जज्बात और जुनून उम्र के इस पड़ाव में भी जारी,102 साल की मन कौर ने दौड़ में जीता गोल्ड

ढलती उम्र के साथ हीं बुजुर्ग जहां पार्क में टहलते नजर आते हैं, वहीं भारत की महिला 102 साल की उम्र में भी अब तक नहीं थकी हैं. 

जज्बात और जुनून उम्र के इस पड़ाव में भी जारी,102 साल की मन कौर ने दौड़ में जीता गोल्ड
फोटो साभार :@alwaystheself
Play

नई दिल्ली : ढलती उम्र के साथ बुजुर्ग जहां एक ओर पार्क में टहलते नजर आते हैं, वहीं, भारत में 102 साल की उम्र में भी यह महिला अब तक नहीं थकी हैं. पंजाब की 102 साल की मन कौर का इस उम्र में भी मेडल और अवॉर्ड पाने का सिलसिला जारी है. एथलीट मन कौर ने वर्ल्ड एथलीट चैंपियनशिप के 200 मीटर की प्रतियोगिता में गोल्ड जीता हैं. उन्होंने यह गोल्ड  स्पेन में आयोजित वर्ल्ड मास्टर्स एथलीट चैंपियनशिप में पाया. उनकी इस जीत के बाद टि्वटर पर जमकर तारीफ हो रही है.

मन कौर ने 3 मिनट 14 सेकेंड में इस रेस को पूरा किया. मॉडल, एक्टर और एथलीट मिलिंद सोमन ने भी उनकी इस कामयाबी पर उनके लिए एक खास ट्वीट किया. 

सोशल मीडिया पर लोग मन कौर के इस हौसले और जज्बे की जमकर तारीफ कर रहे हैं.

 

वर्ल्ड मास्टर्स गेम में भी पाया था शीर्ष स्थान
पिछले साल न्यूजीलैंड के ऑकलैंड में वर्ल्ड मास्टर्स गेम के दौरान वे 100 मीटर की दौड़ में शीर्ष स्थान पर रही थी. उनका गोल्ड पाने का सिलसिला अब तक नहीं रुका हैं.

पंजाब के पटियाला की रहने वाली मन कौर ने एथलीट प्रतियोगिताओ में भाग लेने का सफर 93 साल की उम्र से शुरू हुआ, जो अब तक जारी हैं. कौर अपने दिन की शुरुआत 4 बजे सुबह से करती हैं, जिसमें वो लगातार दौड़ और पैदल चाल का अभ्यास भी करती हैं. इसके अलावा वह आज भी 20 किलोमीटर की दौड़ लगाती हैं. मन कौर ने इस बार 100 -104 उम्र की स्पर्धा में 200 मीटर की दौड़ में शीर्ष स्थान पाया. यह प्रतियोगिता वृद्ध व्यक्तियों के लिए होती है.

इसे भी पढ़ें: भारत की गोल्ड मेडलिस्ट 101 साल की मन कौर को चीन ने नहीं दिया वीजा

मन कौर के 78 वर्षीय बेटे गुरु देव ने इसके लिए हमेशा उन्हें प्रोत्साहित किया और हमेशा साथ भी दिया. गुरु देव खुद भी सीनियर सिटीजन के लिए आयोजित होने वाले विभिन्न वर्ल्ड मास्टर्स गेम की स्पर्धाओं में भाग लेते हैं.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close