जानिए, राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को किसने पकड़ा था?

जानिए, राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को किसने पकड़ा था?

क्या आप जानते है कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे किसने पकड़ा था? अदभुत साहस दिखाकर पकड़ने वाले इस शख्स का नाम रघु नायक था जो ओडिशा के रहनेवाले थे। रघु नायक की मौत के करीब 33 साल बाद ओडिशा सरकार ने उनकी पत्नी को पांच लाख रूपये की वित्तीय सहायता दी।

‘गांधी की अहिंसा के चलते भारत एकजुट, लोकतांत्रिक बना हुआ है’

महात्मा गांधी के पोते राजमोहन गांधी ने कहा है कि गांधी के अहिंसा के मार्ग के चलते स्वतंत्रता के बाद भारत एकजुट बना हुआ है और लोकतंत्र को बरकरार रखे हुए है। उन्होंने कहा कि गांधी का अहिंसा का मार्ग भारतीयों के दिलों में गहराई तक समा गया।

आज भी दुनिया में प्रासंगिक हैं महात्मा गांधी के संदेश: प्रणब मुखर्जी आज भी दुनिया में प्रासंगिक हैं महात्मा गांधी के संदेश: प्रणब मुखर्जी

महात्मा गांधी की शिक्षा आज के समय में भी प्रासंगिक है जहां ‘असहिष्णुता और चरमपंथ’ बढ़ रहा है। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने यहां यह बात कही जहां उन्होंने अंतरराष्ट्रीय समुदाय को सौहार्दपूर्ण सह-अस्तित्व और परस्पर सम्मान की याद दिलाई।

रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप ने महात्मा गांधी पर गलत पोस्ट डाला रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप ने महात्मा गांधी पर गलत पोस्ट डाला

अमेरिका में राष्ट्रपति पद के चुनाव में रिपब्लिकन पार्टी का उम्मीदवार बनने के शीर्ष दावेदार डोनाल्ड ट्रंप ने सोमवार को महात्मा गांधी को उद्धृत करते हुए सोशल नेटवर्किंग साइट इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट डाला लेकिन अमेरिकी मीडिया ने कहा कि इसका कोई सबूत नहीं कि भारतीय नेता ने कभी भी इन शब्दों का इस्तेमाल किया।

अब '8190881908' पर करें मिस्ड कॉल और सुने मोदी की 'मन की बात' अब '8190881908' पर करें मिस्ड कॉल और सुने मोदी की 'मन की बात'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को रेडियो पर 16वीं बार 'मन की बात' को संबोधित किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि अब मोबाइल पर मिस्ड कॉल के जरिए भी 'मन की बात' सुनी जा सकेगी। इसके लिए 8190881908 पर मिस्ड कॉल करना होगा। उन्होंने कहा कि यह सुविधा अभी हिंदी भाषा में ही होगी जल्द ही दूसरी भाषाओं में भी यह सुविधा शुरू होगी।

मन की बात : पीएम मोदी बोले- खादी में करोड़ो लोगों को रोजगार देने की ताकत मन की बात : पीएम मोदी बोले- खादी में करोड़ो लोगों को रोजगार देने की ताकत

साल 2016 का पहला और पीएम के रूप में मन की बात के 16वें संस्करण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के दिये खादी का आज के युवाओं में जबरदस्त क्रेज हो गया है। इतना ही नहीं, खादी में करोड़ो लोगों को रोजगार देने की भी ताकत है। पीएम मोदी का 2016 में यह पहला 'मन की बात' कार्यक्रम है। 

गांधी के नाम पर गांधी से ही छल

आज 30 जनवरी है। 68 साल पहले यही तारीख थी जब भारत की आजादी के महानायक (जिसे हम प्यार से 'बापू' कहकर पुकारते हैं) की हत्या कर दी गई थी। जी हां!

