राहुल की शादी से बदलेगी कांग्रेस?

अगले महीने इलाहाबाद के आनंद भवन में संपन्न होगी, सियासत के गलियारों में ऐसी अटकलें लगाई जा रही हैं। 

जंबो जेट के कंधों पर जंबो जिम्मेदारी

कुंबले को उनके जमाने के साथी 'जंबो' नाम से पुकारते थे। दरअसल कुंबले का निक नेम जंबो है। एक स्पिन गेंदबाज के रूप में जंबो जेट जैसी तेजी वाली गेंद फेंकने के चलते उनका नाम जंबो नहीं पड़ा था, बल्कि अपन

'संघ फोबिया' में जीने लगे हैं नीतीश?

बिहार के मुख्यमंत्री और जनता दल यूनाइटेड के नवनियुक्त राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने एक साथ संघ यानी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ मुक्त भारत और शराब मुक्त भारत (एल्कोहल फ्री इंडिया) का एक साथ आह्वान क

असम में मिशन-84 का तीन तिकड़म

असम में मिशन-84 का तीन तिकड़म

असम में 126 विधानसभा सीटों के महासंग्राम में दो-तिहाई बहुमत प्राप्त करने के लिए 'मिशन 84' का तीन तिकड़म चरम पर है। भाजपा महीनों से इस मिशन पर काम कर रही है और यहां

सपनों के 'बजट' में घुमड़ता किसान

सपनों के 'बजट' में घुमड़ता किसान

वित्त वर्ष 2016-17 के लिए संसद में पेश किए गए केंद्रीय बजट में मोदी सरकार ने अगले पांच वर्षों में किसानों की आय को दोगुना करने का लक्ष्य तय किया है। वित्त मंत्री अरुण जेटली द्वारा आज पेश किए गए बजट

जाट आरक्षण : आंदोलन या फिर 'साजिश'?

हरियाणा में जाट आरक्षण आंदोलन ने हिंसक रूप अख्तियार कर लिया है। खट्टर सरकार के जाट नेता व मंत्री, पुलिस और सेना को निशाना बनाते हुए यह आंदोलन अब पूरी तरह से समाज विरोधी रास्ते पर आगे बढ़ रहा है। पू

गांधी के नाम पर गांधी से ही छल

आज 30 जनवरी है। 68 साल पहले यही तारीख थी जब भारत की आजादी के महानायक (जिसे हम प्यार से 'बापू' कहकर पुकारते हैं) की हत्या कर दी गई थी। जी हां!

दिल से : ये वादा तो करते जाओ बेटी!

कहते हैं कि राष्ट्र नीति, कूटनीति और सिद्धांतों से कहीं ऊपर होती है दिलों के रिश्ते। इसीलिए देश के पूर्व प्रधानमंत्री इंद्र कुमार गुजराल की 'लोगों से लोगों के संबंध' की थ्योरी आज भी टिकी है। विदेश

संसद में बहस 'असहिष्णुता' नहीं 'महंगी दाल' पर हो

विविध वैचारिक रंगों से भरे देश भारत में असहिष्णुता की कोई गुंजाइश नहीं है। यही हमारे संविधान की मूल भावना है और देश के अधिकांश लोगों का भी यही विचार है। मेरे विचार में तो यह महज सियासी मुद्दा है और

बिहार में क्यों हारी भाजपा और एनडीए?

बिहार में नीतीश-लालू-कांग्रेस के महागठबंधन की प्रचंड जीत दर्ज करने के साथ ही भाजपा-एनडीए के अंदर और बाहर इस बात पर मंथन शुरू हो गया है कि जिस पार्टी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जैसा प्रखर वक्ता ह

बिहार चुनाव : राजनीति की अग्निपरीक्षा

राजनीति जब चारा चोर, नरभक्षी, महास्वार्थबंधन, शैतान और ब्रह्मपिशाच के चक्रव्यूह में फंस जाए तो उससे निकलने के लिए उसे अग्निपरीक्षा देनी ही पड़ती है। कोई कह रहा है बिहार चुनाव प्रधानमंत्री नरेंद्र म

