दिल से चार्ज हो सकेंगे बैटरी फ्री पेसमेकर

दिल से चार्ज हो सकेंगे बैटरी फ्री पेसमेकर

वैज्ञानिक बिना बैटरी वाला ऐसा आधुनिक पेसमेकर विकसित कर रहे हैं, जिसे खुद वह दिल चार्ज कर सकेगा, जिसमें वह लगाया गया होगा। यह प्रगति दरअसल एक पीजोइलेक्ट्रिक सिस्टम पर आधारित है जो कि छाती के भीतर हर धड़कन पर पैदा होने वाली कंपन उर्जा को विद्युत उर्जा में बदलने की क्षमता रखता है। इस तरह से पेसमेकर को जरूरी उर्जा उपलब्ध करवाई जा सकती है।

सर्दियों में ऐसे रखें अपने दिल को सुरक्षित सर्दियों में ऐसे रखें अपने दिल को सुरक्षित

तेजी से करवट लेता मौसम कई लोगों के लिए राहत तो उम्रदराज लोगों और बच्चों के साथ-साथ उन लोगों के लिए स्वास्थ्य की समस्याएं भी लेकर आता है। सर्दियों के मौसम का पूरा मजा लेने के लिए उचित ध्यान रखना आवश्यक है। यह माना हुआ तथ्य है कि दिल के दौरे, कार्डियक अरेस्ट और दिमाग के दौरे से काफी सारी मौतें सर्दियों में होती हैं।

जीवनशैली सुधारें, दिल रहेगा तंदुरुस्त जीवनशैली सुधारें, दिल रहेगा तंदुरुस्त

यह विश्व हृदय मास है। यह जानते हुए कि हम ऐसे देश में रहते हैं जो जल्द ही दिल की बीमारियों की विश्व-राजधानी बनने वाला है, हम सब को मिलकर अपने घरों को अपने घरों में सेहतमंद दिल रखने वाला माहौल बनाना होगा। जीवनशैली में थोड़ा बदलाव कर हम अपने और अपने परिवार को दिल की बीमारियों व दिल के दौरे से बचा सकते हैं।

कमाल! डॉक्टरों ने 100 मिनट में बदल दिया दिल कमाल! डॉक्टरों ने 100 मिनट में बदल दिया दिल

फोर्टिस एस्कोर्ट्स हार्ट इंस्टीट्यूट के डाक्टरों ने एक बड़ी सर्जरी के तहत 30 साल के आईटी पेशेवर, जिसके मस्तिष्क ने काम करना बंद कर दिया था, के दिल को 16 साल के एक लड़के के शरीर में प्रतिरोपण करके उसे नई जिंदगी दी। यह किशोर ‘इडियोपैथिक डाइलेटिड कार्डियो मायोपैथी’ नाम की परेशानी से पीड़ित था, जिसमें दिल का काम करना बहुत धीमा हो जाता है। इस किशोर को दो महीने पहले हृदय प्रतिरोपण की सलाह दी गई थी।

दिल के रोगियों के लिए अधिक व्यायाम घातक दिल के रोगियों के लिए अधिक व्यायाम घातक

दिल के रोगी अब तक तो यही समझते थे कि वे जितना ज्यादा व्यायाम करेंगे, उनके दिल की सेहत के लिए उतना ही अच्छा होगा। वैसे मरीज जिन्हें एक बार दिल का दौरा पड़ चुका है, उन्हें क्षमता से अधिक व्यायाम करना महंगा पड़ सकता है।

खर्राटे से हृदयरोग का खतरा

खर्राटे लेने वालों में मोटे, धूम्रपान के आदी या अत्यधिक कोलस्टेरोल वाले व्यक्तियों की अपेक्षा हृदय रोग का खतरा ज्यादा होता है।

अब तस्वीर बताएगी दिल के हर पल का हाल

अब दिल की धड़कन को मापने के लिये न किसी ईसीजी जैसे भारी उपकरण की जरुरत है और न ही हाथों पर पट्टियां बांधने की।