल मशीनी चीज़ भी टूटने के बाद चल देने को तैयार है, जो क्षुद्र है, नष्टप्राय है.

पंकज रामेंदु | Mar 20, 2018, 10:43 AM IST
दिनेश कार्तिक 14 साल इसलिए इंतजार करते हैं, ताकि क्रिकेट जीत सके

दिनेश कार्तिक 14 साल इसलिए इंतजार करते हैं, ताकि क्रिकेट जीत सके

दिनेश कार्तिक ने अपनी इस पारी का श्रेय भी उस खिलाड़ी को दिया, जिसके शानदार खेल के कारण उन्हें कम मौके मिले.

रवि भदौरिया | Mar 19, 2018, 04:31 PM IST
खुली जेलों पर सुप्रीम कोर्ट, मीडिया और मानवाधिकार

खुली जेलों पर सुप्रीम कोर्ट, मीडिया और मानवाधिकार

दरअसल खुली जेल एक ऐसी जेल होती है जिसमें जेल के सुरक्षा नियमों को काफी लचीला रखा जाता है. ऐसी जेलें आमतौर से केंद्रीय जेल से बाहर स्थापित की जाती हैं और सलाखों से तकरीबन आजाद होती है.

वर्तिका नंदा | Mar 19, 2018, 04:23 PM IST
डियर जिंदगी : प्रसन्‍नता मंजिल नहीं, सफर है...

डियर जिंदगी : प्रसन्‍नता मंजिल नहीं, सफर है...

हम खुश रहने के तरीके की खोज में आधी जिंदगी बिता देते हैं. जब खुशी मिल जाती है, तब जाकर समझ आता है कि असल में हम इसके लिए तो निकले ही नहीं थे.

दयाशंकर मिश्र | Mar 19, 2018, 01:59 PM IST
 फूलपुर, गोरखपुर उपचुनाव ने तय कर दी है 2019 लोकसभा चुनाव की दिशा

फूलपुर, गोरखपुर उपचुनाव ने तय कर दी है 2019 लोकसभा चुनाव की दिशा

प्रधानमंत्री मोदी, पार्टी अध्यक्ष अमित शाह और मुख्यमंत्री योगी 2019 के लिए उत्तर प्रदेश से बड़ी उम्मीद लगाए बैठे हैं लेकिन इन नतीजों ने पार्टी को अपनी रणनीति पर दोबारा से विचार करने पर मजबूर कर दिया है. 

पवन चौरसिया | Mar 18, 2018, 11:20 PM IST
अविश्वास प्रस्ताव और उपचुनावों के नतीजे भाजपा के लिए सबक

अविश्वास प्रस्ताव और उपचुनावों के नतीजे भाजपा के लिए सबक

2014 के मुकाबले जमीनी हकीकत बदल चुकी है. राजनीति की भुजंगनी कई बार उलट-पलट चुकी हैं. पिछले चुनाव के मर्म को समझें तो मालुम होगा कि भाजपा वहीं ताकत के साथ उभरी जहां कभी कांग्रेस का आधार रहा है.

जयराम शुक्ल | Mar 17, 2018, 04:29 PM IST
लड़कियों का शरीर कोई पब्लिक प्रॉपर्टी नहीं है

लड़कियों का शरीर कोई पब्लिक प्रॉपर्टी नहीं है

अब लड़कियां बोलने लगीं हैं, वो अपने साथ हुई बदतमीजी के लिए खुद को ज़िम्मेदार नहीं मानती हैं. 

निदा रहमान | Mar 16, 2018, 12:00 AM IST
क्या जया बच्चन की जगह दूसरी महिला के अपमान पर भी इतना ही विरोध होता?

क्या जया बच्चन की जगह दूसरी महिला के अपमान पर भी इतना ही विरोध होता?

पुरुषों की भी ऐसी ही मान्यता है. 43 प्रतिशत पुरुष मानते हैं कि किन्हीं खास हालातों में महिलाओं का पीटा जाना जायज है. जैसे यदि पत्नी अपने ससुराल में रिश्तेदारों का अनादर करे तो 29 प्रतिशत मर्द उसे पीटे जाने को जायज मानेंगे. पत्नी का व्यवहार शंकास्पद मानने पर 24 प्रतिशत मर्द पिटाई को जायज मानेंगे.

किसके लिए सीख लेकर आए उत्तर प्रदेश के नतीजे

किसके लिए सीख लेकर आए उत्तर प्रदेश के नतीजे

अब भले ही मुलायम व कांशीराम सीधे परिदृश्य में नहीं हैं. मगर उनके उत्तराधिकारी अखिलेश व मायावती एक बार फिर साथ आए और पूरा सियासी फलक ही बदल दिया. 

रीमा पराशर | Mar 15, 2018, 12:17 AM IST
हार के बाद अब क्या करेंगे CM योगी आदित्यनाथ

हार के बाद अब क्या करेंगे CM योगी आदित्यनाथ

ऐसा माना जा रहा है कि सपा और बसपा के साथ आने से पैदा हुई स्थिति को बीजेपी के नेतृत्त्व ने गंभीरता से नहीं लिया

रतनमणि लाल | Mar 14, 2018, 10:44 PM IST
चौंकाने वाला नहीं है उत्तर प्रदेश का उपचुनाव परिणाम

चौंकाने वाला नहीं है उत्तर प्रदेश का उपचुनाव परिणाम

विधानसभा चुनाव में सपा-बसपा में गठबंधन होता तो एनडीए को 325 सीटों पर जीत नहीं मिलती. 

सत्येंद्र सिंह | Mar 14, 2018, 10:30 PM IST