देश के आजाद होने के बाद भी जिंदा थे नेताजी सुभाष चंद्र बोस?

देश के आजाद होने के बाद भी जिंदा थे नेताजी सुभाष चंद्र बोस?

पश्चिम बंगाल की ममता सरकार नेताजी सुभाष चंद्र बोस से संबंधित फाइलों को सार्वजनिक करने जा रही है। उससे पहले नेताजी की ताइवान में 1945 प्लेन क्रैश में हुई मौत का विवाद एक बार फिर सुलग गया है।

महात्मा गांधी का भारत

काल की कठोर आवश्यकताएं महापुरुषों को जन्म देती हैं और घटाटोप अंधकार से घिरे समय में बिजली कौंध कर आगे बढ़ने का रास्ता दिखा जाती है। समय अपने नायकों को ढूंढ लेता है। ये नायक कभी कबीर, तुलसीदास, विवेकानंद तो कभी मार्टिन लूथर, नेल्सन मंडेला और महात्मा गांधी के रूप में हमारे सामने आते हैं।