सुप्रीम कोर्ट का कर्नाटक को आदेश- 'तीन दिन में तमिलनाडु के लिए कावेरी का 6000 क्यूसेक पानी छोड़ें'

सुप्रीम कोर्ट का कर्नाटक को आदेश- 'तीन दिन में तमिलनाडु के लिए कावेरी का 6000 क्यूसेक पानी छोड़ें'

सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को अपने दिए गए फैसले में कर्नाटक से कहा कि वह विधानसभा प्रस्ताव के बावजूद तीन दिन में तमिलनाडु के लिए कावेरी का 6000 क्यूसेक जल छोड़े । कोर्ट ने एटार्नी जनरल से कहा कि वे दोनों राज्यों के कार्यकारी प्रमुखों के बीच बैठक कराएं और केंद्र से कहा कि वह कावेरी जल को लेकर जारी गतिरोध का समाधान करे।

कावेरी जल विवाद को लेकर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज

कावेरी जल विवाद को लेकर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज

कावेरी जल विवाद को लेकर सुप्रीम कोर्ट में मंगलवार को सुनवाई होगी। बता दें कि तमिलनाडु और कर्नाटक इस विवाद पर अलग-अलग दावों के साथ शीर्ष अदालत पहुंचे हैं और अर्जी दी है।

कावेरी नदी का जल छोड़े जाने संबंधी आदेश में बदलाव के लिए सुप्रीम कोर्ट पहुंचा कर्नाटक

कर्नाटक सरकार ने 20 सितंबर के आदेश में बदलाव की मांग करते हुए इस आधार पर सोमवार को सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया कि उसके जलाशयों में पर्याप्त जल नहीं है। न्यायमूर्ति दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली पीठ ने 20 सितंबर को सुनाए गए आदेश में कर्नाटक को निर्देश दिया था कि वह 27 सितंबर तक हर दिन तमिलनाडु के लिए कावेरी नदी का 6000 क्यूसेक पानी छोड़े। शीर्ष अदालत ने निगरानी समिति द्वारा निर्धारित जल की मात्रा में तीन हजार क्यूसेक की बढोत्तरी की है।

जयललिता की तबीयत बिगड़ी, अस्पताल में भर्ती

जयललिता की तबीयत बिगड़ी, अस्पताल में भर्ती

‘बुखार और शरीर में पानी की कमी’ की शिकायत के बाद यहां एक अस्पताल में भर्ती तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे. जयललिता शनिवार को सतत रूप से डाक्टरों की निगरानी में हैं। उनकी पार्टी ने इन रपटों को खारिज किया है कि अन्नाद्रमुक प्रमुख को इलाज के लिए विमान से सिंगापुर ले जाया जाएगा।

कर्नाटक झुकने को तैयार नहीं, बोला कावेरी का पानी सिर्फ पीने के लिए

कर्नाटक झुकने को तैयार नहीं, बोला कावेरी का पानी सिर्फ पीने के लिए

न्यायपालिका के साथ टकराव की स्थिति पैदा करने वाला कदम उठाते हुए कर्नाटक ने शुक्रवार को वस्तुत: इस बात से इंकार कर दिया कि उच्चतम न्यायालय के आदेश के अनुरूप वह तमिलनाडु को कावेरी नदी का शेष पानी देगा। राज्य विधानसभा के विशेष सत्र में सर्वसम्मति से एक प्रस्ताव पारित किया गया जिसमें कहा गया है कि पानी का उपयोग सिर्फ पेयजल की जरूरतों के लिए होगा और इसे किसी दूसरे मकसद के लिए नहीं दिया जाएगा।

तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता अस्पताल में भर्ती, हालत स्थिर

तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता अस्पताल में भर्ती, हालत स्थिर

तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता को ‘बुखार और शरीर में पानी की कमी’ की शिकायत के बाद यहां के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अस्पताल के मुख्य परिचालन अधिकारी एस विश्वनाथन ने बताया कि अन्नाद्रमुक की 68 वर्षीय प्रमुख को देर रात यहां अपोलो अस्पताल लाया गया। उनकी हालत स्थिर बताई जा रही है। उनके स्वास्थ्य पर नजर रखी जा रही है।

कावेरी विवाद: NHRC ने तमिलनाडु, कर्नाटक सरकारों को जारी किया नोटिस

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) ने आज कहा कि कावेरी नदी के पानी बंटवारे के मुद्दे पर उच्चतम न्यायालय के आदेश के बाद कर्नाटक और तमिलनाडु में हुए उपद्रवों के दौरान प्रशासनिक और पुलिस अधिकारी तमाशबीन बने रहे और करोड़ों रूपए की संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वालों और हिंसा करने वालों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की। 

कावेरी विवाद पर तमिलनाडु में बंद, द्रमुक नेता हिरासत में लिए गए

कावेरी विवाद पर तमिलनाडु में बंद, द्रमुक नेता हिरासत में लिए गए

कावेरी विवाद को लेकर तमिलनाडु में आहूत बंद के समर्थन में प्रदर्शन कर रहे द्रमुक नेता एम के स्टालिन एवं कनिमोई समेत कई नेताओं को आज हिरासत में लिया गया। कावेरी विवाद के मद्देनजर किसानों एवं व्यापारियों ने एक दिवसीय बंद का आह्वान किया है, जिसका विपक्षी दल ने समर्थन किया है। इस बंद को राज्य में मिली जुली प्रतिक्रिया मिली।

कन्नड़ भाषियों की सुरक्षा के लिए सिद्धरमैया ने जयललिता को लिखा खत

कावेरी मुद्दे पर तमिलनाडु में कल राज्यव्यापी बंद से पहले कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धरमैया ने आज तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता को पत्र लिखकर उनसे अनुरोध किया है कि कन्नड़ भाषी लोगों की जान और माल की हिफाजत की जाए।

द्रमुक, अन्य विपक्षी दलों ने 16 सितंबर के बंद को दिया समर्थन

कावेरी जल विवाद के मद्देनजर कर्नाटक में तमिलों पर हमलों के खिलाफ तमिलनाडु के विभिन्न व्यापारिक एवं किसान संगठनों द्वारा आहूत किए जाने वाले 16 सितंबर के राज्यव्यापी बंद को द्रमुक सहित विपक्षी दलों ने आज अपना समर्थन दिया।

कावेरी जल विवाद: बेंगलुरू में हिंसा के बाद सामान्य स्थिति बहाल

कावेरी जल विवाद: बेंगलुरू में हिंसा के बाद सामान्य स्थिति बहाल

पड़ोसी राज्य तमिलनाडु के साथ कावेरी नदी जल बंटवारे को लेकर बड़े पैमाने पर हुयी हिंसा के कारण अशांत रहने के एक दिन बाद हिंसा प्रभावित शहर में सामान्य स्थिति बहाल हो गयी है। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि पर्यटक वाहन सड़कों पर लौट आए और दुकानों और प्रतिष्ठानों में सामान्य रूप से कामकाज शुरू हो गया है। उन्होंने बताया कि अप्रिय घटनाओं को रोकने के लिए पर्याप्त उपाय किये गये हैं। सोमवार रात शहर के 16 थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू लगाया गया था वह और वहां लागू प्रतिबंधात्मक आदेश जारी है। हालांकि, सरकारी स्कूलों और कॉलेजों में अवकाश घोषित नहीं किया गया है लेकिन कुछ निजी संस्थान बंद हैं।

कावेरी जल विवाद पर PM मोदी ने लोगों से शांति की अपील की, बोले- लोकतंत्र में संयम और बातचीत से समाधान संभव

कावेरी जल विवाद पर PM मोदी ने लोगों से शांति की अपील की, बोले- लोकतंत्र में संयम और बातचीत से समाधान संभव

