ज़ी स्पेशल

ZEE जानकारी: अंडरवर्ल्ड, राजनीति और Real Estate से जुड़े लोगों का Nexus

ZEE जानकारी: अंडरवर्ल्ड, राजनीति और Real Estate से जुड़े लोगों का Nexus

अगर आपको इस बात का पता चले कि भारत में मौजूद कोई व्यक्ति, दाऊद इब्राहिम का बिज़नेस पार्टनर है तो आप उस आदमी को किस नज़रिये से देखेंगे ? ज़ाहिर है ऐसे आदमी पर आपको गुस्सा आएगा.. और आप उसे अंडरवर्ल्ड का हिस्सा ही मानेंगे. हमारे देश में ऐसे कई लोग हैं... जो Business Partnership के लिए दाऊद इब्राहिम से हाथ मिलाना चाहते हैं...ये लोग राजनीति और रियल एस्टेट से जुड़े हुए हैं..

| Sep 19, 2017, 11:38 PM IST
ZEE जानकारीः School Bus और Van एक Reality Check

ZEE जानकारीः School Bus और Van एक Reality Check

आपको बताते हैं कि ख़बरों की दुनिया में डर और जानकारी के बीच क्या फर्क होता है ?पिछले कुछ दिनों से देश के ज़्यादातर माता-पिता डरे हुए हैं. स्कूल में 7 साल के एक बच्चे की हत्या के बाद ये डर... देश के हर परिवार को परेशान कर रहा हैं. लोग जैसे ही इस डर से उबरने की कोशिश करते हैं.... वैसे ही हमारा मीडिया प्रद्युम्न की मौत से जुड़ा नया खुलासा करके.. उन्हें और डरा देता है.

| Sep 19, 2017, 11:23 PM IST

अन्य ज़ी स्पेशल

'डियर जिंदगी' : क्‍या आपका बच्‍चा आत्‍महत्‍या के खतरे से बाहर है...

'डियर जिंदगी' : क्‍या आपका बच्‍चा आत्‍महत्‍या के खतरे से बाहर है...

'डियर जिंदगी' को पिछले सप्‍ताह सबसे अधिक प्रतिक्रियाएं मध्य प्रदेश और भोपाल से मिलीं. जहां एमपी बोर्ड की दसवीं और बारहवीं परीक्षाओं के रिजल्‍ट घोषित हुए हैं. शुक्रवार को नौ से अधिक बच्‍चों ने सुसाइड कर लिया. इनमें सबसे चौंकाने वाला नाम भोपाल से नमन जड़वे का है. नमन को 74 प्रतिशत अंक मिले थे. इनमें से तीन विषयों में उसे विशेष योग्‍यता मिली थी. 

दयाशंकर मिश्र | मई 15, 2017, 03:30 PM IST
डियर जिंदगी : आपने 'उसे' अब तक माफ नहीं किया...

डियर जिंदगी : आपने 'उसे' अब तक माफ नहीं किया...

किसी भी रिश्‍ते में असली सॉरी को स्‍वीकार करना इतना भी मुश्किल नहीं है. जितना इन दिनों देखने को मिल रहा है. बस 20 सेकंड इस छोटी भावुक, प्रेरक कहानी को दे दीजिए..

दयाशंकर मिश्र | मई 12, 2017, 03:34 PM IST
डियर जिंदगी : बोरियत का कूल 'फंडा' और इसका ट्रीटमेंट

डियर जिंदगी : बोरियत का कूल 'फंडा' और इसका ट्रीटमेंट

'मैं इस नौकरी से बोर हो गई हूं. यहां कुछ भी क्रिएटिव करने को नहीं है. हर दिन वही काम. जबकि मैं तो कुछ ऐसा करना चाहती हूं, जिससे दुनिया को मेरे बारे में कुछ पता चले. इससे मैं बहुत अपसेट हूं, मेरे करियर की शुरुआत खराब हो गई है'

