क्यों है बिहार में जातिवाद

राजनीतिक पंडितों का मानना है कि बिहार राजनीतिक रूप से देश में सबसे जागरूक राज्य है। यहां का हर व्यक्ति देश, प्रदेश और दुनिया की राजनीति को समझता है और उसका भलीभांति विश्लेषण भी करता है। इतना जागरूक

गुरु और शिष्य के रिश्तों पर हावी बाजार

'गुरु ब्रह्मा, गुरुर्विष्णु गुरुर्देवो महेश्वरः। गुरुः साक्षात परब्रह्म तस्मैः श्री गुरुवेः नमः।'

मुश्किलों के भंवर में फंसते धोनी

आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में सुप्रीम कोर्ट की ओर से बने पैनल का फैसला आते ही क्रिकेट जगत ही नहीं, देश भर में सनसनी फैल गई। क्रिकेट फैंस की नजरें त्वरित समाचार माध्यमों न्यूज चैनलों, फेसबुक, ट्विटर और इंटरनेट के जरिये गुगल सर्च इंजन पर आ टिकीं। देश भर में जो जहां थे वहीं इस खबर को जानने के लिए उत्सुक होने लगे, आखिर क्या फैसला आया? मैंने भी टीवी ऑन किया। न्यूज चैनल के एंकर अपने ही अंदाज में कह रहे थे आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग पर बनाई गई कमेटी ने बड़ा फैसला सुनाया। उसके बाद मेरी नजरें टीवी पर ठहर गईं। मैं विस्तार से न्यूज सुनने लगा। न्यूज में बताया गया कि सुप्रीम कोर्ट के पैनल ने चेन्नई सुपरकिंग्स के मालिक गुरुनाथ मयप्पन को सट्टेबाजी में शामिल बताते हुए, उन पर आजीवन बैन लगाया है। वहीं राजस्थान रॉयल्स के मालिक राज कुंद्रा को भी इस मामले में दोषी बताते हुए उन पर भी आजीवन पाबंदी लगाई है। साथ ही एंकर ने बताया चेन्नई सुपरकिंग्स और राजस्थान रॉयल्स टीम पर 2 साल का बैन लगाने की सिफारिश की गई है। टीम पर बैन की खबर सुनते ही मैं सोचने लगा अब धोनी का क्या होगा?

अजिंक्य रहाणे बन पाएंगे धोनी?

जिम्बाब्वे दौरे के लिए टीम इंडिया का ऐलान कर दिया गया है। इस बार टीम इंडिया की कमान दुनिया के सबसे सर्वश्रेष्ठ कप्तानों में शुमार महेंद्र सिंह धोनी की जगह अजिंक्य रहाणे को सौंपी गई है। रहाणे पहली बार टीम इंडिया के कप्तान बने हैं। टीम इंडिया इस दौरे में तीन वनडे और दो टी20 मैच खेलेगी। बांग्लादेश के हाथों पहली बार वनडे सीरीज हारने के बाद धोनी की कप्तानी पर सवाल उठने लगे थे। हालांकि अधिकांश क्रिकेट विशेषज्ञों और पूर्व खिलाड़ियों धोनी समर्थन में उतर आए। लेकिन बीसीसीआई ने उन्हें आराम देकर जिम्बाब्वे दौरे के लिए रहाणे को चांस दिया। अब सवाल यह उठता है कि क्या रहाणे मैदान पर धोनी जैसी कप्तानी का मिसाल पेश कर पाएंगे?  

किस राह पर नीतीश कुमार

जीतन राम मांझी को सत्ता से बेदखल करने के बाद नीतीश कुमार बिहार की बागडोर संभालते ही प्रदेश और राष्ट्रीय स्तर पर नई राजनीतिक समीकरण तैयार करने में जुट गए। लालू प्रसाद यादव की पार्टी राष्ट्रीय जनता द

एक बार फिर विश्व विजेता बनेगी टीम इंडिया!

एक बार फिर विश्व विजेता बनेगी टीम इंडिया!

क्रिकेट विश्व कप 2015 अब अंतिम चरण में पहुंच चुका है। क्रिकेट प्रेमियों की निगाहें अपने चहेते टीमों और खिलाड़ियों पर टिकी हैं। भारत जहां क्रिकेट खेल ही नहीं एक धर्म भी है, जो प्रत्येक भारतवासियों के नस-नस में बसता है। ऐसे में भारतीय क्रिकेट टीम के प्रदर्शन पर करोड़ों फैंस की नजरें जमी है। भारत सेमीफाइनल में पहुंच चुका है। जिसका मुकाबला ऑस्ट्रेलिया जैसी मजबूत टीम से है और यह टूर्नामेंट उसी के घरेलू मैदान में खेला जा रहा है। एक सवाल बार-बार मन में आता है। क्या धोनी की अगुवाई वाली यह टीम एक बार फिर विश्व विजेता बन पाएगी, लेकिन धोनी एंड कंपनी पर सुबहा करना नाइंसाफी होगी क्यों इस टीम ने इस विश्व कप में जो किया वह आज तक नहीं हो पाया था। टीम इंडिया अभी तक लगातार सभी सातों मैच जीत चुकी है। इसे साफ पता चलता है कि टीम इंडिया बल्लेबाजी, गेंदबाजी और फिल्डिंग में अन्य टीमों से बेहतर है।

