फीफा यू-17 विश्व कप : भारत को आखिरी मैच में मिली हार, घाना अगले दौर में

मेजबान भारत का फीफा अंडर-17 विश्व कप में सफर गुरुवार को हार के साथ ही खत्म हो गया.  

फीफा यू-17 विश्व कप : भारत को आखिरी मैच में मिली हार, घाना अगले दौर में
घाना ने भारत को 4-0 से मात दी...(फोटो साभार: ट्विटर)

नई दिल्ली: मेजबान भारत का फीफा अंडर-17 विश्व कप में सफर गुरुवार को हार के साथ ही खत्म हो गया. घाना ने उसे जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में खेले गए ग्रुप-ए के मैच में 4-0 से मात दी. भारत का यह इस विश्व कप में आखिरी मैच था. इससे पहले उसे अमेरिका और कोलंबिया के हाथों हार मिली थी. मेजबान देश अपने ग्रुप में सबसे नीचे चौथे स्थान पर रहा. घाना ने पहले हाफ में एक गोल किया जबकि दूसरे हाफ में तीन गोल मारे. उसके लिए एरिक अयिहा ने 43वें और 52वें मिनट में दो गोल किए. उनके अलावा 86वें मिनट में रिचर्ड डॉनसो ने और 87वें मिनट में इम्मेनुएल टुकु ने गोल किया. इसी के साथ घाना ने ग्रुप दौर का अंत शीर्ष स्थान पर रहते हुए नॉकआउट दौर में प्रवेश कर लिया है. 

भारत ने पहले हाफ में अपनी विपक्षी टीम को कुछ टक्कर जरूर दी, लेकिन दूसरे हाफ में वह पूरी तरह से मेहमानों के दबाव में दिखी. शुरुआत में बराबरी का खेल देखा गया हालांकि मैच के छठे मिनट में भारतीय रक्षापंक्ति की लापरवाही का फायदा उठाते हुए घाना ने गोल मार दिया था, लेकिन अयिहा का यह गोल ऑफ साइड करार दे दिया गया. पहले हाफ में घाना एक तरह से भारत पर हावी रही, लेकिन मेजबान रक्षापंक्ति ने उसे किसी तरह से रोके रखा. उसने घाना को अपने घेरे में काफी दफा गोल करने से रोका. हालांकि उसकी लाख कोशिशों के बाद भी 43वें मिनट में मेहमान टीम गोल कर गई.

FIFA U17: पिता ने खेल छोड़ने को कहा तो दो दिन तक भूखे रहे थे जैक्सन

पहले हाफ के अंतिम मिनटों में घाना ने गजब की आक्रामकता दिखाई और भारतीय खेमे में ही बनी रही. घाना के स्टार सादिक इब्राहिम ने दाएं छोर से भारत के डिफेंडर स्टालिन को छकाया और गोलपोस्ट की तरफ जमीन से छूती हुई किक लगाई, लेकिन भारतीय गोलकीपर धीरज ने दाईं तरफ डाइव मारते हुए उसे रोका, हालांकि वहीं खड़े अयिहा ने तुरंत काउंटर करते हुए गेंद को नेट में डाला और घाना को 1-0 से आगे कर दिया. 

FIFA U17 World Cup 2017: मिलिए जैक्‍सन सिंह से, जिन्‍होंने 'फीफा' में पहले गोल से रचा इतिहास

पहसे हाफ में भारतीय टीम गेंद को अपने पास ज्यादा देर रख नहीं सकी. साथ ही वह मिले मौकों को अंजाम तक भी नहीं पहुंचा सकी. दूसरे हाफ में घाना और मजबूती के साथ खेल रही थी जिसका उसे तुरंत फायदा हुआ. दूसरे हाफ में सात मिनट का ही खेल हुआ था कि अयिहा ने अपने और टीम के खाते में एक और गोल डाल दिया. अर्को मेनशाह ने क्रॉस पास खेला जिसे जितेंद्र ने रोक दिया, गेंद मेनशाह के पास दोबारा गई और इस बार उन्होंने अयिहा को गेंद दी. अयिहा ने तेज तर्रार किक मारते हुए गेंद को गोलपोस्ट में डाल दिया. 

FIFA U-17 : गोलकीपर धीरज के पिता ने कहा, हम नहीं चाहते थे कि बेटा फुटबॉल खेले

भारतीय गोलकीपर धीरज ने हालांकि 62वें मिनट में शानदार बचाव करते हुए घाना को तीसरा गोल करने से रोक दिया. पहले हाफ की अपेक्षा दूसरे हाफ में भारत की आक्रमण पंक्ति कमजोर लग रही थी. मेजबान टीम के खिलाड़ी या तो गेंद पर नियंत्रण खो बैठे या फिर सीधे गोलकीपर के हाथों में खेल दिया. ऐसा ही एक मौका 78वें मिनट में अनिकेत जाधव की जगह मैदान पर लालेंग्मवाई ने 83वें ने बनाया. घाना के बॉक्स एरिया के बाहर से उन्होंने शानदार किक लगाई, लेकिन दुर्भाग्यवश वो सीधी गोलकीपर इब्राहिम डानल्ड के हाथों में गई. तीन मिनट बाद अयिहा की जगह मैदान पर आए डानसो ने घाना को 3-0 से आगे कर दिया. अगले ही मिनट इब्राहिम ने गोलपोस्ट पर निशाना लगाया, लेकिन गेंद पोल से टकरा कर वापस आ गई. वहीं खड़े टुकु ने तुरंत पलटवार करते हुए घाना के लिए चौथा गोल मारा. इस हार के साथ ही भारत नॉकआउट दौर की दौड़ से बाहर हो गया है. 

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close