विराट कोहली ने की मामला शांत करने की कोशिश, ‘सभी को अपनी पसंद की आजादी’

अपने देश छोड़ने वाले बयान पर ट्रोल हुए विराट ने मामला शांत करने की कोशिश की है.

विराट कोहली ने की मामला शांत करने की कोशिश, ‘सभी को अपनी पसंद की आजादी’

नई दिल्ली: टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली की मैदान पर आक्रमकता किसी भी छिपी नहीं है. जब ट्विटर उन्होंने अपनी आक्रमकता दिखाई तो वे ट्रोल हुए. उन्होंने डैमेज कंट्रोल कवायद के तौर पर सफाई दी है. देश छोड़ने वाले बयान को लेकर प्रशंसकों के निशाने पर आने के बाद विराटने अब मुद्दे को शांत करने का प्रयास करते हुए कहा है कि सभी को अपने पसंद की आजादी है.

कोहली सोशल मीडिया पर उस समय प्रशंसकों के निशाने पर आ गए थे जब उन्होंने एक फैन से कहा था कि यदि वे भारतीय क्रिकेटरों को खेलते देखना पसंद नहीं करते हैं तो उन्हें देश छोड़ देना चाहिए. लेकिन अब विवाद को बढ़ता देख उन्होंने इस मामले पर अपनी चुप्पी तोड़ते हुए इस पर सफाई दी है. विराट ने अपनी सफाई में कहा कि यह सभी के लिए नहीं था. उन्होंने यह भी जाहिर किया कि उन्हें खुद के ट्रोल होने पर भी एतराज नहीं है. 

 यह कहा विराट ने मामला शांत करने के लिए
कोहली ने गुरुवार को ट्वीट कर कहा, "मुझे लगता है कि ट्रोलिंग करना मेरे लिए नहीं है दोस्तों, मैं खुद ट्रोल होने से ही संतुष्ट हूं. मैंने सिर्फ ये बताने की कोशिश की थी कि कैसे 'इन भारतीयों' को उस कमेंट में लिखा गया था और कुछ नहीं. मैं भी पसंद की आजादी के पक्ष में हूं. दोस्तों त्योहार का आनंद लो और शांत रहें. सबको प्यार." 

Virat kohli on his trolling

कोहली ने सोमवार को अपने 30वें जन्मदिन पर 'विराट कोहली ऑफिसियल ऐप' लांच किया था. इस दौरान एक फैन ने उनसे बातचीत में भारतीय टीम के बजाय इंग्लैंड और आस्ट्रेलिया टीम को महत्व दिया था. हैदराबाद में  सीओए के साथ बैठक के दौरान कोहली ने तेज गेंदबाजों विशेषकर जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर कुमार को पूरे आईपीएल से विश्राम देने का सुझाव दिया ताकि वे 2019 में इंग्लैंड में होने वाले वर्ल्ड कप के लिए तरोताजा रहें.  

फैन ने लिखा, "वह (विराट) एक क्षमता से बढ़ाकर आंका गया बल्लेबाज (ओवर रेटेड बैट्समैन) हैं. मुझे उनकी बल्लेबाजी में कुछ भी खास नहीं दिखता. मैं इन भारतीयों की तुलना में इंग्लैंड और आस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों को देखना पसंद करता हूं." 

कोहली ने कहा था कि वह आलोचनाओं से निजी तौर पर प्रभावित नहीं होते हैं. लेकिन भारत में रहते हुए यदि कोई भारतीय खिलाड़ियों को पसंद नहीं करता है तो उन्हें देश में नहीं रहना चाहिए.

उन्होंने कहा, "मुझे नहीं लगा कि तुम्हें भारत में रहना चाहिए. जाइए और कहीं जाकर रहिए. आप क्यों इस देश में रह रहे हैं और दूसरे देशों को पसंद कर रहे हैं? मुझे इस पर कोई ऐतराज नहीं है कि तुम्हें मेरा खेल पसंद नहीं है लेकिन मुझे नहीं लगता कि तुम्हें इस देश में रहकर दूसरी चीजों को पसंद करना चाहिए. अपनी प्राथमिकताओं को सही करिए." 

मशहूर कमेंटेटर हर्षा भोगले ने इस पर लिखा कि कोहली एक सुविधाजनक आवरण में रह रहे हैं. उन्होंने ट्वीट किया ,‘‘ विराट कोहली का बयान बताता है कि वह उसी सुविधाजनक खोल में रह रहे हैं जिसमें अधिकांश मशहूर लोग चले जाते हैं या जाने पर मजबूर हो जाते हैं . उसमें वही आवाज जाती है जो वे सुनना चाहते हैं . यह सुविधाजनक आवरण है और यही वजह है कि अधिकांश मशहूर लोग जाने से बचना चाहते हैं .’’ 

Harsha bhogle tweet

कोहली वेस्टइंडीज के खिलाफ पांच मैचों की वनडे सीरीज में सचिन तेंदुलकर को पीछे छोड़ते हुए सबसे तेजी से 10 हजार रन बनाने वाले बल्लेबाज बने थे. 

(इनपुट आईएएनएस / भाषा)

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close