सियासतदानों का क्राउड मैनेजमेंट

लोकतंत्र का महापर्व जब भी नज़दीक आता है, तो रैलियों का शोर और सियासदानों का शो अपने चरम पर होता है... देश के सभी प्रमुख राष्ट्रीय दल अपनी ताकत की नुमाइश शुरू कर देते हैं...