दयाशंकर मिश्र | मई 11, 2017, 01:47 PM IST
अंबेडकर को 'दलितों का मसीहा' कहना उन्हें सीमाओं में बांधने की कोशिश

अंबेडकर को 'दलितों का मसीहा' कहना उन्हें सीमाओं में बांधने की कोशिश

साधु चरित सुभ चरित कपासु
नीरस, बिसद, गुनमय फल जासु
जो सहि दुख पर छिद्र दुरावा
बंदनीय जेहि जग जस पावा

(साधु का चरित्र कपास के समान होता है जो नीरस, विशद और गुणमय होता है. इसी प्रकार संत का चरित्र भी सदगुणों का भंडार होता है, जो स्वयं दुख सहकर भी दुसरों के दोषों को ढंकता है : गोस्वामी तुलसीदास)

| मई 10, 2017, 07:47 PM IST
डियर जिंदगी : प्रेम की सूखी नदी और तनाव का शोर ...

डियर जिंदगी : प्रेम की सूखी नदी और तनाव का शोर ...

पत्‍नी के जन्‍मदिन पर पति ने अपनी जमापूंजी से तोहफे में कार खरीदी. घर की पहली कार. सरप्राइज के लिए कार सीधे अपने घर भिजवा दी. साथ में यह संदेश भी कि इसे लेकर वह उन्‍हें रिसीव करने उनके ऑफिस आ जाएं. पत्‍नी थोड़ी ही देर में कार लेकर बताए गए पते की ओर रवाना हो गईं. दुर्भाग्‍य से रास्‍ते में एक्‍सीडेंट हो गया. नई कार को पहले ही दिन खूब चोट लगी. लेकिन वह पूरी तरह सकुशल रहीं.

दयाशंकर मिश्र | मई 10, 2017, 04:22 PM IST
डियर जिंदगी :  रिश्‍तों में निवेश का स्‍कोर क्‍या है...

डियर जिंदगी : रिश्‍तों में निवेश का स्‍कोर क्‍या है...

यह शादियों का मौसम है. दोस्‍तों, भूले-बिसरे रिश्‍तेदारों से मिलने का अवसर. साथ ही टैक्‍स प्‍लानिंग का सीजन भी है. अप्रैल से ही हमारे पास टैक्‍स कंसल्‍टेंट के फोन आने शुरू हो जाते हैं. हर बरस मार्च तक टैक्‍स फाइल क्‍लोज करनी होती है. नहीं तो आपकी जमा पूंजी टैक्‍स की चपेट में आ सकती है. हम जितनी गंभीरता से टैक्‍स कंसल्‍टेंट की कॉल को लेते हैं, काश!

दयाशंकर मिश्र | मई 9, 2017, 01:41 PM IST
डियर जिंदगी : आपकी 'अनमोल' सलाह  की जरूरत किसे है!

डियर जिंदगी : आपकी 'अनमोल' सलाह की जरूरत किसे है!

उनकी आवाज में तनाव, उदासी और आंखों में नमी थी. 'मैं उसका बड़ा भाई हूं, बचपन से आज तक मुझसे बिना पूछे, कुछ नहीं किया लेकिन अब शादी के बाद सारे फैसले खुद लेने लगा है, बस बता देता है.' तो इसमें परेशानी क्‍या है, वह बड़ा हो गया है. उसके पास शानदार करियर है. आप उसकी चिंता में क्‍यों घुले जा रहे हैं. मैंने उन्‍हें टोका. आप नहीं समझेंगे. मुझे बहुत ही बुरा लग रहा है, मैं एकदम अकेला हो गया हूं.

दयाशंकर मिश्र | मई 8, 2017, 11:56 AM IST
डियर जिंदगी : बच्‍चे स्‍कूल में ही फेल होते हैं...

डियर जिंदगी : बच्‍चे स्‍कूल में ही फेल होते हैं...

आर के लक्ष्‍मण याद हैं न आपको. आज वर्ल्‍ड कार्टूनिस्‍ट डे है. इस नाते उनकी याद आनी स्‍वाभाविक है. लेकिन 'डियर जिंदगी' में उनको याद करने की वजह यह नहीं है.

