खराब मौसम की वजह से चार धाम यात्रा बाधित, आवाजाही बहाल करने की कोशिशें जारी

खराब मौसम की वजह से चार धाम यात्रा बाधित, आवाजाही बहाल करने की कोशिशें जारी

उत्तराखंड में चार धाम की वार्षिक तीर्थयात्रा सोमवार को लगातार तीसरे दिन भी बाधित रही। भूस्खलन की वजह से तीर्थस्थल जाने वाले कई मुख्य मार्ग अवरुद्ध रहे। क्षेत्र में बारिश घटी है। सड़कों से मलबे हटाने का काम जारी है। कई स्थानों पर वाहनों की सामान्य आवाजाही बहाल किया जाना अभी बाकी है।

खराब मौसम के चलते केदारनाथ के दर्शन नहीं कर सके राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी खराब मौसम के चलते केदारनाथ के दर्शन नहीं कर सके राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी

खराब मौसम के कारण राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी बुधवार को भगवान केदारनाथ के दर्शन नहीं कर सके। राष्ट्रपति को लेकर गये हैलीकाप्टर ने रूद्रप्रयाग जिले में 3581 मीटर की उंचाई पर स्थित केदारनाथ में उतरने की दो बार कोशिश की लेकिन खराब मौसम के चलते उसे सफलता नहीं मिली।

केदारनाथ में दो साल में पूरा कर लिया जाएगा पुनर्निमाण का काम : रावत

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा है कि केन्द्र सरकार द्वारा निर्धारित समय सीमा से पूर्व, दो साल के भीतर केदारनाथ और आसपास के इलाकों में पुनर्निमाण का काम पूरा कर लिया जाएगा।

सर्दी के कारण केदारनाथ, यमुनोत्री के कपाट बंद

वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच व्यापक अनुष्ठान के बाद गढ़वाल हिमालय में स्थित केदारनाथ और यमुनोत्री मंदिरों के कपाट जाड़े के मद्देनजर आज से बंद कर दिए गए।

जम्मू-कश्मीर में बाढ़ से तबाही, केदारनाथ त्रासदी जैसी: सीएम उमर अब्दुल्ला जम्मू-कश्मीर में बाढ़ से तबाही, केदारनाथ त्रासदी जैसी: सीएम उमर अब्दुल्ला

जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने राज्य में आई भयावह बाढ़ की तुलना पिछले साल की केदारनाथ त्रासदी से करते हुए उम्मीद जताई कि उनकी सरकार मृतकों की संख्या उसके मुकाबले कम रखने और त्वरित बचाव अभियान में सफल रहेगी।

केदारनाथ के बाद बद्रीनाथ यात्रा भी रुकी, पत्थर गिरने से महिला की मौत केदारनाथ के बाद बद्रीनाथ यात्रा भी रुकी, पत्थर गिरने से महिला की मौत

उत्तराखंड में भारी बारिश की मौसम विभाग की चेतावनी के मद्देनजर केदारनाथ यात्रा स्थगित होने के एक दिन बाद गुरुवार को बद्रीनाथ यात्रा भी 18 जुलाई तक के लिये रोक दी गई, जबकि टिहरी जिले में तेज बारिश के बाद चट्टान से गिरे पत्थरों की चपेट में आकर एक महिला की मृत्यु हो गई।

मूसलाधार बारिश से उत्तराखंड की कई नदियां उफान पर, सैकड़ों श्रद्धालु फंसे मूसलाधार बारिश से उत्तराखंड की कई नदियां उफान पर, सैकड़ों श्रद्धालु फंसे

दो दिन से लगातार जारी मूसलाधार बारिश ने उत्तराखंड में जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। सड़कों के जगह जगह बंद हो जाने से चारधाम यात्रा बुरी तरह प्रभावित हो गया है। मौसम विभाग ने गुरुवार को भी भारी बारिश की आशंका व्यक्त की है।

योगगुरू बाबा रामदेव सुरक्षित हैं : अधिकारी

योगगुरू बाबा रामदेव के अनुयायियों सहित गंगा नदी के उदगम स्थल गोमुख में फंसने की खबरों का खंडन करते हुए उत्तरकाशी के जिलाधिकारी ने साफ किया कि सभी लोग सुरक्षित हैं और शाम तक उनके गंगोत्री लौट आने की उम्मीद है।

तीन दिन के लिये केदारनाथ यात्रा स्थगित, भारी बारिश से कई श्रद्धालु फंसे तीन दिन के लिये केदारनाथ यात्रा स्थगित, भारी बारिश से कई श्रद्धालु फंसे

रूद्रप्रयाग में भारी बारिश की चेतावनी और पिछले कुछ दिनों से रूक-रूक कर हो रही बारिश के कारण सड़कों पर मलबा आने के कारण केदारनाथ तीर्थयात्रा आज तीन दिनों के लिये स्थगित कर दी गयी। जिलाधिकारी राघव लंघर ने बताया, ‘मौसम विभाग द्वारा क्षेत्र में भारी बारिश की चेतावनी दिये जाने के मद्देनजर केदारनाथ तीर्थयात्रा को 18 जुलाई तक के लिये स्थगित कर दिया गया है।’ उन्होंने कहा कि इसके अलावा, केदारनाथ धाम को जाने वाले मोटर मार्ग और सोनप्रयाग से केदारनाथ के बीच 21 किलोमीटर लंबे पैदल मार्ग पर बारिश के चलते बार-बार मलबा आ रहा है और यातायात प्रभावित हो रहा है।

