शेयर बाजार 2016 में निवेशकों के लिए कुछ ‘खास’ नहीं रहा

शेयर बाजार 2016 में निवेशकों के लिए कुछ ‘खास’ नहीं रहा

वर्ष 2016 शेयर बाजार निवेशकों के लिए कुछ ‘खास’ नहीं रहा। वैश्विक घटनाक्रम और नोटबंदी की वजह से यह ऐसा साल रहा जिससे शेयर बाजार निवेशकों को कोई रिटर्न नहीं मिला। विश्लेषकों का मानना है कि कम से कम अगले छह महीने तक बाजार में सुधार की बहुत ज्यादा उम्मीद नहीं दिखाई देती।

निवेशकों के सतर्क रूख के बीच और टूटा सेंसेक्स और निफ्टी

निवेशकों के सतर्क रूख के बीच और टूटा सेंसेक्स और निफ्टी

वैश्विक और घरेलू मोर्चे पर अनिश्चितता के बीच बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स लगातार तीसरे दिन नुकसान में रहा। अमेरिका के रोजगार आंकड़ों से पहले निवेशकों के सतर्क रूख के बीच बाजार नीचे आया। नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफ्टी भी नुकसान में रहा और 8,700 अंक से नीचे आ गया।

सुप्रीम कोर्ट ने यूनिटेक को 15 करोड़ रुपये जमा करने को कहा

उच्चतम न्यायालय ने समस्या में घिरी जमीन-जायदाद के विकास से जुड़ी कंपनी यूनिटेक लि. को सितंबर तक उन निवेशकों की 15 करोड़ रुपये की मूल राशि उन्हें लौटाने के लिए जमा करने का बुधवार को निर्देश दिया, जिन्होंने कंपनी की गुड़गांव की एक परियोजना में फ्लैट खरीदे लेकिन उन्हें समय पर उनका कब्जा नहीं दिया गया।

 राहुल गांधी ने निवेशकों के साथ की चर्चा

राहुल गांधी ने निवेशकों के साथ की चर्चा

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने देश के विकास से जुड़े मुद्दों पर निवेशकों के साथ चर्चा की। गांधी ने सोशल मीडिया वेबसाइट ट्वीटर पर लिखा है,‘ भारत के विकास के लिए शांति, संवाद व विकेंद्रीकरण की जरूरत पर सिटीग्रुप की अगुवाई वाले निवेशकों के साथ अच्छी चर्चा हुई।’ गांधी ने हाल ही में विदेशी संस्थागत निवेशकों के एक समूह से बंद कमरे में चर्चा की थी।

जीडीपी की वृद्धि दर में तेजी का रुख, निवेशकों को भारत में प्रचूर मौका: जेटली

जीडीपी की वृद्धि दर में तेजी का रुख, निवेशकों को भारत में प्रचूर मौका: जेटली

भारतीय अर्थव्यवस्था वृद्धि की दिशा में अग्रसर है और ज्यादा मुनाफा चाहने वाले निवेशकों को अपना धन बुनियादी ढांचा और विनिर्माण क्षेत्र में लगाना चाहिए। यह बात बुधवार को वित्त मंत्री अरण जेटली ने कही।

सेंसेक्स ने 516 अंक का गोता लगाया, दो महीने की सबसे बड़ी गिरावट

सेंसेक्स ने 516 अंक का गोता लगाया, दो महीने की सबसे बड़ी गिरावट

बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स मंगलवार को 516 अंक लुढ़ककर 25,000 अंक के नीचे पहुंच गया जो करीब दो महीने में सबसे बड़ी गिरावट है। रिजर्व बैंक के रेपो दर में 0.25 प्रतिशत की कटौती के बाद निवेशकों ने मुनाफावसूली की जिससे बाजार नीचे आया जबकि केंद्रीय बैंक का यह कदम बाजार उम्मीद के अनुरूप था।

साल के अंतिम सप्ताह शेयर बाजार में उतार-चढ़ाव रहने के असार

साल के अंतिम सप्ताह शेयर बाजार में उतार-चढ़ाव रहने के असार

स्थानीय शेयर बाजारों में इस सप्ताह उतार-चढ़ाव देखने को मिल सकता है क्योंकि इस सप्ताह मासिक व्युत्पन्न (डेरिवेटिव) अनुबंध के निपटान की अंतिम तिथि पड़ रही है। दूसरा वर्ष का अंत होने की वजह से निवेशक बड़े सौदे करने से बच सकते हैं। विशेषज्ञों ने यह राय जताई है।