दयाशंकर मिश्र | मई 5, 2017, 01:04 PM IST
डियर जिंदगी : आपके होने से फर्क पड़ता है...

डियर जिंदगी : आपके होने से फर्क पड़ता है...

मरीना बीच, चेन्‍नई जो गए हैं और जो नहीं भी गए हैं, वो समंदर के इस खूबसूरत दरवाजे के बारे में बखूबी जानते हैं. जो नहीं ही जानते हैं, वह गूगल बाबा से अभी पता कर सकते हैं. कुछ वक्‍त पहले एक दिन मैंने वहां कुछ ऐसा देखा, जो जिंदगी के बारे में बेहद आशा, कोमलता और प्रेम से भरपूर नजारा था. शाम होने को थी और मैं तट पर यूं ही टहल रहा था.

दयाशंकर मिश्र | मई 4, 2017, 01:41 PM IST
डियर जिंदगी : आपके बच्‍चों पर उदासी की छाया तो नहीं...

डियर जिंदगी : आपके बच्‍चों पर उदासी की छाया तो नहीं...

'आप सबसे बहुत प्‍यार करता हूं, लेकिन मैं आपकी अपेक्षाओं को पूरा नहीं कर पा रहा हूं. मैं इंजीनियर नहीं सिंगर बनाना चाहता हूं, लेकिन यह बात आपको समझा पाने में सफल नहीं हो पाया...'  -  18 साल के स्‍टूडेंट के सुसाइड नोट का हिस्‍सा 

दयाशंकर मिश्र | मई 3, 2017, 03:42 PM IST
डियर जिंदगी : बच्‍चों को मैनेजर नहीं पैरेंट्स चाहिए

डियर जिंदगी : बच्‍चों को मैनेजर नहीं पैरेंट्स चाहिए

'पापा, आपको अपने ऑफि‍स में सबसे ज्‍यादा सैलरी मिलती है? नहीं न! मैंने इसलिए पूछा, क्‍योंकि मुझे भी क्‍लास में सबसे अधिक नंबर नहीं मिलते, ले‍किन हमेशा मुझसे ज्‍‍‍‍‍‍यादा की अपेक्षा होती है'.

बच्‍चों के बदलते तेवर वाला यह कार्टून इन दिनों सोशल नेटवर्क पर लोकप्रिय है.

दयाशंकर मिश्र | मई 1, 2017, 05:55 PM IST
डियर जिंदगी: डिप्रेशन और आत्‍महत्‍या के विरुद्ध...जीवन संवाद

डियर जिंदगी: डिप्रेशन और आत्‍महत्‍या के विरुद्ध...जीवन संवाद

अब वह मेरा दोस्‍त नहीं है! 21 साल के अयान ने बेहद नि‍राशा से कहा. उसने एकदम कटप्‍पा शैली में मुझे धोखा दिया. मेरे लि‍ए उसे क्षमा करना संभव नहीं. मैंने पूछा, क्‍या तुम उसकी गलती बता सकते हो? वह हमेशा क्‍लास में नंबर तीन पर रहता था, लेकिन इस बार उसने अपना स्‍टडी प्‍लान मुझे बताए बिना बदल दिया और मुझे गलत सलाह देते हुए वह हमारे कॉलेज का टॉपर बन गया. अब तक टॉपर मैं था.

दयाशंकर मिश्र | Apr 28, 2017, 05:19 PM IST
सुकमा में नक्सली हमला, 'गणतंत्र' को चुनौती देता नक्सली 'गन-तंत्र'

सुकमा में नक्सली हमला, 'गणतंत्र' को चुनौती देता नक्सली 'गन-तंत्र'

