कागिसो रबाडा ने शिखर धवन को कहा 'बाय बाय' तो चुकानी पड़ी बड़ी कीमत

शिखर धवन को आउट करने के बाद रबाडा ने उन्हें मैदान से बाहर जाने का इशारा किया था.

कागिसो रबाडा ने शिखर धवन को कहा 'बाय बाय' तो चुकानी पड़ी बड़ी कीमत
कागिसो रबाडा की गेंद पर शिखर धवन आउट हुए (PIC : ICC)

नई दिल्ली: भारत ने अपने बेहतरीन हरनफनमौला खेल से मंगलवार देर रात सेंट जॉर्ज पार्क मैदान पर खेले गए पांचवें वनडे मैच में मेजबान दक्षिण अफ्रीका को 73 रनों से हरा कर इतिहास रच दिया. इसी के साथ भारत ने छह वनडे मैचों की सीरीज 4-1 से अपने नाम करते हुए दक्षिण अफ्रीका में पहली सीरीज जीतने का इतिहास रचा. भारत ने इससे पहले कभी भी दक्षिण अफ्रीका में वनडे सीरीज नहीं जीती थी. भारत की इस जीत के हीरो शतक बनाने वाले सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा (115) और चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव रहे. कुलदीप ने चार विकेट लेकर अपनी टीम को ऐतिहासिक जीत दिलाई. 

भारत ने दक्षिण अफ्रीका द्वारा बल्लेबाजी का आमंत्रण मिलने पर मेजबान टीम के सामने 275 रनों का लक्ष्य रखा था. दक्षिण अफ्रीका इस लक्ष्य को हासिल नहीं कर पाई और 42.2 ओवरों में 201 रनों पर ही ढेर हो गई. 

शिखर धवन को रबाडा ने किया मैदान से जाने का इशारा, फैन्स बोले- तुम तो सीरीज से ही बाहर हो गए

मैच के दौरान कागिसो रबाडा की एक हरकत का उन्हें बड़ा खामियाजा उठाना पड़ा है. दरअसल, मैच के दौरान शिखर धवन को आउट करने के बाद उन्हें मैदान से बाहर जाने का इशारा करने के लिए रबाडा की मैच फीस का 15 प्रतिशत जुर्माने के तौर पर काट लिया गया है. इसके साथ ही उन्हें डिमेरिट अंक भी दिए गए हैं. 

बता दें कि मैच के 7.2 ओवर में कागिसो रबाडा की गेंद पर शिखर धवन एंडिले फेहुलकवायो के हाथों कैच हुए. आउट होने के बाद जब धवन पवेलियन लौटने लगे तो रबाडा ने उन्हें ‘बाय-बाय’ का इशारा किया था. उनकी इसी हरकत पर आईसीसी ने जुर्माना लिया है. 

रबाडा पर ग्राउंड अंपायर इयान गाउल्ड, शॉन जॉर्ज और तीसरे अंपायर अलीम दार के अलावा चौथे अंपायर बोंगनी जेले ने अनुच्छेद 2.1.7 के उल्लंघन का आरोप लगाया है. मैच के बाद रबाडा ने अपन गलती को मानते हुए आईसीसी मैच रेफरी एंडी पायक्रॉफ्ट द्वारा दी गई सजा को कबूल कर लिया. इसी कारण किसी भी आधिकारिक सुनवाई की जरूरत नहीं पड़ी.

 

रबाडा इंग्लैंड के खिलाफ 2017 के मध्य में पहले ही एक टेस्ट मैच के लिए सस्पेंड हो चुके हैं, क्योंकि उनके खाते में चार डीमेरिट अंक जुड़ चुके थे. इनमें से पहले 3 डीमेरिट अंक तो उन्हें 8 फरवरी 2017 में श्रीलंका के खिलाफ वनडे सीरीज में मिल चुके थे.  

अगर रबाडा फरवरी 2019 के दूसरे हफ्ते से पहले 8 डीमेरिट अंक तक पहुंच जाते हैं तो उन्हें बड़ी पेनल्टी चुकानी पड़ सकती है, जो दो टेस्ट का प्रतिबंध, या एक टेस्ट और दो वनडे/टी-20, या चार वनडे/टी-20 से बाहर हो सकते हैं. इनमें से जिस भी फॉर्मेट के मैच पहले आएंगे, वही अप्लाई होंगे. 

बता दें कि हर डीमेरिट प्वाइंट 24 माह की अवधि तक खिलाड़ी के खाते में रहता है. चार डीमेरिट प्वाइंट खाते में आने पर खिलाड़ी को पहला सस्पेंशन मिलता है और 8 डीमेरिट प्वाइंट होने पर लंबा सस्पेंशन झेलना पड़ता है. 

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close