1962

भारत-चीन सीमा पर तनातनी, डोका ला मेें भारतीय सेना की तैनाती बढ़ाई गई

भारत-चीन सीमा पर तनातनी, डोका ला मेें भारतीय सेना की तैनाती बढ़ाई गई

सिक्किम से सटी भारत-चीन सीमा पर दोनों देशों के बीच बढ़ते तनाव को देखते हुए भारत ने सैनिकों की तैनाती बढ़ा दी है. 1962 के बाद यह पहला मौका है जब सीमा पर इतनी संख्‍या में सैनिकों की तैनाती की गई है. भारत ने अपनी स्थिति को मजबूत करने के लिए और अधिक सैनिकों को 'नॉन-कांबटिव मोड' में लगाया है, जहां करीब एक महीने से भारतीय सैनिकों का चीनी जवानों के साथ गतिरोध बना हुआ है और यह दोनों सेनाओं के बीच 1962 के बाद से सबसे लंबा इस तरह का गतिरोध है.

Jul 3, 2017, 08:17 AM IST
भारत ने डोका ला में और सैनिक भेजे, 1962 के बाद चीन के साथ सबसे लंबा गतिरोध

भारत ने डोका ला में और सैनिक भेजे, 1962 के बाद चीन के साथ सबसे लंबा गतिरोध

भारत ने सिक्किम के पास एक इलाके में अपनी स्थिति को मजबूत करने के लिए और अधिक सैनिकों को 'नॉन-कांबटिव मोड' में लगाया है, जहां करीब एक महीने से भारतीय सैनिकों का चीनी जवानों के साथ गतिरोध बना हुआ है और यह दोनों सेनाओं के बीच 1962 के बाद से सबसे लंबा इस तरह का गतिरोध है.

Jul 2, 2017, 06:49 PM IST
1962 की लड़ाई लड़ने वाला चीनी सैनिक 55 वर्षों से स्वदेश जाने की कर रहा जद्दोजहद

1962 की लड़ाई लड़ने वाला चीनी सैनिक 55 वर्षों से स्वदेश जाने की कर रहा जद्दोजहद

भारत-चीन के बीच 1962 में हुई लड़ाई के दौरान भारत के खिलाफ लड़ने वाला एक सैनिक पिछले 55 वर्षों से अपने घर वापस जाने का प्रयास कर रहा है।

Oct 28, 2016, 08:24 PM IST

1962 जंग: `भारत का भ्रम दूर करने को जारी की रिपोर्ट`

जानेमाने ऑस्ट्रेलियाई पत्रकार नेविल मैक्सवेल ने कहा है कि उन्होंने 1962 के चीन-भारत युद्ध की एक गोपनीय रिपोर्ट को भारत की सोच को इस ‘प्रेरित भ्रम’ से मुक्त करने के लिए जारी किया था कि भारत बिना उकसावे के चीन द्वारा अचानक किये गये आक्रमण का शिकार था।

Apr 1, 2014, 09:06 PM IST

1962 की हार के लिए नेहरू सरकार की आगे बढ़ने की नीति जिम्मेदार : रिपोर्ट

एक रिपोर्ट में 1962 में चीन के खिलाफ हुए युद्ध में भारत की अपमानजनक पराजय के लिए पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू सरकार और तत्कालीन सैन्य नेतृत्व को जिम्मेदार ठहराया गया है। एक आस्ट्रेलियाई पत्रकार ने हेंडर्सन ब्रुक्स की रिपोर्ट के हवाले से यह दावा किया है।

Mar 18, 2014, 07:31 PM IST

भारत 1962 की लड़ाई को भुला दे: चीन

चीन चाहता है कि भारत 1962 की लड़ाई को अतीत की ‘दुर्भाग्यपूर्ण’ चीज के रूप में बिसार दे और दोनों देश सैन्य संबंध मजबूत करे जिसमें सीमा प्रबंधन समझौता को औपचारिक रूप प्रदान किया जाए एवं उसके तहत दोनों देशों के सैनिक एक दूसरे पर गोलीबारी नहीं करे।

Feb 1, 2013, 09:54 PM IST

चीन के साथ अपनाना होगा व्यावहारिक रवैया

भारत-चीन के बीच 1962 में हुए युद्ध को आज 50 साल हो गए । इस युद्ध की 50वीं बरसी पर सीमा की सुरक्षा में शहीद हुए जवानों को देश याद कर रहा है। भारत के लिए 62 का युद्ध आज भी एक सबक की तरह है कि तैयारी न होने पर युद्ध के समय कितनी बड़ी कीमत चुकानी पड़ सकती है।

Oct 20, 2012, 02:05 PM IST