छत्तीसगढ़ की धरती एक बार फिर देश के वीर सीआरपीएफ के जवानों के खून से लाल हो गई है. सुकमा में वही हुआ जो 2010 में दंतेवाड़ा में हुआ था. घेर कर और ताक लगा के 300 से अधिक नक्सलियों ने जवानों पर हमला कर दिया और पूरी क्रूरता से 26 जवानों को मौत के घाट उतर दिया. पिछले महीने भी सुकमा में 12 जवान शहीद हुए थे. अब कई सवाल उठेंगे, जो कि लाज़मी हैं. किसकी गलती थी? कहां चूक रह गई?

| Apr 25, 2017, 11:49 AM IST
लोकतंत्र में गायकवाड़ जैसे 'खास' लोगों के विशेषाधिकार की जगह नहीं

लोकतंत्र में गायकवाड़ जैसे 'खास' लोगों के विशेषाधिकार की जगह नहीं

‘चूंकि मेरे उड़ान भरने पर रोक से मेरे कर्तव्य और जिम्मेदारियों का निर्वहन प्रभावित हो रहा है, इसलिए मैं आपसे रोक हटाने का अनुरोध करता हूं’

| Apr 19, 2017, 12:01 AM IST
बिना 'राज्यों की शक्ति' के शराब बंदी से कैसे महफूज़ होंगे हाइवे

बिना 'राज्यों की शक्ति' के शराब बंदी से कैसे महफूज़ होंगे हाइवे

राष्ट्रीय राजमार्ग से 500 मीटर की दूरी पर शराब की दुकानों के स्थानांतरण का मुद्दा देश के कुछ हिस्सों में अशांति पैदा कर रहा है. कुछ ही दिनों में इनमें से ज्यादातर शराब की दुकानों को अपने नए स्थानों पर शिफ्ट हो गई हैं. इस कदम से काफी हद तक शराब पीकर गाड़ी चलाने की प्रवृति के कम होने की संभावना है.

| Apr 14, 2017, 02:29 PM IST
टाइम आउट यानी निर्णायक मोड़! - सुधांशु गुप्त

टाइम आउट यानी निर्णायक मोड़! - सुधांशु गुप्त

आजकल शामें आईपीएल के मैच देखते हुए गुजर रही हैं. लेकिन दिमागी लोगों के लिए क्रिकेट मैच भी सिर्फ मैच नहीं होते. वे किक्रेट को एन्ज्वॉय करने के साथ-साथ तमाम तरह के सवाल भी उठाने लगते हैं. आठ अप्रैल को दिल्ली और रॉयल चैलेंज बैंग्लुरु के बीच मैच था. बैंग्लुरु ने पहले बैटिंग करते हुए बमुश्किल 157 रन बनाए. दिल्ली का जीतना मैच में मुश्किल ही लग रहा था.

| Apr 13, 2017, 06:19 PM IST
क्या इन दिनों ज्यादा प्रासंगिक हो गए हैं भगवान महावीर?: सुधीर जैन

क्या इन दिनों ज्यादा प्रासंगिक हो गए हैं भगवान महावीर?: सुधीर जैन

इस बार महावीर जयंती पर क्यों न जैन दर्शन के दो मुख्य सिद्धांतों की चर्चा कर ली जाए. ये दो अवधारणाएं हैं अनेकांत और स्याद्वाद. विश्व और खासतौर पर अपने देश के मौजूदा हालात देखें तो ये दोनों सिद्धांत कुछ ज्यादा ही प्रासंगिक हो गए हैं. 

| Apr 9, 2017, 02:59 PM IST
बातचीत से ही निकलेगा सीरिया संकट का हल

बातचीत से ही निकलेगा सीरिया संकट का हल

'बस के दुश्वार है हर काम का आसां होना, आदमी को भी मयस्सर नहीं है इंसा होना' ग़ालिब का यह शेर पश्चिमी-एशियाई देश सीरिया के मौजूदा हालातों के ऊपर कितना सटीक बैठता है जहां पर दो राजनीतिक पक्षों के बीच में फंसकर इंसानियत ज़ार-ज़ार रो रही है और शायद कई लाशों को तो कफ़न तक नहीं नसीब हो रहे हैं.

| Apr 8, 2017, 08:35 PM IST