लगातार तीसरे साल कम हुई सोने की चमक, निवेशकों की निगाह अन्य विकल्पों पर

लगातार तीसरे साल कम हुई सोने की चमक, निवेशकों की निगाह अन्य विकल्पों पर

समाप्त हो रहे वर्ष 2015 में लगातार तीसरे साल सोने की चमक कम हुई है। इस दौरान सोने के दाम में 1,000 रुपये प्रति दस ग्राम से भी अधिक की गिरावट आई। सोने के दाम घटने से जहां निवेशक निवेश के लिए दूसरे विकल्पों की तरफ देखने लगे हैं, वहीं सरकार घरों और विभिन्न संस्थानों में बेकार रखे सोने के मौद्रिकरण पर पर जोर दे रही है। चांदी की स्थिति भी अच्छी नहीं रही। साल के दौरान चांदी के मूल्य में आठ प्रतिशत की गिरावट आई। वहीं सोने का दाम करीब पांच प्रतिशत घटा।

IPO में नुकसान हुआ तो वे निवेशक बाजार से हमेशा के लिए मुंह फेर सकते हैं: सिन्हा

सेबी अध्यक्ष यू के सिन्हा ने हाल में आए कंपनियों के प्रथम सार्वजनिक शेयर निर्गमों (आईपीओ) के बेहतर प्रदर्शन का श्रेय आसान मानदंडों को देते हुए आज कहा कि यदि प्राथमिक बाजार में खुदरा निवेशकों को नुकसान होता है तो हो सकता है कि वे दोबारा निवेश न करें।

एफडीआई नियमों में ढील से निवेशकों को सकारात्मक संकेत जाएगा: उद्योग जगत

एफडीआई नियमों में ढील से निवेशकों को सकारात्मक संकेत जाएगा: उद्योग जगत

उद्योग जगत ने एफडीआई नियमों में ढील दिए जाने का स्वागत करते हुए कहा कि इससे वैश्विक निवेशकों को एक सकारात्मक संकेत जाएगा। सरकार ने 15 क्षेत्रों में विदेशी निवेश नियमों में मंगलवार को ढील दी और एफडीआई मंजूरी की प्रक्रिया आसान बनाई।

कराधान प्रणाली ज्यादा पारदर्शी और निवेशक अनुकूल बनाई जाए: RBI गवर्नर

कराधान प्रणाली ज्यादा पारदर्शी और निवेशक अनुकूल बनाई जाए: RBI गवर्नर

रिजर्व बैंक के गवर्नर रघुराम राजन ने देश कर प्रणाली को और अधिक पारदर्शी बनाने की जरूरत को सोमवार को रेखांकित किया ताकि भारतीय अर्थव्यवस्था की मजबूत वृद्धि के लिए नियमित विदेशी पूंजी प्रवाह आकर्षित किया जा सके। उन्होंने विश्व के प्रमुख केंद्रीय बैंकों के बीच और अधिक तालमेल का आह्वान करते हुए कहा कि वैश्विक स्तर पर मौद्रिक नीति के औजारों का और अच्छी तरह से उपयोग करने की जरूरत है क्योंकि विश्व के सामने अपस्फीति का खतरा बढ रहा है। उन्होंने विदेशी नीति पर अध्ययन करने वाली एक निजी अनुसंधान संस्था, ‘गेटवे हाउस’ द्वारा आयोजित गोष्ठी ने कहा ‘हममें अपनी कर प्रणाली को ज्यादा निवेशक अनुकूल बनाने की जरूरत है। कराधान को और पारदर्शी तथा ज्यादा विश्वसनीय बनाया जाए। हर आवश्यक कदम उठाए जाए ताकि हमारी कंपनियों वह हर कुछ सृजित कर सकें जिनकी जरूरत है।’ 

सेंसेक्स में गिरावट से निवेशकों को एक लाख करोड़ रुपये का नुकसान

सेंसेक्स में गिरावट से निवेशकों को एक लाख करोड़ रुपये का नुकसान

यूरोप में गिरावट और एशियाई विकास बैंक (एडीबी) की ओर से वृद्धि दर अनुमान घटाने के बाद घरेलू बाजारों में आज भारी गिरावट देखने को मिली। बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स 541 अंक टूटकर 26 हजार अंक से नीचे आ गया और डॉलर के आगे रुपया भी कमजोर होते हुए 66 रुपये प्रति डॉलर तक लुढ़क गया।