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि कर्नाटक के घटनाक्रम से उन्हें दुख पहुंचा है। उन्होंने कहा कि हिंसा से किसी भी समस्या का समाधान नहीं हो सकता। उन्होंने दोनों राज्यों (कर्नाटक और तमिलनाडु) के लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है। प्रधानमंत्री ने कर्नाटक और तमिलनाडु दोनों राज्यों के लोगों से संवेदनशीलता दिखाने और शांति और सद्भाव को प्राथमिकता देने की अपील की।

कावेरी जल विवाद : पुलिस की गोलीबारी में एक व्यक्ति की मौत; भीड़ ने दर्जन भर वाहनों में लगाई आग, सिद्धारमैया ने की शांति की अपील

कावेरी जल विवाद : पुलिस की गोलीबारी में एक व्यक्ति की मौत; भीड़ ने दर्जन भर वाहनों में लगाई आग, सिद्धारमैया ने की शांति की अपील

कावेरी नदी से जल छोड़ने को लेकर कर्नाटक में जारी विवाद और हिंसा के बीच पुलिस की गोलीबारी में सोमवार को एक व्यक्ति की मौत हो गई जबकि अन्य लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। गुस्सायी भीड़ ने तमिलनाडु के पंजीकरण वाली कम से कम 30 बसों और ट्रकों में आग लगा दी। देश की आईटी राजधानी में बढ़ते तनाव और हिंसा को देखते हुए राज्य सरकार ने बेंगलुरु शहर में धारा 144 लगा दी है। 

   कावेरी विवाद : सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक को दी थोड़ी राहत, तमिलनाडु को 12 हजार क्यूसेक पानी देने का दिया आदेश

कावेरी विवाद : सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक को दी थोड़ी राहत, तमिलनाडु को 12 हजार क्यूसेक पानी देने का दिया आदेश

सुप्रीम कोर्ट ने आज अपने पांच सितंबर के आदेश में संशोधन कर कर्नाटक को तमिलनाडु के लिए कावेरी नदी से छोड़े जाने वाले पानी की मात्रा घटाते हुए 20 सितंबर तक प्रतिदिन 12,000 क्यूसेक पानी जारी करने का आदेश दिया ताकि समीपवर्ती राज्य के किसानों की हालत में सुधार हो सके।

 कावेरी जल: कर्नाटक तत्काल सुनवाई की मांग लेकर पहुंचा न्यायालय

कावेरी जल: कर्नाटक तत्काल सुनवाई की मांग लेकर पहुंचा न्यायालय

तमिलनाडु के लिए कावेरी नदी से 15,000 क्यूसेक पानी छोड़े जाने के बजाय 1,000 क्यूसेक पानी छोड़े जाने का आदेश दिए जाने की मांग करने वाली अपनी अपील पर तत्काल सुनवाई का आग्रह करते हुए कर्नाटक ने उच्चतम न्यायालय का दरवाजा खटखटाया है।

कावेरी विवाद : कर्नाटक के मुख्यमंत्री ने गतिरोध खत्म करने के लिए PM से हस्तक्षेप की मांग की

कावेरी विवाद : कर्नाटक के मुख्यमंत्री ने गतिरोध खत्म करने के लिए PM से हस्तक्षेप की मांग की

कावेरी का पानी तमिलनाडु को छोड़े जाने पर कर्नाटक में काफी नाराजगी के मद्देनजर राज्य के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से गतिरोध तोड़ने के लिए दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों की ‘कुछ घंटों की नोटिस पर’ बैठक बुलाने का अनुरोध किया।

