जानिये वो नदियां जिनमें स्नान से धन बरसता है

जानिये वो नदियां जिनमें स्नान से धन बरसता है

रूपये पैसे किसे नहीं चाहिये। आप भी चाहते हैं कि सारा ज़माना साथ दे या न दे, लेकिन लक्ष्मी माता का साथ सदा बना रहे। वैसे भी कलियुग में सारे रिश्ते नाते तभी काम आते हैं जब आपके पास धन संपत्ति हो। मगर धन संपत्ति हासिल करने के लिये कितना पसीना बहाना पड़ता है ये तो आप भी जानते हैं। लेकिन 12 महीनों में कार्तिक मास ही सिर्फ ऐसा महीना है जिसमें स्नान करने से ही धन संपत्ति मिल जाती है। इसके लिये आपको उन नदियों में स्नान करना है जो धन बरसाने के लिये मशहूर हैं। स्कंद पुराण के कार्तिक खंड में इन धन बरसाने वाली नदियों के नाम विस्तार से दिये गये हैं। 

‘लुप्त सरस्वती नदी को खोजने का काम इसी साल जैसलमेर से शुरू होगा’

‘लुप्त सरस्वती नदी को खोजने का काम इसी साल जैसलमेर से शुरू होगा’

केन्द्रीय भूजल विभाग ने लुप्त हुई प्राचीन सरस्वती नदी को खोजने एवं उसके जल प्रवाह को ढूंढने का चालू वर्ष में जैसलमेर से शुरू किया जाएगा।

नदी में पांच युवक बहे, ग्रामीणों ने चार को बचाया एक की मौत

मध्यप्रदेश के इन्दौर जिले में चोरल नदी में डूबने से एक युवक की मौत हो गयी, जबकि चार युवकों को ग्रामीणों ने बचा लिया। सिमरोल थाने के प्रभारी प्रदीप बक्षी ने बताया कि इंदौर के जूना रिसाला मोहल्ले के रहने वाले पांच युवक कल चोरल गांव के पास दरगाह पर गये थे। बाद में ये लोग चोरल नदी में नहाने चले गये। इनमें से किसी को भी तैरना नहीं आता था।

सुप्रीम कोर्ट का केंद्र सरकार से सवाल-गंगा सफाई को लेकर तत्‍काल कदम क्‍यों नहीं उठाए जा रहे

सुप्रीम कोर्ट का केंद्र सरकार से सवाल-गंगा सफाई को लेकर तत्‍काल कदम क्‍यों नहीं उठाए जा रहे

नरेंद्र मोदी सरकार को गंगा की सफाई के बारे में उसके चुनाव घोषणा पत्र की याद दिलाते हुए सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को सवाल किया कि इस संबंध में तत्काल आवश्यक कदम क्यों नहीं उठाए जा रहे हैं। न्यायालय ने केंद्र सरकार को दो सप्ताह के भीतर 2500 किलोमीटर लंबी इस पवित्र नदी को प्रदूषण मुक्त कराने की कार्ययोजना का खाका पेश करने का निर्देश दिया।

यमुना तुम कभी ना बहना...

इन तस्वीरों को देखकर शायद आप अचरज में पड़ होंगे कि भला यह है क्या। यह तस्वीर हमारे देश की उस पौराणिक नदी की है जिसका जिक्र हमारे पुराणों में आता है।



लाइव स्कोर कार्ड