66 वस्तुओं पर जीएसटी घटाई गई, क्या हुआ सस्ता, पढ़िए पूरी LIST

66 वस्तुओं पर जीएसटी घटाई गई, क्या हुआ सस्ता, पढ़िए पूरी LIST

 माल एवं सेवा कर (जीएसटी) पर केंद्र तथा राज्यों के अधिकार प्राप्त मंच ने विभिन्न उद्योगों की मांग पर 66 तरह की वस्तुओं और मदों पर पहले निर्धारित कर की दरों में संशोधन कर उन्हें कम रखने का निर्णय किया. इन मदों में अचार, मुरब्बा और मस्टर्ड सॉस जैसे खाने के उत्पाद तथा 100 रुपये मूल्य तक के सिनेमा टिकट शामिल हैं. इसके साथ ही परिषद ने छोटे उत्पादकों, व्यापारियों और रेस्तरां परिचालकों को राहत देते हुए 75 लाख रपये सालाना तक कारोबार करने वाले कारोबारियों को कंपोजिशन (एकमुश्त कर) योजना की सुविधा प्रदान की है. जीएसटी पहली जुलाई से लागू करने का लक्ष्य है.

66 वस्तुओं की जीएसटी दर में की गई कमी, फिल्म देखना भी हुआ सस्ता

66 वस्तुओं की जीएसटी दर में की गई कमी, फिल्म देखना भी हुआ सस्ता

नई दिल्लीः वस्तु एवं सेवा कर यानि जीएसटी पर केंद्र तथा राज्यों के अधिकार प्राप्त मंच ने 66 तरह की वस्तुओं और मदों पर पहले निर्धारित कर की दरों में आज संशोधन कर उन्हें कम रखने का नि

एक जुलाई से होगा लागू GST! ये चीजें होंगी सस्ती, ये होंगी महंगी

एक जुलाई से होगा लागू GST! ये चीजें होंगी सस्ती, ये होंगी महंगी

वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) व्यवस्था में टीवी, एसी, वॉशिंग मशीन, रेफ्रिजरेटर और एरेटेड ड्रिंक्स जैसे उत्पाद महंगे होंगे, जबकि स्मार्टफोन, छोटी कारें तथा रोजमर्रा के इस्तेमाल के उत्पाद सस्ते होंगे. जीएसटी को एक जुलाई से लागू करने की योजना है. जीएसटी परिषद द्वारा करीब 1,200 वस्तुओं और 500 सेवाओं की दरों को अंतिम रूप दिया गया है. इनके विश्लेषण से पता चलता है कि साबुन और दंतमंजन जैसे रोजमर्रा के उत्पाद जीएसटी में सस्ते हो जाएंगे. वहीं ताजा फल, सब्जियां, दालें, ब्रेड और दूध को किसी भी टैक्स से छूट दी गई है.

सेवाओं के लिए जीएसटी दरें तय, शिक्षा और हेल्थकेयर पर नहीं लगेगा कोई टैक्स

सेवाओं के लिए जीएसटी दरें तय, शिक्षा और हेल्थकेयर पर नहीं लगेगा कोई टैक्स

शिक्षा व स्वास्थ्य पर नई टैक्स सिस्टम जीएसटी में भी कोई टैक्स नहीं लगेगा जबकि सेवाओं पर चार अलग अलग दरों से जीएसटी लगाने का फैसला किया गया है. जीएसटी परिषद ने वस्तु व सेवा कर (जीएसटी) प्रणाली के तहत सेवाओं के लिए दरों को आज अंतिम रूप दिया. इसके तहत एकोनामी क्लास में हवाई यात्रा सहित परिवहन पर 5% जीएसटी लगेगा.

GST परिषद ने टैक्स की 4 दरों पर किया विचार विमर्श, हो सकती हैं 6, 12, 18 और 26%

GST परिषद ने टैक्स की 4 दरों पर किया विचार विमर्श, हो सकती हैं 6, 12, 18 और 26%

वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) परिषद ने वस्तुओं और सेवाओं की संभावित दरों पर आज विचार विमर्श किया। इसमें जीएसटी के लिए चार स्तर की दरें रखने की संभावना भी शामिल है जो 6, 12, 18 और 26 प्रतिशत रखी जा सकती हैं। इसमें सबसे निचली दरें आवश्यक वस्तुओं के लिए तथा सबसे उंची दर विलासिता के सामानों के लिए होगी। इसके अलावा परिषद ने अतिरिक्त उपकर लगाने के प्रस्ताव पर भी विचार विमर्श किया।