dear zindagi

डियर जिंदगी : जिनके नंबर कम हैं, उम्‍मीदें उनसे ही हैं!

डियर जिंदगी : जिनके नंबर कम हैं, उम्‍मीदें उनसे ही हैं!

याद रखिए और दूसरों से साझा करिए, 'बच्‍चा असफल नहीं होता, असफल स्‍कूल होता है. बच्‍चे हमेशा मंजिल तक पहुंचते हैं, बशर्ते हम उनको बता सकें कि जाना कहां है.' और यह हमारा ही काम है, बच्‍चों का नहीं.  

मई 30, 2018, 07:34 AM IST
डियर जिंदगी : 'जैसा है, वैसा है!'

डियर जिंदगी : 'जैसा है, वैसा है!'

हम अचानक कुछ नहीं बनते. बनते हम आहिस्‍ता-आहिस्‍ता ही हैं. हां, हमें पता किसी एक दिन अचानक चलता है कि अरे! हम तो यह हो गए.

मई 29, 2018, 07:43 AM IST
डियर जिंदगी : ‘बड़ों’ की पाठशाला में तनाव

डियर जिंदगी : ‘बड़ों’ की पाठशाला में तनाव

आज कहा जा रहा है कि ‘बड़ा’ तनाव है. लेकिन आज से साठ, सत्‍तर बरस पहले तो देश की परिस्थिति कहीं अधिक मुश्किल थी. जिनके पास धन था, उनको भी उतने ही संघर्ष से गुजरना होता था.

मई 28, 2018, 09:27 AM IST
डियर जिंदगी : कैसे बनते हैं 'मन'

डियर जिंदगी : कैसे बनते हैं 'मन'

हम जैसे हैं, उसके पीछे सबसे बड़ी भूमिका अंतर्मन की है. जिन चीजों से हमारे अंतर्मन का निर्माण होता है, उनके स्‍वाद, रुचि और प्रभाव हमारे मन पर न पड़ें यह संभव नहीं है. 

मई 25, 2018, 07:55 AM IST
डियर जिंदगी: 'सॉरी' के साथ हम माफी से दूर होते हुए...

डियर जिंदगी: 'सॉरी' के साथ हम माफी से दूर होते हुए...

'सॉरी' को अपनाते हुए असल में हम माफी से दूर होते गए. 'सॉरी' के भारतीय समाज में आने से पहले केवल माफी से काम नहीं चलता था. आपको बकायदा एक पूरा वाक्‍य, 'मैं इसके लिए माफी चाहता हूं/शर्मिंदा हूं' कहना होता था...

मई 24, 2018, 07:34 AM IST
डियर जिंदगी : रिश्‍तों में अभिमान कैसे कम होगा!

डियर जिंदगी : रिश्‍तों में अभिमान कैसे कम होगा!

अभिमान एक किस्‍म का मानसिक विकार है, इससे मनुष्‍य एकदम अछूता रहे, यह लगभग असंभव है, बस कोशिश की जा सकती है कि इसकी मात्रा दाल में नमक जितनी हो.

मई 23, 2018, 07:39 AM IST
डियर जिंदगी: कैसे सोचते हैं हम…

डियर जिंदगी: कैसे सोचते हैं हम…

दिमाग ने एक बार सोच लिया, जी ये तो बड़ा ही भारी काम है, तो यकीन मानिए, वह कभी आसान नहीं हो सकता...

मई 22, 2018, 07:43 AM IST
डियर जिंदगी : दिल की सुनो, उसे सब पता है

डियर जिंदगी : दिल की सुनो, उसे सब पता है

गलती तो हमारी होती है कि हम उसकी सुनते ही नहीं. हम अपने दिमाग और सपनों को अक्‍सर गणित की दुनिया में उलझाए रखते हैं. हम चीजों के पीछे 'पागल' नहीं होते और बिना पागलपन के दुनिया में कुछ भी हासिल नहीं किया जा सकता.

मई 21, 2018, 08:13 AM IST
डियर जिंदगी : ‘रंग’ कहां गया, कैसे आएगा…

डियर जिंदगी : ‘रंग’ कहां गया, कैसे आएगा…

हम समाज के रूप में हमेशा अपने पड़ोसी के प्रति सजग, उसे साथ लेकर चलने वाले रहे हैं. हम सदियों से अविश्‍वसनीय विविधता के बाद भी एक रसरंगी समाज के रूप में रह रहे हैं.

मई 18, 2018, 08:24 AM IST
डियर जिंदगी : सुख और स्मृति का कबाड़

डियर जिंदगी : सुख और स्मृति का कबाड़

असल में हमें जिंदगी का जो हिस्‍सा पसंद नहीं, वह धीरे-धीरे नापसंद की सूची से खिसकते हुए बदसूरत की ओर बढ़ जाता है. 

मई 17, 2018, 08:06 AM IST
बच्‍चों की आत्‍महत्‍या : 'दूसरे' के सपनों का संकट

बच्‍चों की आत्‍महत्‍या : 'दूसरे' के सपनों का संकट

जब आप दुनिया के महानतम लेखकों, वैज्ञानिकों , संगीतज्ञों , अविष्‍कारकों के बारे में पढ़ते हैं, तो आप इस बात से  असहमत नहीं हो सकते. यह सूची असल में एक ठोस दस्‍तावेज है. जिसमें किसी को मिली कामयाबी में उसकी प्रतिभा जितना योगदान ही उस संकल्‍प का था, जिस पर बच्‍चा परिवार मित्रों के सहयोग से टिक सका. ऐसे परिवार जिनने उसे 'नई' राह चुनने का हौसला दिया. 

