एशियन गेम्स से पहले खिलाड़ियों को खेल मंत्री का संदेश, अपना खेल खेलें, परिणाम की चिंता न करें

"यह बहुत सम्मान का बात है कि आप एशियाई खेलों में भारत का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं. भारत का झंडा सीने पर लगाकर आप जाएं, यह सौभाग्य आपने कमाया है. आप जब वहां खेलेंगे और खेल गांव में रहेंगे तब आपको लोग भारत के नाम से बुलाएंगे न कि आपके नाम से."

एशियन गेम्स से पहले खिलाड़ियों को खेल मंत्री का संदेश, अपना खेल खेलें, परिणाम की चिंता न करें
खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने बढ़ाया खिलाड़ियों का हौसला (PIC : PTI)

नई दिल्ली : इसी महीने की 18 तारीख से इंडोनेशिया के जकार्ता और पालेमबांग में खेले जाने वाले एशियाई खेलों में हिस्सा लेने वाले खिलाड़ियों को देश के खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने शुभकामनाएं देते हुए सलाह दी है कि वो सिर्फ अपना खेल खेलें तथा सर्वश्रेष्ठ दें और परिणाम की चिंता न करें. राठौड़ ने भारतीय ओलम्पिक संघ (आईओए) द्वारा यहां शुक्रवार (10 अगस्त) को एशियाई खेलों में हिस्सा लेने वाले भारतीय दल के लिए आयोजित विदाई समारोह यह बातें कहीं. राठौड़ ने कहा कि यह खिलाड़ियों के लिए सम्मान की बात है कि वो इन खेलों में भारत का प्रतिनिधित्व करने जा रहे हैं.

उन्होंने कहा, "यह बहुत सम्मान का बात है कि आप एशियाई खेलों में भारत का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं. भारत का झंडा सीने पर लगाकर आप जाएं, यह सौभाग्य आपने कमाया है. आप जब वहां खेलेंगे और खेल गांव में रहेंगे तब आपको लोग भारत के नाम से बुलाएंगे न कि आपके नाम से."

नीरज चोपड़ा को एशियाई खेलों का ध्वजवाहक चुना गया

उन्होंने कहा, "आपने बहुत तैयारी की है और काफी सपने देखे हैं और जैसे-जैसे दिन गुजर रहे हैं आप अपने सपने के करीब जाते जा रहे है. इस दौरान अपने आप पर और कोच पर विश्वास रखिएगा. परिणाम की चिंता नहीं कीजिएगा. परिणाम अपने आप आपके पीछे आएगा. नए विश्वास वाले भारत को मैं बधाई और शुभकामाएं देता हूं."

एथेंस ओलम्पिक में निशानेबाजी में रजत पदक जीतने वाले राठौड़ ने कहा कि उनकी योजना अगले 'खेलो इंडिया' कार्यक्रम में अंडर-21 श्रेणी को भी शामिल करने की है. 

पूर्व निशानेबाज ने कहा, "2019 में हम खेलो इंडिया में शायद अंडर-21 के खिलाड़ियों को भी लेकर आएं और उन्हें मौका दें. फिर हम उन्हें खिलाड़ियों को चुनकर तैयार करेंगे तथा सुविधाएं मुहैया कराएंगे. हमारी कोशिश है कि आज जो कमियां हैं उन्हें दूर करें और रेड टेपिज्म खिलाड़ी के आगे न आए."

इस मौके पर आईओए के अध्यक्ष नरेंद्र ध्रुव बत्रा ने भी भारतीय दल को शुभकामनाएं दीं और उम्मीद जताई कि भारतीय दल इस बार पहले से ज्यादा पदकों के साथ लौटेगा. 

बत्रा ने कार्यक्रम से इतर संवाददाताओं से कहा, "मुझे पूरी उम्मीद है कि हमारा प्रदर्शन पिछली बार से बेहतर रहेगा और हम पहले से ज्यादा पदक जीत कर आएंगे. मैं यह तो नहीं कह सकता कि कितने लेकिन मुझे पूरा विश्वास है कि इस बार पदकों की संख्या पिछली बार से ज्यादा होगी. हमारे खिलाड़ियों में पूरी काबिलियत है कि वो ऐसा करें. मैं उन्हें शुभकामनाएं देता हूं."

Asian Games 2018 Relay
एशियाई खेल 2018 की मशाल (PIC: REUTERS)

इंच्योन में खेले गए पिछले एशियाई खेलों में भारत ने 57 पदक अपने नाम किए थे जिसमें से 11 स्वर्ण, नौ रजत और 37 कांस्य पदक शामिल हैं.

भारत के कुल 572 खिलाड़ी इन खेलों में हिस्सा ले रहे हैं. इस मौके पर भारत के चेफ दे मिशन बृजभूषण सिंह शरण मौजूद थे. उनके साथ आईओए ने चार उप चेफ दे मिशन नियुक्त किए हैं जिनमें आर.के. सचेती, सत्यव्रत श्योराण, बलबीर सिंह कुशवाह और देव कुमार सिंह शामिल हैं.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close