एमएस धोनी का नाम BCCI ने पद्मभूषण पुरस्कार के लिए किया नॉमिनेट

 एमएस धोनी विश्व के इकलौते कप्तान हैं, जिन्होंने आईसीसी की तीनों ट्रॉफी-टी-20 वर्ल्ड कप, 2011 आईसीसी वर्ल्ड कप, और 2013 में चैम्पियंस ट्रॉफी जीती है.

एमएस धोनी का नाम BCCI ने पद्मभूषण पुरस्कार के लिए किया नॉमिनेट
बीसीसीआई ने धोनी को पद्मभूषण पुरस्कार के लिए नामांकित किया

नई दिल्ली : टीम इंडिया के महान कप्तानों में शुमार और बेहतरीन विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी का नाम बीसीसीआई ने पद्मभूषण अवॉर्ड के लिए नॉमिनेट किया है. धोनी ने हाल ही में श्रीलंका के खिलाफ 300 वनडे खेलने का रिकॉर्ड बनाया था. इसी के साथ वनडे में 100 स्टंपिंग करने वाले दुनिया के इकलौते विकेट कीपर बने थे. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने दिग्गज क्रिकेट खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी के नाम की सिफारिश देश के तीसरे उच्चतम नागरिक पुरस्कार पद्म भूषण के लिए की है.बीसीसीआई के कार्यकारी अध्यक्ष सी.के. खन्ना ने आईएएनएस को इसकी जानकारी दी. 

बीसीसीआई के कार्यवाहक अध्यक्ष सीके खन्ना ने कहा, ‘‘ बोर्ड ने महेन्द्र सिंह धोनी का नाम पद्म भूषण सम्मान के लिए भेजा है. यह फैसला सदस्यों की सर्वसम्मति से हुआ. वह मौजूदा क्रिकेट के महानतम नामों में से एक है और बोर्ड के लिए सबसे उपयुक्त विकल्प.’’ धोनी भारत के इकलौते खिलाड़ी है जिनकी कप्तानी में टीम ने दो विश्व कप जीते हैं जिसमें 2007 में टी-20 विश्व कप और 2011 का एकदिवसीय विश्व कप शामिल है.

खन्ना ने कहा, ‘‘ वह एकदिवसीय में 10,000 रन के करीब है और हमारे सबसे महानतम एक दिवसीय खिलाड़ी में से एक है. इस पुरस्कार के लिये उनसे अच्छा कोई नाम नहीं हो सकता था.’’ अगर धोनी को यह खिताब मिलता है तो यह सम्मान पाने वाले वह देश के 11वें क्रिकेटर होंगे. इससे पहले सचिन तेंदुलकर, कपिल देव, सुनील गवास्कर, राहुल द्रविड़, चंदू बोर्डें, प्रो. डी.बी. देवधर, कर्नल सी.के. नायडू और लाला अमरनाथ के साथ साथ पटियाला के राजा भलिंद्रा सिंह और विजयनगर के महाराज विजय आनंद को सम्मान मिला है.

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 16 शतक (एकदिवसीय में 10 और टेस्ट में छह) और 100 अर्धशतक लगाने वाले 36 वर्षीय धोनी ने अब तक 302 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में 9737 रन बनाये है जबकि 90 टेस्ट में उनके नाम 4876 रन है. टी20 अंतरराष्ट्रीय के 78 मैचों में धोनी के बल्ले से 1212 रन निकले हैं. विकेट के पीछे भी उनका रिकॉर्ड शानदार रहा है. अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उन्होंने 584 (टेस्ट में 256, एकदिवसीय में 285 और टी-20 में 43) कैच लपकने के साथ 163 स्टंपिंग भी की है.

धोनी को पहले ही अर्जुन पुरस्कार, राजीव गांधी खेल रत्न और पद्म श्री से सम्मानित किया जा चुका है.

धोनी के नाम बतौर कप्तान ये वर्ल्ड रिकॉर्ड हैं दर्ज 
महेंद्र सिंह धोनी भारतीय क्रिकेट टीम के सबसे सफलतम कप्तान कहे जाते हैं.साल 2004 में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर क्रिकेट में पदार्पण करने वाले एमएस धोनी विश्व के इकलौते कप्तान हैं, जिन्होंने आईसीसी की तीनों ट्रॉफी-टी-20 वर्ल्ड कप, 2011 आईसीसी वर्ल्ड कप, और 2013 में चैम्पियंस ट्रॉफी जीती है.

इसके अलावा, धोनी (36) की ही कप्तानी में 2013 में भारत ने चैम्पियंस ट्रॉफी टूर्नामेंट भी जीता था और टेस्ट क्रिकेट रैंकिंग में शीर्ष स्थान हासिल किया था. अपने करियर में अब तक खेले गए 90 टेस्ट मैच में धोनी ने 4,876 रन बनाए हैं. इसमें 6 शतक और 33 अर्धशतक शामिल हैं. 

इसके अलावा, धोनी वनडे प्रारूप में भारत के सबसे अधिक रन बनाने वाले चौथे खिलाड़ी हैं. वनडे में उन्होंने 302 मैच खेलते हुए 9,739 बनाए हैं. इसमें 10 शतक और 66 अर्धशतक शामिल हैं. टी-20 प्रारूप में धोनी ने 78 मैचों में 1,212 रन बनाए हैं.

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ धोनी ने किया ऐतिहासिक कारनामा
बता दें कि महेंद्र सिंह धोनी ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले ही वनडे में चेपॉक स्टेडियम में एक ऐतिहासिक कारनामा कर दिखाया. धोनी ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले वनडे मैच में मुश्किल हालातों में बल्लेबाजी करते हुए अपने इंटरनेशनल करियर का 100वां अर्धशतक लगाया. धोनी ने पहले वनडे में 88 गेंदों पर 79 रन की पारी खेली.

धोनी ने यह पारी तब खेली, जब टीम को इसकी सख्त जरुरत थी. दरअसल, टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत ने 87 रन के कुल स्कोर पर 5 विकेट गंवा दिए थे. इसके बाद धोनी ने टीम की बागडोर संभाली और हार्दिक पांड्या के साथ छठे विकेट के लिए 118 रनों की साझेदारी करते हुए 281 रन के सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया. 

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close