उत्तराखंड: रुद्रप्रयाग में सरस्वती नदी पर बना पुल बहा, 164 श्रद्धालु फंसे उत्तराखंड: रुद्रप्रयाग में सरस्वती नदी पर बना पुल बहा, 164 श्रद्धालु फंसे

उत्तराखंड की चार धाम यात्रा पर आफत के बादल मंडरा रहे हैं। अब वहां 164 श्रद्धालुओं के सामने नई मुसीबत आ गई है। उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग में भारी बारिश की वजह से सरस्वती नदी पर बना पुल अचानक बह गया।

उत्‍तराखंड: खराब मौसम की वजह से चारधाम यात्रा को रोका गया, बाबा रामदेव गंगोत्री में फंसे खराब मौसम की वजह से चारधाम यात्रा को रोका गया, बाबा रामदेव गंगोत्री में फंसे

उत्‍तराखंड में खराब मौसम की बजह से चार धाम यात्रा पर संकट के बादल छा गए हैं। जानकारी के अनुसार खराब मौसम और भारी बारिश के चलते चार धाम यात्रा को रोक दिया गया है।

केदारनाथ के आसपास अभी भी नरकंकाल मौजूद: भाजपा

भीषण प्राकृतिक आपदा आने के एक साल बाद भी केदारनाथ के आसपास फैले मलबे के अंदर नरकंकाल होने का दावा करते हुए मुख्य विपक्षी दल भाजपा ने उत्तराखंड की हरीश रावत सरकार से त्रासदी के दौरान तथा मौजूदा दशा के संबंध में श्वेतपत्र जारी करने की मांग की।

केदारनाथ के लिए हेलीकाप्टर सेवा 12 मई से

रूद्रप्रयाग के लिनचौली से केदारनाथ मंदिर के लिये हेलीकाप्टर सेवा 12 मई से शुरू हो जायेगी जबकि मौसम की अनिश्चितता को देखते हुए केदारनाथ जाने के लिये प्रतिदिन अधिकतम 500 यात्रियों को ही अनुमति दी जाएगी।

केदारनाथ के बाद आज से बद्रीनाथ के कपाट खुले

केदारनाथ के बाद बाबा बद्रीनाथ का द्वार भी आज से भक्तों के लिए खोल दिया गया है।

केदारनाथ में हर दिन 1000 श्रद्धालु जायेंगे

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा है कि आगामी चार मई को भोले बाबा के धाम केदारनाथ के कपाट खुलने के बाद वहां एक दिन में एक हजार श्रद्धालुओं को ही जाने की अनुमति दी जायेगी ।

भीषण जलप्रलय के बाद केदारनाथ-बदरीनाथ धाम की यात्रा आज से शुरू

जून महीने में भीषण जल प्रलय के बाद से रुकी बदरीनाथ और केदारनाथ धाम की यात्रा शनिवार यानी आज से विधिवत तरीके से शुरू हो गई है। दावा किया गया है कि इस यात्रा के लिए प्रशासन ने श्रद्धालुओं के लिए पुख्ता सुरक्षा इंतजाम किए हैं।

केदारनाथ, बद्रीनाथ यात्रा 5 अक्टूबर से शुरू होगी

गत जून में आयी प्राकृतिक आपदा के बाद से बंद पड़ी केदारनाथ और बद्रीनाथ की यात्रा औपचारिक रूप से नवरात्र प्रारंभ होने के साथ ही पांच अक्टूबर से शुरू हो जायेगी।

जल प्रलय के 3 माह बाद भी अस्त व्यस्त है केदारनाथ

आपदा से आहत हुए प्रसिद्ध तीर्थस्थल केदारनाथ अभी भी संपर्क विहीन स्थिति में है। पहुंच मार्ग नहीं होने के साथ ही मलबों के नीचे अभी भी कई शव दबे हुए हैं और डरे हुए ग्रामीण शहरों की तरफ पलायन कर रहे हैं। पलायन करने वालों में से कई ने `देवभूमि` माने जाने वाले इस इलाके में दोबारा नहीं लौटने का मन बना लिया है।

86 दिन बाद खुले बाबा के कपाट, केदारनाथ में गूंजा हर हर महादेव

उत्तराखंड में सैकड़ों तीर्थयात्रियों और स्थानीय लोगों की जान लेने वाली आपदा के 86 दिन बाद केदारनाथ मंदिर में बुधवार से एक बार फिर सुबह सात बजे पूजा शुरु हो गई।

केदरानाथ मंदिर में 11 से शुरू होगी पूजा-अर्चना

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा ने कहा कि राज्य में जून के मध्य में आई जल प्रलय के बाद से केदारनाथ में बंद पड़ी पूजा अर्चना 11 सितंबर से शुरू होगी। उन्होंने कहा कि पूजा सुबह सात बजे से पूर्वाह्न 11 बजे के बीच होगी और दीवाली पर मंदिर के कपाट बंद होने तक जारी रहेगी।

केदारनाथ में फिर से पूजा की तैयारियां जोरों पर

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा ने मंगलवार को कहा कि 11 सितंबर से केदारनाथ मंदिर में दोबारा पूजा किये जाने की तैयारियों की समीक्षा के लिए एक सितंबर को श्रीबद्रीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति की एक बैठक बुलाई गई है।



लाइव स्कोर कार्ड