बिहार चुनाव में ओवैसी की एंट्री

दक्षिण भारत की एक छोटी सी पार्टी ऑल इंडिया मजलिस-ए-इतेहदुल मुसलिमीन के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने हैदराबाद से इस बात का ऐलान किया है कि उनकी पार्टी बिहार के सीमांचल इलाके से विधानसभा चुनाव में अपने

एक थी शीना और एक है इंद्राणी

मानव सभ्यता या सामाजिक परिवेश शायद उलटी दिशा में यात्रा करने लगा है। या यों कहें कि हमारा समाज बर्बरता की तरफ मुड़ गई है। भौतिकवादी चकाचौंध में सारे अहम रिश्ते इस सामाजिक बर्बरता की आग में झुलस रही

आजाद भारत में गुलामी की जकड़न

आजादी! जी हां, एक ऐसा शब्द जो जीवन के हर पल को बेहतर बनाने की ताकत देता है इस उम्मीद के साथ कि हमारा जीवन बेहतर और ताकतवर होगा तो ही हम अपने परि

हंगामे पर संसद मौन क्यों?

संसद का सुचारू संचालन कैसे हो इस पर सरकार, सत्ता पक्ष और विपक्ष तीनों को मिल-बैठकर चर्चा करनी होगी। क्योंकि इन तीनों से मिलकर ही तो संसद है और कहीं न कहीं इस संसद और संसद में बैठे सांसदों की भारतीय लोकतंत्र के प्रति जिम्मेदारी भी तो बनती है कि संसद ठीक तरीके से अपना काम करे। इसके लिए संसद चाहे तो भगवान बुद्ध का लोकतंत्र अपनाकर आगे बढ़े या फिर 'काम नहीं तो वेतन नहीं' का फार्मूला ईजाद करे। लेकिन संसद चलनी चाहिए और तस्वीर बदलनी चाहिए।

व्यापमं घोटाला : सब-कुछ लुटा के होश में आए...

मध्यप्रदेश में शिवराज सरकार के नाक तले व्यापमं घोटाला के व्यापक घटनाक्रम को देखकर यह कहना गलत नहीं होगा कि 'सब कुछ लुटा के होश में आए तो क्या किया? दिन में अगर चिराग जलाए तो क्या किया?

वैश्विक महामंदी की आहट

साल 2008 की वैश्विक मंदी की सटीक भविष्‍यवाणी करने वाले अर्थशास्‍त्री और भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर रघुराम राजन ने दुनिया को चेतावनी दी है कि वैश्‍विक अर्थव्‍यवस्‍था के सामने 1930 जैसी महामंदी का

महंगाई की एक और नई किस्त

केंद्रीय वित्त मंत्री द्वारा आम बजट 2015-16 में प्रस्तावित सेवा कर में वृद्धि कल यानी एक जून 2015 से लागू हो रही है। इसके साथ ही वर्तमान में 12.36 फीसदी सेवा कर की दर बढ़कर 14 फीसदी हो जाएगी। महंगाई

राष्ट्रकवि दिनकर के बहाने सियासत

भगवान बुद्ध की धरती बिहार को लेकर एक बार फिर से सियासत गरमाने लगी है। सभी सियासी दल अपने-अपने तरीके से मौके और अवसर ढूंढने लगे हैं अपनी-अपनी राजनीति चमकाने के लिए। जी हां!

दरबार मूव : परंपरा की आड़ में बेड़ा गर्क

करीब डेढ़ सौ साल पुरानी डोगरा परंपरा (दरबार मूव) को बरकरार रखते हए जम्मू एवं कश्मीर सरकार एक बार फिर जम्मू में अपना कामकाज बंद कर अगले छह महीने के लिए श्रीनगर शिफ्ट हो गई है। राज्यपाल, मुख्यमंत्री,

तो क्या इतिहास दोहराएगी कांग्रेस?

तो क्या इतिहास दोहराएगी कांग्रेस?

इतिहास पलटेंगे तो पाएंगे, कांग्रेस का इतिहास अपनी राख से फिर जन्म लेने का रहा है, बिल्कुल फीनिक्स पक्षी की तरह। तो क्या एक बार फिर इतिहास दोहरा पाएगी कांग्रेस?



लाइव स्कोर कार्ड