isro

एंट्रिक्स-देवास करार: इसरो के पूर्व प्रमुख माधवन नायर को कोर्ट ने बतौर आरोपी किया सम्मन

एंट्रिक्स-देवास करार: इसरो के पूर्व प्रमुख माधवन नायर को कोर्ट ने बतौर आरोपी किया सम्मन

एंट्रिक्स-देवास करार के जरिए सरकारी खजाने को 578 करोड़ रुपए का कथित नुकसान पहुंचाने के मामले में नायर को सम्मन भेजा गया है.

Sep 16, 2017, 11:40 PM IST
ISRO को झटका, निजी क्षेत्र के सहयोग से तैयार पहले सैटेलाइट  IRNSS-1H का प्रक्षेपण विफल

ISRO को झटका, निजी क्षेत्र के सहयोग से तैयार पहले सैटेलाइट IRNSS-1H का प्रक्षेपण विफल

आईआरएनएसएस-1एच भारतीय नौवहन उपग्रह प्रणाली के एक उपग्रह के स्थानापन्न के तौर पर लांच किया गया था. भारतीय उपग्रह प्रणाली एनएवीआईसी को साधारण शब्दों में भारत की जीपीएस प्रणाली कह सकते हैं.

Aug 31, 2017, 08:04 PM IST
नौवहन उपग्रह IRNSS-1H आज होगा लॉन्च, IRNSS-1A की जगह लेगा

नौवहन उपग्रह IRNSS-1H आज होगा लॉन्च, IRNSS-1A की जगह लेगा

आईआरएनएसएस-1एच नौवहन उपग्रह आईआरएनएसएस-1ए की जगह लेगा, जिसकी तीन रूबीडियम परमाणु घड़ियों (एटॉमिक क्लॉक) ने काम करना बंद कर दिया था. आईआरएनएसएस-1ए ‘नाविक’ श्रृंखला के सात उपग्रहों में शामिल है. 

Aug 31, 2017, 07:58 AM IST
निजी मल्टी-मीडिया को पहुंचाया 578 करोड़ का लाभ, आरोपपत्र पर संज्ञान लेगी अदालत

निजी मल्टी-मीडिया को पहुंचाया 578 करोड़ का लाभ, आरोपपत्र पर संज्ञान लेगी अदालत

एंट्रिक्स-देवास सौदा मामले में इसरो के पूर्व अध्यक्ष जी. माधवन नायर और अन्य लोगों के खिलाफ दायर आरोपपत्र पर एक विशेष अदालत अगले महीने संज्ञान लेगी.

Aug 20, 2017, 04:54 PM IST
Zee जानकारी : 31 सैटेलाइट लॉन्च कर भारत ने एक और वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया

Zee जानकारी : 31 सैटेलाइट लॉन्च कर भारत ने एक और वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया

-ISRO ने PSLV-C38 नामक रॉकेट की मदद से 31 सैटेलाइट लॉन्च करके शुक्रवार को एक और रिकॉर्ड बनाया है। -इससे पहले ISRO ने 15 फरवरी को एक साथ 104 सेटेलाइट अंतरिक्ष में भेजकर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया था। -आज ISRO ने PSLV-C38 के ज़रिए कार्टोसैट 2-S के साथ 30 नैनो सैटेलाइट अंतरिक्ष में भेजे। इनका कुल वज़न 955 किलोग्राम है।

Jun 24, 2017, 12:12 AM IST
कार्टोसेट-2 और 30 नैनो सेटेलाइट को लेकर थोड़ी देर बाद अंतरिक्ष में जाएगा PSLV-C38

कार्टोसेट-2 और 30 नैनो सेटेलाइट को लेकर थोड़ी देर बाद अंतरिक्ष में जाएगा PSLV-C38

चेन्नई. 30 सह-उपग्रहों के साथ कार्टोसैट-2 सीरीज के उपग्रह के प्रक्षेपण की 28 घंटों की उल्टी गिनती शुरू हो गई है. इस क्रम में धरती के अवलोकन के लिये प्रक्षेपित किए जा रहे 712 किलोग्राम वजनी कार्टोसैट-2 सीरीज के इस उपग्रह के साथ करीब 243 किलोग्राम वजनी 30 अन्य सह उपग्रहों को भी एक साथ प्रक्षेपित किया जाएगा.

Jun 23, 2017, 08:49 AM IST
कार्टोसेट-2 और 30 नैनो सेटेलाइट को लेकर 23 जून को अंतरिक्ष में जाएगा PSLV

कार्टोसेट-2 और 30 नैनो सेटेलाइट को लेकर 23 जून को अंतरिक्ष में जाएगा PSLV

बेंगलूरू. भारत के ध्रुवीय उपग्रह प्रक्षेपण यान (पीएसएलवी) से 23 जून को आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा से कार्टोसेट-2 सीरीज के उपग्रह का प्रक्षेपण किया जाएगा जिसके साथ 30 और उपग्रह अंतरिक्ष में जाएंगे.