रेल बजट 2015: रेल मंत्री से आम आदमी की उम्मीदें

रेल बजट 2015: रेल मंत्री से आम आदमी की उम्मीदें

रेलमंत्री का पद भार संभालने के बाद सुरेश प्रभु ने स्पष्ट कर दिया था कि वह रेलवे का कायाकल्प करेंगे। यदाकदा उनके बयानों से पता चलता रहा है कि वे रेलवे में सुधार के लिए कितने चिंतित हैं। वे मोदी सरका

अजय माकन

अजय माकन

दिल्ली में एक साल के बाद एक बार फिर विधानसभा चुनाव की सरगर्मी तेज है। ऐसे में इस प्रदेश की तीन बड़ी पार्टियां भाजपा, आम आदमी पार्टी और कांग्रेस चुनावी मैदान में दो-दो हाथ करने के लिए कूद चुकी है। क

अरविंद केजरीवाल

अरविंद केजरीवाल

नौकरशाह से सामाजिक कार्यकर्ता, सामाजिक कार्यकर्ता से राजनीतिज्ञ बने अरविंद केजरीवाल की पार्टी आम आदमी पार्टी एक बार फिर दिल्ली में अपना दम दिखाने के लिए आतुर है। इस बार (2015) का दिल्ली विधानसभा चु

मजदूरों के हितों का ख्याल रखेंगे रघुवर दास!

मजदूरों के हितों का ख्याल रखेंगे रघुवर दास!

कहते हैं घायल की गति घायल जाने और न जाने कोय....गरीबी की दर्द गरीब ही जानता है, किसान का दर्द किसान और मजदूर का दर्द मजदूर से बेहतर कौन समझ सकता है। ऐसे में अगर कोई मजदूर देश या प्रदेश का शासक बन जाता है तो मजदूरों की जिंदगी में चारचांद लगने की उम्मीद और बढ़ जाती है क्योंकि मजदूरों के हर दर्द को गहराई से समझने वाला अब उसके मर्ज की दवा आसानी से ढ़ूढ सकता है।

मोदी के विजय रथ को रोक पाएगा जनता परिवार?

नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र में प्रचंड बहुमत के साथ एनडीए की सरकार बनने के बाद क्षत्रपों और दशकों पहले अपने-अपने स्वार्थ को लेकर अलग हुए जनता परिवार के सदस्यों में खलबली मचने लगी। फूटी आंख न

जानलेवा खेल है क्रिकेट?

जानलेवा खेल है क्रिकेट?

ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज फिलिप ह्यूज की क्रिकेट मैच के दौरान सिर में चोट लगने के कारण मौत हो गई। यह कहने में कोई अतश्योक्ति नहीं होगी कि यह खेल जितना रोमांचक है उतना ही जानलेवा भी है। कई पूर्व खिलाडियों ने भी क्रिकेट को खतरनाक खेल माना है। दुनिया के सबसे खतरनाक बल्‍लेबाज ब्रायान लारा ने क्रिकेट को खतरनाक खेल बताया है।

फर्श से हरियाणा की सत्ता के शिखर तक मनोहर लाल खट्टर

फर्श से हरियाणा की सत्ता के शिखर तक मनोहर लाल खट्टर

सामान्य किसान पृष्ठभूमि से आने वाले मनोहर लाल खट्टर हरियाणा के 10वें मुख्यमंत्री बन गए हैं। सादा जीवन और साफ सुथरी छवि वाले खट्टर की ख्याति भाजपा में एक ऐसे व्यक्ति की है जो हर काम पूरी लगन से करते हैं और उतनी ही कुशलता से करवाते भी हैं। इधर-उधर के मुद्दों में उलझे बिना पर्दे के पीछे से पार्टी की मजबूती के लिए लगातार काम करते रहने वाले खट्टर भाजपा में अहम पदों पर रहे और अकसर अपने संगठन कौशल का लोहा मनवाया।

नौ रूपों में मां दुर्गा की महिमा

नौ रूपों में मां दुर्गा की महिमा

हिंदुओं का महापर्व ‘ नवरात्र ’ हर साल की तरह इस साल भी हर्षोल्लास और पूरे भक्ति भाव से मनाया जा रहा है। नवरात्र में मां दुर्गा के नौ रूपों की पूजा होती है। देवी दुर्गा के नौ रूप हैं शैलपुत्री, ब्रह्मचारिणी, चंद्रघंटा, कुष्मांडा, स्कंधमाता, कात्यायनी, कालरात्रि, महागौरी और सिद्धिदात्री हैं। नवरात्र का अर्थ नौ रातें होता है। इन नौ रातों में तीन देवी पार्वती, लक्ष्मी और सरस्वती के नौ रुपों की पूजा होती है जिन्हें नवदुर्गा कहते हैं।

इश्क ने बनाया निकम्मा!

