बैटिंग से पहले बेचैन थे हनुमा विहारी, लेकिन कोच शास्त्री नहीं, इस गुरु से लिया 'मंत्र'

इंग्लैंड में वन-डे और टेस्ट सीरीज में हार के साथ ही टीम इंडिया के हेड कोच रवि शास्त्री की कोचिंग पर भी सवाल उठने लगे हैं.

बैटिंग से पहले बेचैन थे हनुमा विहारी, लेकिन कोच शास्त्री नहीं, इस गुरु से लिया 'मंत्र'
हनुमा विहारी ने अपने डेब्यू टेस्ट में अर्धशतक जड़ा (PIC : PTI)
Play

लंदन: भारत के लिए अपने पदार्पण मैच में अर्धशतक लगाने वाले आंध्र प्रदेश के बल्लेबाज हनुमा विहारी ने अपने इस प्रदर्शन का श्रेय पूर्व भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी राहुल द्रविड़ को दिया. टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण से पहले काफी बेचैन रहे हनुमा विहारी ने कहा कि राहुल द्रविड़ से फोन पर बात करके उन्हें राहत मिली और वह इंग्लैंड के खिलाफ अर्धशतक बनाकर भारत को संकट से निकाल सके. हनुमा विहारी ने 56 रन बनाए और रविंद्र जडेजा (नाबाद 86) के साथ 77 रन की साझेदारी की. भारत ने पहली पारी में 292 रन बनाए जबकि इंग्लैंड ने टेस्ट मैच के तीसरे दिन 154 रन की बढ़त हासिल थी. 

हनुमा विहारी ने कहा, ''मैंने टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण से पहले उनसे बात की. उन्होंने कुछ मिनट मुझसे बात की जिससे मेरी बेचैनी मिट गई. वह महान क्रिकेटर हैं और बल्लेबाजी में उनकी सलाह से मुझे काफी मदद मिली.''

'राहुल द्रविड़ ने मुझे बेहतर खिलाड़ी बनाया'
उन्होंने कहा, ''उन्होंने मुझसे कहा कि तुम्हारे पास काबिलियत है, मानसिक दृढ़ता है और जज्बा है. सिर्फ मैदान पर जाकर इसका इस्तेमाल करना है. मैं उन्हें इसका श्रेय देना चाहूंगा क्योंकि भारत ए के साथ मेरा सफर काफी अहम था. उनकी मदद से मैं बेहतर खिलाड़ी बन सका.''  

एंडरसन और ब्रॉड को खेलते हुए नर्वस थे हनुमा
हनुमा विहारी ने कहा कि जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड को खेलते हुए वह नर्वस थे. उन्होंने कहा , ''शुरुआत में मुझे दबाव महसूस हुआ लेकिन एक बार जमने के बाद मैं नर्वस नहीं था. वे विश्व स्तरीय गेंदबाज हैं और मिलकर 990 विकेट ले चुके हैं. मैं सकारात्मक सोच के साथ खेलना चाहता था. खासकर जब विराट कोहली क्रीज पर होते हैं तो सिर्फ स्ट्राइक रोटेट करके साझेदारी बनानी होती है.''

विराट की वजह से आसान हुई बल्लेबाजी
उन्होंने कप्तान विराट कोहली की तारीफ करते हुए कहा, ''दूसरे छोर पर विराट के होने से मेरा काम आसान हो गया. उनकी सलाह से मुझे काफी मदद मिली. मैं उन्हें इसका श्रेय देना चाहूंगा.'' 

Rahul Dravid

हनुमा बने 292वें भारतीय टेस्ट खिलाड़ी
इंग्लैंड के खिलाफ ओवल मैदान पर खेले जा रहे पांचवें और आखिरी टेस्ट मैच के लिए प्लेइंग में शामिल किए गए मध्यक्रम बल्लेबाज हनुमा विहारी भारत के 292वें टेस्ट खिलाड़ी बन गए हैं। आंध्र प्रदेश के रहने वाले हनुमा को कप्तान विराट कोहली ने मैच शुरू होने से पहले कैप सौंपकर भारतीय टीम में स्वागत किया। हनुमा को हरफनमौला खिलाड़ी हार्दिक पांड्या के स्थान पर टीम में शामिल किया गया है। 19 साल बाद आंध्र का कोई खिलाड़ी भारतीय टेस्ट टीम में पदार्पण कर रहा है। हनुमा से पहले आंध्र के एमएसके प्रसाद ने भारतीय टेस्ट टीम में पदार्पण किया था। प्रसाद इस समय राष्ट्रीय चयनकर्ता प्रमुख हैं. 

डेब्यू टेस्ट में अर्धशतकीय पारी खेल बनाया रिकॉर्ड
पदार्पण मैच में हनुमा विहारी (56) ने इंटरनेशनल करियर का पहला अर्धशतक जड़ा. हनुमा विहारी ने 124 गेंदों की पारी में सात चौके और एक छक्का लगाया. हनुमा का साथ रविंद्र जडेजा ने भी दिया. विहारी और जडेजा की इस अर्धशतकीय साझेदारी की बदौलत भारत वापस मैच में लौट आया था. हनुमा विहारी डेब्यू इनिंग में अर्धशतक लगाने वाले 26वें भारतीय बने. इससे पहले हार्दिक पांड्या ने जुलाई 2017 में श्रीलंका के गाले में अपने डेब्यू पारी में अर्धशतक लगाया था. 

गांगुली और द्रविड़ के रिकॉर्ड की बराबरी
हनुमा विहारी भारत के चौथे ऐसे खिलाड़ी बन गए हैं, जिन्होंने इंग्लैंड की सरजमीं पर डेब्यू मैच में ही अर्धशतक जड़ा हो. इससे पहले साल 1996 में राहुल द्रविड़ और सौरव गांगुली ने इंग्लैंड में अपने करियर की शुरुआत करते हुए अर्धशतक जड़ा था. 

Hanuma Vihari

रवि शास्त्री की कोचिंग पर उठने लगे हैं सवाल
बता दें कि इंग्लैंड में वन-डे और टेस्ट सीरीज में हार के साथ ही टीम इंडिया के हेड कोच रवि शास्त्री की कोचिंग पर भी सवाल उठने लगे हैं. सीरीज हार के बाद भी रवि शास्त्री ने जोर देते हुए कहा था कि मौजूद टीम का रिकॉर्ड पिछले 15-20 वर्षों वाली टीमों की तुलना में काफी बेहतर है. शास्त्री के इस बयान पर कई दिग्गजों ने उन्हें आईना दिखाते हुए पुराने आंकड़ों दिखाए थे. दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड में लगातार दो सीरीज गंवाने के बाद विदेशी दौरे पर अच्छा प्रदर्शन करने वाली टीम का मिथक टूट गया है और टीम इंडिया यह साबित करने में नाकाम रही है कि वे उपमहाद्वीप के बाहर सीरीज जीतने में सक्षम हैं.

(भाषा इनपुट के साथ)

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close