कहीं कच्चे खिलाड़ियों की वजह से तो नहीं छिन गए एशियाड में कबड्डी के ताज

यह कबड्डी का मैच दिल्ली के इंदिरा गांधी स्टेडियम में एशियन गेम्स में जाने वाली कबड्डी टीम और उन खिलाड़ियों के बीच होगा जिन्हें एशियाड के लिए नहीं चुना गया था. 

कहीं कच्चे खिलाड़ियों की वजह से तो नहीं छिन गए एशियाड में कबड्डी के ताज
ईरान ने एशियन गेम्स में कबड्डी में भारत की बादशाहत खत्म की (PIC : PTI)
Play

नई दिल्ली: भारतीय खेलों में शनिवार (15 सितंबर) का दिन बेहद खास होने वाला है. शायद यह अपने आप में एक अनोखा और पहला ऐसा मामला होगा, जब एक कबड्डी मैच का गवाह भारत का न्यायिक सिस्टम बनेगा. यह कबड्डी का मैच दिल्ली के इंदिरा गांधी स्टेडियम में एशियन गेम्स में जाने वाली कबड्डी टीम और उन खिलाड़ियों के बीच होगा जिन्हें एशियाड के लिए नहीं चुना गया था. पिछले महीने दिल्ली हाईकोर्ट के एक फैसले के तहत यह प्रक्रिया निभाई जा रही है.

इंडियन एक्सप्रेस में छपी एक खबरे के मुताबिक, भारतीय एमेच्योर कबड्डी महासंघ (AKFI) के अधिकारियों के खिलाफ एक केस हाईकोर्ट में गया था, जिसमें शिकायत की गई थी कि एशियन गेम्स के लिए चुनी गई कबड्डी टीम के सलेक्शन में गड़बड़ हुई है. 

चीफ जस्टिस राजेंद्र मेनन और जस्टिस वीके रॉव के बेंच ने एकेएफआई को आदेश दिया कि 15 सितंबर 2018 को सुबह 11 बजे सलेक्शन प्रकिया की जाए. इसके लिए दिल्ली हाईकोर्ट के रिटायर जस्टिस एसपी गर्ग को इस प्रक्रिया पर नजर रखने के लिए नियुक्त किया गया है. इसके साथ ही युवा और खेल मंत्रालय के अधिकारी के साथ रिटायर जज इस चयन प्रक्रिया पर नजर रखेंगे. 

बता दें कि जब एशियन गेम्स के लिए कबड्डी टीमों का चयन हुआ था, तब याचिकाकर्ता महिपाल सिंह ने हाईकोर्ट का रुख किया था. उन्होंने आरोप लगाया था कि सलेक्शन के दौरान रिश्वत ली गई है. 
 
एशियन गेम्स में भारतीय पुरुष टीम पहली बार कबड्डी में गोल्ड नहीं जीत पाई
भारतीय पुरुष टीम एशियन गेम्स में पहली बार कबड्डी का गोल्ड नहीं जीत सकी थी. भारतीय टीम को सेमीफाइनल में ईरान के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था. ईरान ने यह मुकाबला 27-18 से जीता. भारत को सेमीफाइनल हारने के कारण ब्रॉन्ज मिला.

महिला कबड्डी टीम को भी करना पड़ा हार का सामना
18वें एशियन गेम्स में भारतीय महिला कबड्डी टीम ने जीत के साथ आगाज किया था और फाइनल में जगह बनाई थी. लेकिन ईरान ने कबड्डी में भारत की बादशाहत खत्म कर दी. ईरान ने महिला वर्ग के फाइनल में भारत को 27-23- से हराया था. 

1990 में पहली बार एशियन गेम्स में खेली गई थी कबड्डी
एशियन गेम्स में कबड्डी पहली बार 1990 में खेली गई थी. तब भारत ने बांग्लादेश को हराकर गोल्ड जीता था. इसके बाद भारत ने 2014 तक लगातार गोल्ड जीते. इस दौरान ईरान और पाकिस्तान भी फाइनल में पहुंचे, लेकिन कोई भी टीम भारत को चुनौती नहीं दे सकी. 2010 में महिलाओं की कबड्डी भी एशियन गेम्स का हिस्सा बनी. भारत ने इसके पहले दोनों गोल्ड जीते, लेकिन 2018 में ईरान ने महिला और पुरुष दोनों टीमों से चैंपियन का तमगा छीन लिया.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close