शेयर बाजार में तेजी, सेंसेक्स 161 अंक चढ़कर हुआ बंद

सितंबर की नई डेरिवेटिव्स श्रृंखला में निवेशकों द्वारा नए सौदे किए जाने से शेयर बाजारों में शुक्रवार को लगातार दूसरे दिन तेजी का सिलसिला जारी रहा। बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स 161 अंक चढ़कर 26,000 अंक के पार निकल गया। 

सेबी ने निवेशकों से कहा, सिर्फ चाय-समोसा के लिए AGM नहीं

भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने निवेशकों को सूचीबद्ध कंपनियों के संचालन में अधिक सक्रिय भूमिका निभाने को कहा है। नियामक का कहना है कि कंपनियों की सालाना आमसभा सिर्फ चाय-समोसा पार्टियों के लिए नहीं होतीं। 

सेंसेक्स 297 अंक टूटा, बाजार साढ़े तीन महीने के निम्न स्तर पर

सेंसेक्स 297 अंक टूटा, बाजार साढ़े तीन महीने के निम्न स्तर पर

बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स शुक्रवार को 297 अंक टूटकर साढ़े तीन महीने के निम्न स्तर 27,437.94 अंक पर बंद हुआ। सूचना प्रौद्योगिकी कंपनी इंफोसिस की आय उम्मीद से कम रहने के कारण उसका शेयर 6 प्रतिशत लुढ़कने से बाजार पर असर पड़ा।

सेंसेक्स में लगातार 5वें दिन गिरावट, निफ्टी 8,400 से नीचे आया

बंबई शेयर बाजार में लगातार पांचवें दिन गिरावट का सिलसिला जारी रहा और सेंसेक्स 210.17 अंक टूटकर 27,676.04 अंक पर आ गया। वहीं नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफ्टी 8,400 अंक के स्तर से नीचे बंद हुआ। विदेशी कोषों की निकासी व कंपनियों की आमदनी को लेकर चिंता के बीच खास कर फार्मा व एफएमसीजी कंपनियों के शेयरों में बिकवाली बढ़ गयी थी।

मध्य प्रदेश में छह सेज परियोजनाओं की औपचारिक मंजूरी निरस्त

निर्यात बाजार में लगातार सुस्ती और कुछ कर प्रावधानों के चलते विशेष आर्थिक क्षेत्र (सेज) योजना में निवेशकों की घटी रुचि के बीच सरकार ने मध्य प्रदेश में छह सेज परियोजनाओं की स्थापना के लिए दी गई मंजूरी निरस्त कर दी है।

सुधारों की उम्मीद में सेंसेक्स 178 अंक मजबूत, निफ्टी 8600 अंक के ऊपर

शेयर बाजारों में आज लगातार दूसरे दिन तेजी रही। बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स 178.35 अंक मजबूत होकर 28,533.97 अंक पर बंद हुआ। नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफ्टी भी फिर से 8,600 अंक के ऊपर पहुंच गया। सुधार प्रक्रिया में तेजी आने तथा आगामी बजट को लेकर उम्मीद के बीच प्रमुख कंपनियों के शेयरों में लिवाली से बाजार में तेजी आयी।

तेल की फिसलन, मुनाफा वसूली सें सेंसेक्स 160 अंक गिरा

तेल की फिसलन, मुनाफा वसूली सें सेंसेक्स 160 अंक गिरा

कच्चा तेल गिरकर छह साल के निचले स्तर पर आने से बाजार की धारणा कमजोर हो गई जिससे बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स मंगलवार को 159.54 अंक टूटकर 27,425.73 अंक पर बंद हुआ। बाजार में मुनाफा वसूली का भी जोर रहा।

शेयर बाजार में तेजी जारी, सेंसेक्स 127 अंक चढ़ा

शेयर बाजार में तेजी जारी, सेंसेक्स 127 अंक चढ़ा

शेयर बाजार में सोमवार को तीसरे दिन तेजी का रुख रहा। अंतिम पहर प्रतिष्ठित शेयरों में लिवाली से बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स करीब 127 अंक की बढ़त के साथ एक सप्ताह के उच्च स्तर 27,585.27 अंक पर बंद हुआ।

शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 226 अंक मजबूत

शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 226 अंक मजबूत

एशियाई बाजार में तेजी के रुख के बीच कारोबारियों की ओर से चुनिंदा शेयरों की खरीद बढ़ाये जाने से बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स आज के शुरुआती कारोबार में 226 अंक बढ़कर 27,501.51 अंक पर पहुंच गया।