दिल्ली के इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर रखा जाएगा दुनिया का सबसे बड़ा चरखा

दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर जल्द ही दुनिया का सबसे बड़ा लकड़ी का सूत कातने का चरखा प्रदर्शित किया जाएगा जो आजादी के आंदोलन में स्वावलंबन का प्रतीक बन गया था।

पुतिन ने मोदी को भेंट किए गांधी की डायरी के पन्ने और तलवार पुतिन ने मोदी को भेंट किए गांधी की डायरी के पन्ने और तलवार

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को महात्मा गांधी की डायरी का एक हस्तलिखित पन्ना और बंगाल की एक 18वीं सदी की तलवार उपहार स्वरूप प्रदान की। बीती रात क्रेमलिन में दोनों नेताओं के बीच निजी मुलाकात के दौरान रूसी राष्ट्रपति ने मोदी को यह उपहार प्रदान किया।

राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी बोले- देश की असल गंदगी गलियों में नहीं, बल्कि हमारे दिमाग में है राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी बोले- देश की असल गंदगी गलियों में नहीं, बल्कि हमारे दिमाग में है

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने विभाजनकारी विचारों को दिमाग से हटाने पर जोर देते हुए मंगलवार को कहा कि भारत की असल गंदगी गलियों में नहीं, बल्कि ‘हमारे दिमाग में और उनके एवं हमारे बीच समाज को विभाजित करने वाले विचारों को दूर करने की अनिच्छा में है।’ मुखर्जी ने यहां साबरमती आश्रम में आयोजित एक समारोह में भारत के बारे में महात्मा गांधी की सोच का जिक्र करते हुए कहा कि उन्होंने एक समावेशी राष्ट्र की कल्पना की थी जहां देश का हर वर्ग समानता के साथ रहे और उसे समान अधिकार मिलें।

गांधी की अहिंसा अंतरराष्ट्रीय समुदाय के लिए उदाहरण : बान की-मून गांधी की अहिंसा अंतरराष्ट्रीय समुदाय के लिए उदाहरण : बान की-मून

महात्मा गांधी को उनकी 146वीं जयंती पर याद करते हुए संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की-मून ने कहा कि मौजूदा समय में जब संघर्ष बढ़ रहा है, चरमपंथ में वृद्धि हो रही है और व्यापक स्तर पर विस्थापन हो रहा है, तो ऐसे में अहिंसा के प्रति भारतीय नेता की प्रतिबद्धता अंतरराष्ट्रीय समुदाय के लिए ‘उदाहरण’ है।

ब्रिटेन ने ‘गांधी पीस वॉक’ के साथ मनाया महात्मा का जन्मदिन

भारतीय समुदाय के सैकड़ों लोगों और ब्रिटेन के वरिष्ठ नेताओं ने दो अक्टूबर को महात्मा गांधी की 146वीं जयंती पर उन्हें याद किया।

दक्षिण अफ्रीका के ‘कांस्टिट्यूशनल हिल’ में मनायी गयी गांधी जयंती

महात्मा गांधी का 146वां जन्मदिन दक्षिण अफ्रीका के ऐतिहासिक ‘कांस्टिट्यूशनल हिल’ में शुक्रवार को मनाया गया। गांधीजी और बाद में रंग-भेद विरोधी आंदोलन के नेता नेल्सन मंडेला को यहां कैद करके रखा गया था।

महात्मा गांधी की 146 वीं जयंती पर राष्ट्र ने दी श्रद्धांजलि महात्मा गांधी की 146 वीं जयंती पर राष्ट्र ने दी श्रद्धांजलि

 राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी और अन्य नेताओं ने शुक्रवार को महात्मा गांधी की 146 वीं जयंती पर उनकी समाधि पर पुष्पांजलि अर्पित की और कृतज्ञ राष्ट्र ने इस अवसर पर राष्ट्रपिता को याद किया। उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी, केंद्रीय मंत्री एम वेंकैया नायडू और महेश शर्मा, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, भाजपा के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी एवं कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने भी बापू को श्रद्धांजलि दी।

