सेवाओं के लिए जीएसटी दरें तय, शिक्षा और हेल्थकेयर पर नहीं लगेगा कोई टैक्स

सेवाओं के लिए जीएसटी दरें तय, शिक्षा और हेल्थकेयर पर नहीं लगेगा कोई टैक्स

शिक्षा व स्वास्थ्य पर नई टैक्स सिस्टम जीएसटी में भी कोई टैक्स नहीं लगेगा जबकि सेवाओं पर चार अलग अलग दरों से जीएसटी लगाने का फैसला किया गया है. जीएसटी परिषद ने वस्तु व सेवा कर (जीएसटी) प्रणाली के तहत सेवाओं के लिए दरों को आज अंतिम रूप दिया. इसके तहत एकोनामी क्लास में हवाई यात्रा सहित परिवहन पर 5% जीएसटी लगेगा.

GST के चार स्तरीय कर ढांचे को जीएसटी काउंसिल ने दी मंजूरी, महंगाई को कंट्रोल करने में मिलेगी मदद

GST के चार स्तरीय कर ढांचे को जीएसटी काउंसिल ने दी मंजूरी, महंगाई को कंट्रोल करने में मिलेगी मदद

अगले साल एक अप्रैल से वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) प्रणाली लागू करने की दिशा में एक बड़ी बाधा गुरुवार को दूर हो गई। जीएसटी परिषद ने जीएसटी के लिये 5, 12, 18 और 28 प्रतिशत के चार स्तरीय कर ढांचे को मंजूरी दे दी। इसमें खाद्यान्न जैसी आवश्यक वस्तुओं को शून्य कर दायरे में रखा गया है जबकि सामान्य उपभोग की ज्यादातर वस्तुओं पर 5 प्रतिशत कर लगाया जायेगा। इससे महंगाई को कम रखने में मदद मिलेगी। 

जीएसटी की दर, कारोबार सीमा तय करना प्रमुख चुनौती : अधिया

जीएसटी की दर, कारोबार सीमा तय करना प्रमुख चुनौती : अधिया

वित्त मंत्रालय के एक शीर्ष अधिकारी ने आज कहा कि जीएसटी दर तय करना, छूट वाली वस्तुओं पर निर्णय तथा केंद्र तथा राज्यों का दोहरा नियंत्रण नहीं हो यह सुनिश्चित करने समेत सात प्रमुख चुनौतियां है जिनके मामले में एक अप्रैल 2017 को जीएसटी लागू करने से पहले पार पाना है।

कांग्रेस का जीएसटी दर 18 प्रतिशत तक सीमित रखे जाने पर जोर

कांग्रेस ने आज सरकार को स्पष्ट किया कि वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) की दर को 18 प्रतिशत तक सीमित रखने तथा जीएसटी प्रणाली के लिए संविधान संशोधन के बाद प्रस्तुत किए जाने वाले विधेयकों को सिर्फ वित्तीय विधेयक के रूप में प्रस्तुत किए जाने का आश्वासन मिलने के बाद ही जीएसटी संविधान संशोधन विधेयक को उसके सुनिश्चित समर्थन की उम्मीद की जा सकती है। राज्यसभा में आज इस विधेयक को मत-विभाजन के लिए रखे जाने से कुछ घंटे पहले पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने एक तरह से ये शर्तें रखीं।

जीएसटी दर 27% से काफी कम रहेगी: वित्त मंत्री अरुण जेटली

जीएसटी दर 27% से काफी कम रहेगी: वित्त मंत्री अरुण जेटली

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आज कहा कि वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) की दर 27 प्रतिशत रखे जाने की अटकलें हैं पर यह दर इससे काफी कम होगी। उन्होंने कहा कि अंतिम दर जीएसटी परिषद द्वारा तय की जायेगी।