इश्क ने बनाया निकम्मा!

टीम इंडिया के भावी कप्तान और स्टार बल्लेबाज विराट कोहली अपने क्रिकेट करियर के सबसे बुर दौर से गुजर रहे हैं। इंग्‍लैंड दौरे पर टेस्ट सीरीज में फ्लॉप होने के बाद वनडे में भी उनका बल्ला खामोश रहा। आखिर तकनीकी रूप से क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में दक्ष इस बल्लेबाज को इन दिनों क्या हो गया है। कहीं ऐसा तो नहीं विराट कोहली को अनुष्का शर्मा के प्यार ने निकम्मा बना दिया।

मोदी सरकार: एजेंडा और चुनौतियां

मोदी सरकार: एजेंडा और चुनौतियां

यूपीए सरकार को उखाड़ फेंकने के बाद नरेंद्र मोदी के नेतृ्त्व में बनी एनडीए सरकार को काम करते हुए 3 सितंबर को 100 दिन पूरे हो रहे हैं। लोकसभा चुनाव 2014 के चुनाव प्रचार के दौरान देश के विकास के लिए मोदी ने जनता से 60 साल के बदले 60 महीने मांगे थे। इसलिए मोदी के पीएम बनने के बाद उनकी सरकार के हर दिन के काम पर चर्चा लाजमी है। मोदी सरकार ने इस साल 26 मई को सत्ता संभालने के बाद अपने चुनावी घोषणा पत्र के अनुसार काम करना शुरू भी कर दिया।

टीम इंडिया के आ गए अच्छे दिन

टीम इंडिया के आ गए अच्छे दिन

वनडे की विश्व विजेता टीम टेस्ट में विदेशी सरजमीं पर तीन वर्षों से लगातार फ्लॉप होती आ रही थी, लेकिन 21 जुलाई 2014 को धोनी की सेना ने ऐतिहासिक लॉर्ड्स मैदान पर न सिर्फ तीन साल के सूखे को खत्म किया बल्कि लॉर्ड्स पर 28 साल बाद भारत को पहली जीत दिलाई। इस मैच में टीम इंडिया ने बॉलिंग, बैटिंग और फिल्डिंग तीनों क्षेत्रों में बेहतरीन प्रदर्शन किया। इससे यह कहने में कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी कि टीम इंडिया के अच्छे दिन आ गए हैं।

मोदी सरकार के बजट से होगा ‘अच्छे दिन ’ का दीदार !

मोदी सरकार के बजट से होगा ‘अच्छे दिन ’ का दीदार !

मोदी सरकार के ‘अच्छे दिन’ वाला बजट संसद में पेश होने वाला है। ऐसा माना जा रहा है कि इस बजट से लोगों की उम्मीदों में चार चांद लगेंगे, देश में चारों ओर खुशहाली और तरक्की का दीदार होगा! मोदी के वित्तमंत्री अरूण जेटली से देश के हर तबके को काफी आशाएं हैं। उद्योगों और वेतनभोगियों के लिए टैक्स में छूट, ट्रांसपोर्ट भत्ते में बढ़ोतरी, होम लोन में छूट, छात्रों को आसान लोन, किसानों की सब्सिटी में बढ़ोतरी, महिलाओं और वरिष्ठ नागरिकों को टैक्स छूट में वृद्धि। इन सभी उम्मीदों को लेकर वित्त मंत्री के बजट पर लोगों का ध्यान लगा हुआ है।

रेल बजट से आम आदमी की उम्मीदें

रेल बजट से आम आदमी की उम्मीदें

मोदी सरकार के पहले बजट पेश करने से ठीक कुछ दिन पहले रेल यात्री किराये में 14.2 प्रतिशत और माल भाड़े में 6.5 प्रतिशत की बढ़ोतरी कर दी गई। आम आदमी को यह नागवार गुजरा। क्योंकि नरेंद्र मोदी ने एनडीए की सरकार बनने पर अच्छे दिन लाने का वादा किया था लेकिन रेल यात्रियों के लिए सुविधा बढ़ाए बिना किराये में इजाफा कर दिया। ऐसे में जनता मोदी सरकार पर संदेह करने लगी है। फिर भी एक महीने की इस सरकार के रेल बजट से काफी उम्मीदें हैं। रेल बजट 8 जुलाई को पेश किया जाएगा। बजट से जनता की कुछ स्‍वाभाविक और मूलभूत उम्‍मीदें हैं।

ब्राइट है टीम इंडिया का फ्यूचर

बांग्लादेश दौरे पर सुरेश रैना की कप्तानी में रोबिन उथप्पा, अजिंक्य रहाणे, चेतेश्वर पुजारा, अंबाती रायुडू, ऋद्धिमान साहा, अक्षर पटेल, अमित मिश्रा, मोहित शर्मा, उमेश यादव, परवेज रसूल और स्टुअर्ट बिन्नी ने जो करिश्मा दिखाया उससे यह कहना अतिश्योक्ति नहीं होगी कि टीम इंडिया का फ्यूचर ब्राइट है।