Zee जानकारी : कर्नाटक और तमिलनाडु के बीच पानी पर छिड़ी सियासी जंग

Zee जानकारी : कर्नाटक और तमिलनाडु के बीच पानी पर छिड़ी सियासी जंग

दुनिया भर के विशेषज्ञ मानते हैं कि तीसरा विश्वयुद्ध जल संसाधनों पर कब्जा करने के लिए ही लड़ा जाएगा। वर्ष 1992 से सन 2000 तक वर्ल्ड बैंक के उपाध्यक्ष रहे डॉक्टर Ismail Sera-geldin ने कहा था कि 21वीं

कावेरी विवाद: कर्नाटक ने तमिलनाडु के लिए पानी छोड़ना शुरू किया, किसानों का विरोध जारी

कावेरी विवाद: कर्नाटक ने तमिलनाडु के लिए पानी छोड़ना शुरू किया, किसानों का विरोध जारी

सुप्रीम कोर्ट के निर्देश का अनुपालन करते हुए कर्नाटक सरकार ने बुधवार को तमिलनाडु के लिए कावेरी का पानी छोड़ना शुरू कर दिया। इस बीच, पानी छोड़े जाने को लेकर किसानों का प्रदर्शन जारी है। कर्नाटक सरकार के इस फैसले का मांड्या के किसान विरोध कर रहे हैं। बता दें कि प्रदर्शनकारियों ने मंगलवार को बेंगलुरु-मैसूर हाइवे को बंद कर दिया था।

कावेरी विवाद : सुप्रीम कोर्ट के आदेश का पालन करेगा कर्नाटक, तमिलनाडु को पानी जारी करेगा

कावेरी विवाद : सुप्रीम कोर्ट के आदेश का पालन करेगा कर्नाटक, तमिलनाडु को पानी जारी करेगा

उच्चतम न्यायालय के निर्देश का अनुपालन करते हुए कर्नाटक सरकार ने ‘गंभीर कठिनाइयों’ के बावजूद मंगलवार को तमिलनाडु को कावेरी का पानी छोड़ने का निर्णय किया। हालांकि तमिलनाडु के लिए कावेरी का पानी छोड़ने के उच्चतम न्यायालय के निर्देश के बाद कर्नाटक में आंदोलन तेज हो गया और राज्य के किसानों और कन्नड समर्थक संगठनों ने बेंगलुरू-मैसूरू राजमार्ग बंद कर दिया।

कर्नाटक में कावेरी विवाद पर प्रदर्शन तेज, बेंगलुरू-मैसूरू राजमार्ग रोका गया

कर्नाटक में कावेरी विवाद पर प्रदर्शन तेज, बेंगलुरू-मैसूरू राजमार्ग रोका गया

तमिलनाडु के लिए कावेरी का पानी छोड़ने के उच्चतम न्यायालय के निर्देश के बाद कर्नाटक में आंदोलन तेज हो गया और राज्य के किसानों और कन्नड समर्थक संगठनों ने आज बेंगलुरू-मैसूरू राजमार्ग बंद कर दिया। कावेरी राजनीतिक के केन्द्र मांड्या जिले में बंद रखा गया। प्रदर्शनकारियों ने अनेक जगहों पर सड़कें जाम कर दी और धरने दिए।

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक से तमिलनाडु के लिए 15,000 क्यूसेक कावेरी जल छोड़ने को कहा

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक से तमिलनाडु के लिए 15,000 क्यूसेक कावेरी जल छोड़ने को कहा

उच्चतम न्यायालय ने आज कर्नाटक सरकार को निर्देश दिया कि तमिलनाडु में किसानों की हालत सुधारने के लिए अगले 10 दिन तक उसे प्रति दिन 15,000 क्यूसेक कावेरी जल छोड़ा जाए।न्यायमूर्ति दीपक मिश्रा और न्यायमूर्ति यू यू ललित की पीठ ने तमिलनाडु में सांबा चावल की फसल पर प्रतिकूल असर पड़ने का संज्ञान लेते हुए कर्नाटक सरकार को निर्देश दिया कि तमिलनाडु को पानी की आपूर्ति सुनिश्चित की जाए।



लाइव स्कोर कार्ड