Jun 22, 2017, 11:33 AM IST
नेविगेशन सैटेलाइट की घड़ियां कर रहीं टिकटिक, इसरो करेगा सिस्टम का विस्तार

नेविगेशन सैटेलाइट की घड़ियां कर रहीं टिकटिक, इसरो करेगा सिस्टम का विस्तार

भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी द्वारा रोज सुबह नौवहन उपग्रह प्रणाली एनएवीआईसी की घड़ी से टिक-टिक की आवाज आने की घोषणा के बाद एजेंसी के वैज्ञानिक चैन की सांस लेते हैं. एनएवीआईसी के छह उपग्रहों में दो के बदले केवल एक रूबीडियम घड़ी को चालू किया गया है. घोषणा का तात्पर्य यह है कि छह उपग्रहों में लोकेशन संबंधित आंकड़े प्रदान करने वाली परमाणु घड़ी सामान्य ढंग से काम कर रही है. पहले नौवहन उपग्रह आईआरएनएसएस-1ए के तीन परमाणु घड़ियां पहले ही नाकाम हो चुकी हैं.

Jun 12, 2017, 09:33 PM IST
जानिए, GSLV मार्क तीन की खासियतें- संचार क्षेत्र में गेम चेंजर साबित होगा यह सैटेलाइट

जानिए, GSLV मार्क तीन की खासियतें- संचार क्षेत्र में गेम चेंजर साबित होगा यह सैटेलाइट

इसरो ने कामयाबी का इतिहास रचते हुए सोमवार को शाम पांच बजकर 28 मिनट पर जीएसएलवी मार्क तीन का सफलतापूर्वक प्रक्षेपण किया. इसरो की इस सफलता ने भारत को उन चुनिंदा देशों-अमेरिका, रूस, चीन और जापान की श्रेणी में लाकर खड़ा दिया जो भारी भरकम सैटेलाइट को अंतरिक्ष में भेजने की क्षमता रखते हैं. इस कामयाबी के बाद भारत के पास अंतरिक्ष की दुनिया में नए कीर्तिमान स्थापित करने के अवसर होंगे. भारत अब अंतरिक्ष में मानवयुक्त मिशन भेज सकेगा. इसके अलावा व्यावसायिक सैटेलाइट प्रक्षेपण के लिए दुनिया में भारत की मांग और बढ़ेगी.

Jun 5, 2017, 06:33 PM IST
भारत के सबसे भारी रॉकेट से जीसैट-19 का सफल प्रक्षेपण, संचार उपग्रह के लिए बने आत्मनिर्भर

भारत के सबसे भारी रॉकेट से जीसैट-19 का सफल प्रक्षेपण, संचार उपग्रह के लिए बने आत्मनिर्भर

भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी, इसरो आज यानी सोमवार (5 जून) को अपने सबसे भारी रॉकेट के जरिए संचार उपग्रह जीसैट-19 को लॉन्च कर दिया.

Jun 5, 2017, 05:45 PM IST
इसरो अंतरिक्ष में एक और नई कामयाबी की उड़ान के लिए तैयार, सबसे भारी रॉकेट से छोड़ेगा जीसैट-19 संचार उपग्रह

इसरो अंतरिक्ष में एक और नई कामयाबी की उड़ान के लिए तैयार, सबसे भारी रॉकेट से छोड़ेगा जीसैट-19 संचार उपग्रह

 भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी, इसरो सोमवार (पांच जून) को अपने सबसे भारी रॉकेट के जरिए संचार उपग्रह जीसैट-19 को लॉन्च करेगा. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के मुताबिक, जीएसएलवी मार्क3 (जीएसएलवी-एमके3) रॉकेट को पांच जून को शाम 5.28 बजे छोड़ा जाएगा. यह रॉकेट भौगोलिक स्थानांतरण कक्षा (जीटीओ) तक चार टन वजन ढोने में सक्षम है.

Jun 5, 2017, 09:40 AM IST
अंतरिक्ष में भारत की एक और उड़ान, इसरो 5 जून को छोड़ेगा जीसैट-19 संचार सैटेलाइट

अंतरिक्ष में भारत की एक और उड़ान, इसरो 5 जून को छोड़ेगा जीसैट-19 संचार सैटेलाइट

भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी, इसरो ने मंगलवार (30 मई) को कहा कि पांच जून को अपने सबसे भारी रॉकेट के जरिए संचार उपग्रह जीसैट-19 को लॉन्च किया जाएगा. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के मुताबिक, जीएसएलवी मार्क3 (जीएसएलवी-एमके3) रॉकेट को पांच जून को शाम 5.28 बजे छोड़ा जाएगा. यह रॉकेट भौगोलिक स्थानांतरण कक्षा (जीटीओ) तक चार टन वजन ढोने में सक्षम है. रॉकेट जीसैट-19 उपग्रह को ले जाएगा, जिसका वजन 3,136 किलोग्राम है. इसे आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा से छोड़ा जाएगा.