मई 16, 2018, 09:02 AM IST
डियर जिंदगी: थोड़ी देर 'बैठने' का वक्‍त निकालिए!

डियर जिंदगी: थोड़ी देर 'बैठने' का वक्‍त निकालिए!

घर पर टीवी देखना, अकेले में लैपटॉप पर फिल्‍म देखना. मोबाइल पर चैटिंग करना यह खुद के लिए दिया गया समय नहीं है. यह खुद को दिया गया समय भी नहीं है. स्‍वयं को दिया गया समय, तो केवल वह है, जिसमें आप खुद से संवाद करें. खुद से बात करें. अपने मन के दर्पण के सामने अपना 'रिव्‍यू ' करें. 

मई 15, 2018, 06:39 AM IST
डियर जिंदगी: कौन है जो अच्‍छाई को चलन से बाहर कर रहा है…

डियर जिंदगी: कौन है जो अच्‍छाई को चलन से बाहर कर रहा है…

अर्थशास्‍त्र के नियम की जिंदगी के कॉलम में चर्चा इसलिए हो रही है, क्‍योंकि ग्रेशम का दिया यह नियम अर्थशास्‍त्र की हदों को पार करते हुए जिंदगी में बाढ़ के पानी की तरह दाखिल हो गया है. बाढ़ का पानी जिसके आने की सूचना तो सबको होती है, लेकिन लोग उसे जानते हुए भी अनदेखा किए रहते हैं. मानकर चलते हैं, अरे! यहां तक इस बार नहीं आएगा.

मई 14, 2018, 08:54 AM IST
डियर जिंदगी: आक्रामक होने का अर्थ...

डियर जिंदगी: आक्रामक होने का अर्थ...

हमें समझना होगा कि व्‍यवहार, कामकाज में योग्‍य, प्रतिस्‍पर्धी होने का अर्थ बाहरी 'शोर' से नहीं लगाया जाना चाहिए.

मई 11, 2018, 07:59 AM IST
डियर जिंदगी: बच्‍चों को यह हुआ क्‍या है...

डियर जिंदगी: बच्‍चों को यह हुआ क्‍या है...

युवाओं में चीजों को बर्दाश्‍त करने की क्षमता तेजी से कम हो रही है. वह संघर्ष का रास्‍ता छोड़कर पलायन की ओर जा रहे हैं...

मई 10, 2018, 07:42 AM IST
डियर जिंदगी : इतना ‘नमक’ कहां से आ रहा है!

डियर जिंदगी : इतना ‘नमक’ कहां से आ रहा है!

जिंदगी बूमरैंग के सिद्धांत पर काम करती है. इस नाते हम अपनी नियति के सबसे बड़े लेखक हैं. हम खुद को जैसा देखना चाहते हैं, उसमें और हमारे करने में अंतर नहीं होना चाहिए, यह अंतर सबसे बड़ी बाधा है.

मई 9, 2018, 07:51 AM IST
डियर जिंदगी : बंद दरवाजा…

डियर जिंदगी : बंद दरवाजा…

अगर आप चाहते हैं कि जब आप परेशानी में हों तो लोग तुरंत आपकी मदद को आगें आएं, तो सबसे पहले आपको खुद ऐसा करने का अभ्‍यास करना होगा, आदत डालनी होगी.

मई 8, 2018, 07:29 AM IST
डियर जिंदगी : विश्‍वास में कितना विश्‍वास…

डियर जिंदगी : विश्‍वास में कितना विश्‍वास…

जिंदगी थोकभर लोगों के सहारे नहीं चलती. वह तो चुनिंदा लोगों के यकीन पर टिकी होती है.

मई 7, 2018, 07:49 AM IST
डियर जिंदगी : तनाव से मुक्ति के रास्‍ते…

डियर जिंदगी : तनाव से मुक्ति के रास्‍ते…

खुद को आशा और आस्‍थावान बनाइए. जो जीवन में आशा, आस्‍था से भरा है, उसकी नजर आज पर नहीं कल पर होती है. बच्‍चों आज से अधिक कल हैं, इसलिए उनमें गहरे सब्र, स्‍नेह और विश्‍वास का निवेश कीजिए.  

मई 4, 2018, 08:46 AM IST
डियर जिंदगी: परवरिश VS बच्‍चे क्‍या चाहते हैं...

डियर जिंदगी: परवरिश VS बच्‍चे क्‍या चाहते हैं...

हमें यह गहराई से समझना होगा कि बच्‍चे के लिए हमें प्रयास तो पूरा करना है, लेकिन अगर हमारे प्रयासों के बाद भी वह वैसा नहीं कर पा रहा, जो हम चाहते हैं, तो हमें धैर्य रखना होगा. बच्‍चे के प्रति संयम दिखाना होगा. उसे हर बात में टोकने, अपमानित करने की जगह इस बात पर जोर देना होगा कि उसे आप पर पूरा भरोसा है.

मई 3, 2018, 07:21 AM IST

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close