आयरलैंड अपने पहले टेस्ट मैच में पाकिस्तान से हारा, 141 साल के इतिहास में ओ ब्रायन ने बनाया ये रिकॉर्ड

आयरलैंड टेस्ट क्रिकेट इतिहास में अपना पहला मैच पाकिस्तान के हाथों हार गया. इसमें सबसे खास आयरलैंड के केविन ओ ब्रायन का शतक रहा. 

आयरलैंड अपने पहले टेस्ट मैच में पाकिस्तान से हारा, 141 साल के इतिहास में ओ ब्रायन ने बनाया ये रिकॉर्ड
केविन ओ ब्रायन ने आयरलैंड के पहले टेस्ट में शतक लगाकर इतिहास रच दिया. (फोटो : Reuters)

डबलिन टेस्ट क्रिकेट इतिहास में अपना पहला टेस्ट मैच खेल रहे आयरलैंड को पाकिस्तान के हाथों हार का सामना करना पड़ा है. पाकिस्तान ने मैच के आखिरी दिन मंगलवार को मेजबान टीम को पांच विकेट से हरा दिया. आयरलैंड ने अपने पहले टेस्ट मैच के लिहाज से बेहतर प्रदर्शन किया, लेकिन उसके खिलाड़ियों का संघर्ष उसे ऐतिहासिक जीत नहीं दिला सका. 

केविन ओ ब्रायन की बेहतरीन 118 रनों का पारी के दम पर आयरलैंड ने पाकिस्तान के सामने 160 रनों का लक्ष्य रखा था. इस लक्ष्य को पाकिस्तान ने शुरुआती झटकों से उबरते हुए 45 ओवरों में पांच विकेट खोकर हासिल कर लिया. वहीं पाकिस्तान के लिए इमाम उल हक ने नाबाद 74 रनों की पारी खेली तो वहीं बाबर आजम ने 59 रन बनाए. दोनों ने चौथे विकेट के लिए 126 रनों की साझेदारी करते हुए टीम को जीत दिलाई. 

यह अहम साझेदारी तब हुई जब पाकिस्तान ने आसान से लक्ष्य का पीछा करते हुए 14 रनों पर ही अपने तीन विकेट खो दिए थे. टिम मुर्टघ ने अजहर अली (2) को दो के कुल स्कोर पर पवेलियन भेज दिया था. बॉयड रैंकिन ने 13 के कुल स्कोर पर हारिश सोहेल (7) को एड जोएस के हाथों कैच करा पाकिस्तान को दूसरा झटका दिया. एक रन बाद टिन ने असत शफीक (1) को पवेलियन भेज पाकिस्तान की मुसीबतों को बढ़ा दिया. यहां से इमाम उल हक और आजम ने टीम की बिखरती पारी को संभाला और उसे जीत के मुहाने पर पहुंचा दिया. 

140 के कुल स्कोर पर आजम रन आउट हो गए. उन्होंने अपनी पारी में 114 गेंदों का सामना किया और आठ चौके लगाए. कप्तान सरफराज अहमद आठ रनों का योगदान दे सके और 152 के कुल स्कोर पर पवेलियन में बैठ गए. इसके बाद शादाब खान (4) ने इमाम उल हक के साथ मिलकर टीम को जीत दिलाई. इमाम उल हक 121 गेंदों में आठ चौंकों की मदद से 74 रनों पर नाबाद लौटे. 

इससे पहले, आयरलैंड ने दिन की शुरुआत सात विकेट के नुकसान पर 319 रनों के साथ की थी. टीम के खाते में दो रन ही जुड़े थे कि केविन को मोहम्मद अब्बास ने पवेलियन भेज दिया. रैंकिन 332 के कुल स्कोर पर अब्बास का शिकार बने. टायरोन कीन (14) के रूप में आयरलैंड ने अपना आखिरी विकेट खोया. 

पाकिस्तान ने अपनी पहली पारी नौ विकेट के नुकसान पर 310 रनों पर घोषित कर दी थी. इसके बाद उसके गेंदबाजों ने आयरलैंड को 130 रनों पर ही ढेर कर दिया था और फॉलोऑन खेलने के लिए आयरलैंड को आमंत्रित किया था. आयरलैंड ने अपनी दूसरी पारी में केविन के शतक और स्टुअर्ट थॉम्पसन के 53 रनों की मदद से 339 रन बनाए थे. 

बेंगलुरू में लगाया गया शतक अभी तक खास
आयरलैंड के पहले टेस्ट में शतक लगा कर इतिहास में अपना नाम दर्ज करने वाले केविन ओ ब्रायन का मानना है कि 2011 विश्व कप में इंग्लैंड के खिलाफ लगाया शतक उनके करियर में पहला स्थान रखता है. केविन ने यहां द विलेज, मालहिदे मैदान पर पाकिस्तान के खिलाफ खेले जा रहे पहले टेस्ट में शतक लगाकर आयरलैंड को बढ़त दिलाई और उसे आखिरी दिन तक मैच में बनाए रखा. 

यह रिकॉर्ड बनाया ओ ब्रायन ने
वह अपने देश के लिए पहला टेस्ट शतक लगाने वाले बल्लेबाज बन गए हैं साथ ही ऐसे चौथे बल्लेबाज हैं जिन्होंने अपने देश के पहले टेस्ट मैच में शतक जमाया हो. उन्होंने हालांकि इसे बेहद भावुक पल बताया लेकिन कहा कि यह शतक उनके करियर में अभी दूसरे स्थान पर है. उनकी सूची में भारत में खेले गए विश्व कप में इंग्लैंड के खिलाफ लगाया गया 50 गेंदों में शतक अभी भी पहले स्थान पर है. 

वेबसाइट ईएसपीएनक्रिकइंफो ने केविन के हवाले से लिखा है, "मेरे लिए बेंगलुरू में लगाया गया शतक अभी तक नंबर-1 स्थान पर है. वो इसलिए कि वो शतक मैंने कहां और किस के खिलाफ मारा था. वह विश्व कप था." इस शतक के बाद उनका नाम स्टेडियम में एक बोर्ड पर दर्ज हो गया है. केविन ने कहा, "यह मेरे लिए बेहद गर्व और भावुक पल है. मैं जानता हूं कि मेरे पैर में चोट लग गई थी, लेकिन दर्शक पागल हो गए थे. 
(इनपुट आईएएनएस)

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close