mumbai terrorist attacks

चार साल में कसाब पर 30 करोड़ रूपये खर्च

केंद्र और महाराष्ट्र सरकार ने अजमल कसाब को मुंबई के आर्थर रोड केंद्रीय कारागार में रखे जाने के दौरान उसे भोजन, सुरक्षा, दवा और कपड़े मुहैया करने पर करीब 29.5 करोड़ रूपये खर्च किए।

Nov 21, 2012, 08:46 PM IST

बुधवार को गुनाह, बुधवार को ही सजा

अजमल कसाब के लिए बुधवार का दिन खास मायने रखता है क्योंकि वह इसी दिन लश्कर ए तैयबा के अपने नौ साथियों के साथ मुंबई में घुसा था और बुधवार को ही उसे फांसी के फंदे से लटका दिया गया।

Nov 21, 2012, 06:17 PM IST

कसाब का अंत: 26/11 के पीड़ितों को इंसाफ

देश की वाणिज्यिक राजधानी मुबइ में 26 नवंबर, 2008 को आतंकवादी हमले को अंजाम देने वालों में शुमार और एकमात्र जीवित पाकिस्तानी आतंकी अजमल आमिर कसाब को बुधवार सुबह पुणे की यरवडा जेल में फांसी दे दी गई। मुंबई हमले के पीडि़तों को कसाब की फांसी के साथ-साथ आज इंसाफ मिल गया।

Nov 21, 2012, 06:06 PM IST

जल्लाद को भी नहीं पता था कि वह किसको फांसी देगा

पाकिस्तानी आतंकवादी अजमल कसाब को फांसी दिए जाने में आज इस हद तक गोपनीयता बरती गयी कि आखिरी वक्त तक जल्लाद को भी नहीं पता था कि वह किसे फांसी देने जा रहा ।

Nov 21, 2012, 05:51 PM IST

`सी-7096` से होती थी कसाब की पहचान

कारागार में प्रवास के दौरान अजमल कसाब की पहचान संख्या ‘ सी-7096 ’ रही । उसे फांसी देने के लिए तैयार किये गये सरकारी दस्तावेज में भी यही पहचान संख्या लिखी गयी थी ।

Nov 21, 2012, 05:46 PM IST

मुंबई आतंकी हमले का काला चेहरा कसाब

बेपरवाह सी कार्गो पैंट, ढीला ढाला नीला स्वेटशर्ट, पीठ पर बैग और हाथों में असाल्ट राइफल..यही था अजमल कसाब मुंबई पर खौफनाक आतंकी हमले का काला चेहरा, जिसने पाकिस्तान में रची गई नापाक साजिश को अमली जामा पहनाने में अहम किरदार निभाया।

Nov 21, 2012, 02:50 PM IST