गांगुली बोले, T-20 में धोनी का नहीं खास रिकॉर्ड, सफल होना है तो ये करें

गांगुली का कहना है कि अगर धोनी को टी-20 प्रारूप में सफलता हासिल करनी है, तो उन्हें अपनी बल्लेबाजी के तरीके में बदलाव करना होगा.

ज़ी न्यूज़ डेस्क | Updated: Nov 14, 2017, 04:11 PM IST
गांगुली बोले, T-20 में धोनी का नहीं खास रिकॉर्ड, सफल होना है तो ये करें
सौरव गांगुली ने कहा कि वह वनडे क्रिकेट में बेजोड़ हैं. फाइल फोटो

कोलकाता : टी-20 प्रारूप में अपने प्रदर्शन के लिए आलोचनाओं का सामना कर रहे दिग्गज खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी को पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने बल्लेबाजी शैली में बदलाव का सुझाव दिया है. गांगुली का कहना है कि अगर धोनी को टी-20 प्रारूप में सफलता हासिल करनी है, तो उन्हें अपनी बल्लेबाजी के तरीके में बदलाव करना होगा. जहां एक ओर धोनी को टी-20 प्रारूप छोड़ने के लिए कहा जा रहा है, वहीं इन बातों से नाखुश कप्तान विराट कोहली और मुख्य कोच रवि शास्त्री के बाद अब गांगुली पूर्व कप्तान धोनी के समर्थन में उतरे हैं.

गांगुली ने कहा, "वनडे की तुलना में टी-20 प्रारूप में धोनी का रिकॉर्ड कुछ खास नहीं है. मुझे आशा है कि इस बारे में कोहली और उनकी टीम धोनी से अलग से बात करेगी. उनमें अतुलनीय क्षमता है. अगर वह अलग तरीके से टी-20 में खेलते हैं, तो उन्हें निश्चित तौर पर सफलता हासिल होगी."

इस पत्रकार ने उड़ाया सचिन का मजाक, फैंस ने लगाई क्लास

पूर्व कप्तान गांगुली ने कहा, "मुझे लगता है कि उन्हें वनडे क्रिकेट खेलते रहना चाहिए, लेकिन टी-20 प्रारूप में उन्हें अलग तरीके से खेलना चाहिए. उन्हें बिना किसी दबाव के इस प्रारूप में अपना प्रदर्शन करना चाहिए. हालांकि, यह चयनकर्ताओं पर भी निर्भर है कि वह किस तरह से धोनी को खिलाना चाहते हैं."

राजकोट में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेले गए टी-20 मैच में भारतीय टीम को 40 रनों से मिली हार के बाद भारतीय टीम में धोनी के शामिल होने पर सवाल खड़े होने लगे थे. दिग्गज खिलाड़ी वीवीएस लक्ष्मण ने धोनी की स्ट्राइक रेट और बड़े शॉट पर सवालिया निशान खड़े किए थे.

मॉडल का रोनाल्डो पर सनसनीखेज आरोप, कहा- उसने मुझे सेक्स के लिए यूज किया

इन सभी सवालों पर काफी समय तक चुप्पी साधे हुए धोनी ने दुबई में शनिवार को एक समारोह में मुस्कराते हुए कहा, "अपने जीवन में हर किसी के अपने विचार होते हैं और उनका सम्मान करना चाहिए. मैंने हमेशा से समझा है कि खेल में आप हमेशा कुछ न कुछ सीखते हैं."