कोहली ने कहा, जीत की स्थिति में पहुंच गई थी मेरी टीम लेकिन...

Last Updated: Monday, March 20, 2017 - 20:13
 कोहली ने कहा, जीत की स्थिति में पहुंच गई थी मेरी टीम लेकिन...
विराट कोहली ने चेतेश्वर पुजारा और ऋधिमान साहा के बीच रिकॉर्ड 199 रन की साझेदारी की तारीफ की

रांची: भारतीय कप्तान विराट कोहली ने आज चेतेश्वर पुजारा और ऋधिमान साहा के बीच रिकॉर्ड 199 रन की साझेदारी की तारीफ करते हुए कहा कि उन्होंने कभी ऐसी साझेदारी नहीं देखी. पुजारा (202) और साहा (117) ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे क्रिकेट टेस्ट में भारत को नौ विकेट पर 603 रन तक ले गए. मैच आज ड्रॉ पर समाप्त हुआ. 

पुजारा और साहा की साझेदारी बेहतरीन
कोहली ने मैच के बाद पुरस्कार वितरण समारोह में कहा, ‘केएल राहुल (67) और मुरली विजय (82) ने उम्दा बल्लेबाजी की लेकिन पुजारा और साहा की साझेदारी बेहतरीन रही.’ उन्होंने कहा, ‘हमें लगा नहीं था कि हम 150 रन की बढत बना लेंगे. कल दो विकेट गिरे और हमें लगा कि जीत सकते हैं लेकिन ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों पीटर हैंडस्कांब और शान मार्श को श्रेय देना होगा जिन्होंने 124 रन की साझेदारी की. यह भी पढ़ें- रांची टेस्ट में टीम इंडिया ने की ऐसी बल्लेबाजी, टूटा 32 साल पुराना रिकॉर्ड

जीत की स्थिति में पहुंच गई थी टीम 
कोहली ने कहा कि उनकी टीम जीत की स्थिति में पहुंच गई थी. उन्होंने कहा, ‘हम अच्छी स्थिति में थे. टॉस हारना कठिन रहा. मैं चोट के कारण फील्डिंग नहीं कर सका जो मेरे लिए आसान नहीं था. इसके बाद हालांकि हमने अच्छी बल्लेबाजी की.’ उन्होंने पुजारा और साहा की तारीफ करते हुए कहा, ‘ जब आप सिर्फ एक प्रारूप खेलते हैं तो अपनी उपयोगिता साबित करने के लिए अतिरिक्त प्रयास करते हैं. पुजारा का टेस्ट बल्लेबाजी में कोई जवाब नहीं. यह उसकी सर्वश्रेष्ठ पारी रही.’ उन्होंने कहा, ‘साहा ने वेस्टइंडीज और कोलकाता के बाद यहां दबाव में उम्दा पारी खेली. वह बेहतरीन खिलाड़ी है और सभी की खुशी में खुश होता है.’ 

जडेजा की अद्भुत गेंदबाजी
कोहली ने रविंद्र जडेजा की तारीफ करते हुए कहा, ‘उसने अद्भुत गेंदबाजी की. मैंने इतने लंबे समय तक किसी को इतनी किफायती गेंदबाजी करते नहीं देखा. उसे अपनी सीमाए पता है और उसने इसे ध्यान में रखकर खेला.’ ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ ने मार्श और हैंडस्कांब की प्रशंसा करते हुए कहा, ‘यह अच्छा टेस्ट था. मैं अपने खिलाड़ियों के प्रदर्शन से बहुत खुश हूं. उन्होंने जबर्दस्त धैर्य और जुझारूपन दिखाया. पहली पारी में बड़ा स्कोर बनाना जरूरी था हालांकि हम कुछ रन पीछे रह गए. 450 रन इस मैच को जीतने के लिए नाकाफी थे.’ उन्होंने टेस्ट टीम में वापसी करने वाले ग्लेन मैक्सवेल और पैट कमिंस के बारे में कहा, ‘मैक्सवेल का प्रदर्शन जबर्दस्त था. हम उससे ऐसी ही अपेक्षा कर रहे थे. कमिंस ने लंबे समय बाद टेस्ट क्रिकेट खेली और अच्छी गेंदबाजी की.’

एजेंसी

First Published: Monday, March 20, 2017 - 20:13
comments powered by Disqus