महात्मा गांधी से जुड़ी वो बातें जो आप नहीं जानते महात्मा गांधी से जुड़ी वो बातें जो आप नहीं जानते

पूरा देश आज अहिंसा के पुजारी राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को स्मरण कर उनकी 164वीं जयंती मना रहा है। महात्मा गांधी का जन्म 2 अक्टूबर को गुजरात के पोरबंदर में हुआ था। उनका पूरा नाम मोहनदास करमचंद्र गांधी था।  भारत को ब्रिटिश साम्राज्य से आजादी दिलाने में महात्मा गांधी ने अहम योगदान निभाया था।  महात्मा गांधी की प्रेरणा के बल पर ही 15 अगस्‍त 1947 को भारत को ब्रिटिश शासन से आजादी मिली थी। महात्मा गांधी के पिता का नाम करमचंद और माता का नाम पुतलीबाई था।

जन्मदिन पर गांधी को 125 करोड़ का तोहफा जन्मदिन पर गांधी को 125 करोड़ का तोहफा

दो अक्टूबर महात्मा गांधी और लालबहादुर शास्त्री का जन्मदिन मनाया जाता है। पिछले साल देशवाशियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अगुवाई में गांधीजी को उनके 150वीं वर्षगांठ (2019 तक) पर एक तोहफा (स्वच्

गांधी जयंती पर राष्ट्रपति ने अहिंसा के संदेश पर दिया जोर

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने गुरुवार को लोगों से महात्मा गांधी द्वारा दिखाए गए अहिंसा, शांति और सहिष्णुता के मार्ग का अनुसरण करने का आह्वान किया। गांधी जयंती की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति ने कहा कि गांधी जी ने जो आदर्श दिये वे देश की सामूहिक विरासत का जीवंत हिस्सा हैं और यह वर्तमान की मौजूदा चुनौतियों से लड़ने में राह दिखाएगा और एक मजबूत और उदियमान भारत के निर्माण में मदद करेगा।

विजय गोयल ने कहा- महात्मा गांधी की तरह मोदी एक ‘संत’ हैं

भाजपा सांसद विजय गोयल ने राष्ट्रपिता के जन्मदिवस से एक दिन पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की तुलना महात्मा गांधी से करते हुए गुरुवार को दोनों को ‘साबरमती के संत’ बताया। गोयल ने अशोक रोड स्थित भाजपा मुख्यालय के सामने मौजूद अपने निवास पर महात्मा गांधी के साथ मोदी के फोटो वाली होडि’ग लगाई हैं।

दक्षिण अफ्रीका से गांधी की वापसी के सौ साल पूरे, रसनबर्ग में लगी प्रतिमा दक्षिण अफ्रीका से गांधी की वापसी के सौ साल पूरे, रसनबर्ग में लगी प्रतिमा

दक्षिण अफ्रीका से महात्मा गांधी के लौटने के सौ साल पूरे पर यहां के रसनबर्ग शहर में उनकी एक प्रतिमा का अनावरण किया गया। रोचक बात है कि यह प्रतिमा वहां उनके धुर विरोधी रहे पूर्व राष्ट्रपति पॉल क्रूगर की प्रतिमा के पास ही है।

सरकार ने इंदिरा और राजीव के टिकटों की स्थायी श्रृंखलाएं बंद करने के फैसले का औचित्य समझाया सरकार ने इंदिरा और राजीव के टिकटों की स्थायी श्रृंखलाएं बंद करने के फैसले का औचित्य समझाया

सरकार ने बुधवार को पूर्व प्रधानमंत्रियों इंदिरा गांधी और राजीव गांधी पर डाक टिकटों की स्थायी श्रृंखलाएं बंद करने के फैसले को उचित ठहराते हुए कहा कि डाक टिकट राष्ट्र की बड़ी हस्तियों के सम्मान के लिए होने चाहिए न कि किसी एक परिवार के सदस्यों के सम्मान के लिए।