नाइट शिफ्ट

नाइट शिफ्ट में काम करने से बुरी तरह प्रभावित होता है लीवर

नाइट शिफ्ट में काम करने से बुरी तरह प्रभावित होता है लीवर

रात के वक्त यानी नाइट शिफ्ट में काम करना आपके स्वास्थय के लिए काफी नुकसानदेह साबित हो सकता है. एक शोध में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है कि नाइट शिफ्ट में जिगर यानी लीवर बुरी तरह प्रभावित होता है. लिवर 24 घंटों में दिन और रात के हिसाब से भोजन और भूख के चक्र का आदी हो जाता है.

Jun 11, 2017, 03:33 PM IST

नाइट शिफ्ट वाले कामगारों में अधिक रहता है कार दुर्घटना का शिकार होने का खतरा

रात्रिकालीन पाली में काम करने वालों लोगों के कार हादसों का शिकार होने का खतरा अधिक रहता है क्योंकि सोने जागने का क्रम बाधित होने तथा नींद पूरी नहीं होने के कारण वे उनींदी हालत में रहते हैं । यह जानकारी एक नये अध्ययन में सामने आयी है। अमेरिका में ब्रिघम और वुमेंस हास्पिटल (बीडब्ल्यूएच) के नये शोध में पता चला है कि रात में सोने के बाद ड्राइविंग करने वालों की तुलना रात्रिकालीन पारी में काम करने वाले कामगारों के दिन में गाड़ी चलाने से की गयी और पाया गया कि रात्रिकालीन पाली में काम करने के बाद परीक्षण चालन में भाग लेने वाले 37.5 प्रतिशत से अधिक कामगार दुर्घटना का शिकार होते होते बचे ।

Dec 22, 2015, 04:09 PM IST

जीन की लय को प्रभावित करती है नाइट शिफ्ट

रात की पालियों में काम करने वालों और हवाई यात्रा के कारण नींद न ले पाने वालों को अपनी जीनों को फिर से आकार में लाने के लिए अपनी दिनचर्या को सही ढंग से निर्धारित करने का समय है।

Jan 22, 2014, 01:33 PM IST

लंबे समय तक नाइट ड्यूटी करना स्वास्थ्य के लिए खतरनाक

वैज्ञानिकों ने चेतावनी दी है कि तीस सालों से अधिक समय तक रात्रि पाली में काम करने से महिलाओं के स्तन कैंसर की चपेट में आने का खतरा दोगुना हो सकता है ।

Jul 2, 2013, 04:16 PM IST

नाइट शिफ्ट से कैंसर का खतरा

वैज्ञानिकों ने एक शोध में पाया है कि रात्रि पाली में काम करने वाले पुरूषों को विभिन्न प्रकार का कैंसर होने का खतरा काफी अधिक रहता है ।

Oct 16, 2012, 03:18 PM IST