VIDEO : लक्ष्मण की इस पारी ने उन्हें बनाया 'वेरी वेरी स्पेशल', रोका था कंगारुओं का रथ

वीवीएस लक्ष्मण और राहुल द्रविड़ की उन पारियों की बदौलत टीम इंडिया ने कंगारू टीम को 16 टेस्ट के बाद पहली बार हार का स्वाद चखाया था.

VIDEO : लक्ष्मण की इस पारी ने उन्हें बनाया 'वेरी वेरी स्पेशल', रोका था कंगारुओं का रथ
लक्ष्मण और राहुल द्रविड़ ने 335 रनों की साझेदारी की. फाइल फोटो

नई दिल्ली : 2001 में स्टीव वॉ के नेतृत्व में ऑस्ट्रेलियाई टीम अपने उफान पर थी. दुनिया में कई टीमें तो उनका सामने करते हुए कांपती थीं. भारत आने से पहले ऑस्ट्रेलिया ने लाइन से 15 टेस्ट जीत लिए थे. किसी भी टीम को उन्होंने एक मैच ड्रॉ कराने का मौका भी नहीं दिया था. भारत आकर उन्होंने पहले टेस्ट में टीम इंडिया को आसानी से हरा दिया. अब ऑस्ट्रेलियाई टीम 16  टेस्ट जीत चुकी थी. दूसरे टेस्ट में भी स्टीव वॉ की टीम जीत के अलावा कुछ नहीं चाह रही थी. उसने पहली पारी में 445 रनों का विशाल स्कोर खड़ा कर दिया था.

टीम इंडिया की पहली पारी शुरू होते ही खत्म हो गई. पूरी टीम 58.1 ओवर में 171 रन बनाकर ढह गई. पहली पारी में छठे नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे सिर्फ लक्ष्मण 59 रन बना सके. टीम इंडिया को फॉलोऑन खेलना पड़ा. दूसरी पारी में भी टीम इंडिया के 2 विकेट जल्दी गिर गए. हार सामने दिख रही थी. लेकिन पहली पारी में 59 रन बनाकर अपने बल्ले की चमक दिखाने वाले लक्ष्मण को देखकर टीम के कप्तान गांगुली समझ चुके थे कि ये मैच केवल लक्ष्मण बचा सकते हैं.

धोनी अपने परिवार के साथ ऐसे मना रहे हैं छुट्टियां, शेयर किया ये प्यारा VIDEO

उन्होंने उन्हें तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए भेज दिया. मैच के चौथे दिन यानी 14 मार्च 2001 को वीवीएस लक्ष्मण और राहुल द्रविड़ ने ऐसी बल्लेबाजी की, जिसने क्रिकेट इतिहास में हमेशा के लिए इस तारीख का अमर कर दिया. वीवीएस लक्ष्मण और राहुल द्रविड़ ने दिन भर बल्लेबाजी की और 335 रन जोड़े. टेस्ट में तब भारत की ओर से सबसे बड़ा व्यक्तिगत स्कोर 236 सुनील गावसकर के नाम था. लक्ष्मण उससे भी आगे निकल गए.

विजडन ने लक्ष्मण की पारी छठी और एक मैगजीन ने इस सर्वश्रेष्ठ पारी बताया
विजडन ने लक्ष्मण की इस पारी को टेस्‍ट की छठी बेहतरीन पारी माना. अंत में मैच के पांचवे दिन लक्ष्मण 281 रन बनाकर आउट हुए. लक्ष्मण ने राहुल द्रविड़ के साथ 376 रनों की रिकॉर्ड साझेदारी की. इस मैच में टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया हलक से जीत छीन ली. ये जीत भारतीय क्रिकेट के लिए एक किवदंती बन चुकी है. तब ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान इयान चैपल ने वीवीएस लक्ष्मण को नया नाम दिया-वेरी-वेरी स्पेशल लक्ष्मण.