मई 31, 2017, 12:40 AM IST

DNA: इसरो और नासा मिलकर बना रहे हैं सबसे आधुनिक और महंगा सैटेलाइट

NASA Administrator Charles Bolden and ISRO Chairman K.Radhakrishnan signed 2 documents to launch the NASA-ISRO satellite mission. They are to launch an earth monitoring satellite scheduled for launching in 2021.

मई 25, 2017, 11:50 PM IST
Zee जानकारी: इसरो और नासा मिलकर बना रहे हैं दुनिया का सबसे महंगा और आधुनिक सैटेलाइट

Zee जानकारी: इसरो और नासा मिलकर बना रहे हैं दुनिया का सबसे महंगा और आधुनिक सैटेलाइट

अब अमेरिका जैसे देश अंतरिक्ष में भारत के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। भारत की अंतरिक्ष एजेंसी ISRO और अमेरिका की अंतरिक्ष एजेंसी NASA मिलकर... दुनिया का सबसे महंगा और सबसे आधुनिक सैटेलाइट बना रहे हैं। इस सैटेलाइट का नाम है NASA-ISRO Synthetic Aperture Radar यानी NISAR.

मई 25, 2017, 11:27 PM IST
इसरो जून में सबसे भारी रॉकेट छोड़ने की तैयारी में, 12 सालों की मेहनत का नतीजा

इसरो जून में सबसे भारी रॉकेट छोड़ने की तैयारी में, 12 सालों की मेहनत का नतीजा

दक्षिण एशिया उपग्रह के सफल प्रक्षेपण से उत्साहित भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) अब अपने सबसे भारी रॉकेट जीएसएलवी मार्क-3 को छोड़ने की तैयारी में जुट गया है. इसरो द्वारा निर्मित यह अब तक का सबसे वजनी रॉकेट है, जिसका वजन 640 टन है. इस रॉकेट की सबसे बड़ी खासियत यह है कि रॉकेट के मुख्य व सबसे बड़े क्रायोजेनिक इंजन को इसरो के वैज्ञानिकों ने भारत में ही विकसित किया है, जो पहली बार किसी रॉकेट को उड़ने की शक्ति प्रदान करेगा.

मई 15, 2017, 08:10 PM IST
Zee जानकारी: कूटनीति की कक्षा में स्थापित हुआ भारत का सैटेलाइट

Zee जानकारी: कूटनीति की कक्षा में स्थापित हुआ भारत का सैटेलाइट

SAARC देशों के लिए एक साझा Satellite लॉन्च करने का Idea सबसे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने ही दिया था। वर्ष 2014 में जब भारत के PSLV रॉकेट ने 4 देशों के 5 Satellites को अंतरिक्ष में स्थापित किया था तब प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि वैज्ञानिकों को एक ऐसा Satellite बनाना चाहिए, जिससे SAARC में शामिल सभी देशों को फायदा पहुंचे और आज 3 वर्षों के बाद प्रध

मई 6, 2017, 12:35 AM IST

'सार्क सैटेलाइट' से क्यों डरा पाकिस्तान?

https://goo.gl/fCugXC Daily News and Analysis: https://goo.gl/B8eVsD Manthan: https://goo.gl/6q0wUN Fast n Facts: https://goo.gl/kW2MYV Your daily dose of entertainment: https://goo.gl/ZNEfhw Sports roundup: https://goo.gl/KeeYjf Aapke Sitare: https://goo.gl/X56YSa Bharat Bhagya Vidhata: https://goo.gl/QqJiOV Taal Thok Ke : https://goo.gl/yiV6e7 Subscribe to our channel at https://goo.gl/qKzmWg Check out our website: http://www.zeenews.com Connect with us at our social media handles: Facebook: https://www.facebook.com/ZeeNews Twitter: https://twitter.com/ZeeNews Google Plus: https://plus.google.com/+Zeenews

मई 5, 2017, 09:54 PM IST
पीएम मोदी ने साउथ एशिया सैटेलाइट के प्रक्षेपण को बताया ऐतिहासिक, कहा दो साल में किया वादा पूरा

पीएम मोदी ने साउथ एशिया सैटेलाइट के प्रक्षेपण को बताया ऐतिहासिक, कहा दो साल में किया वादा पूरा

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सार्क सैटेलाइट GSAT9 के प्रक्षेपण को ऐतिहासिक बताया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साउथ एशिया संचार उपग्रह के सफल लॉन्चिंग के बाद 6 सार्क देशों के राष्ट्राध्यक्षों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए इसकी जानकारी दी.

मई 5, 2017, 09:32 PM IST
भारत की बड़ी छलांग:साउथ एशिया सैटेलाइट लांच, सार्क देशों को भारत का गिफ्ट, पीएम मोदी ने दी बधाई,  देखें VIDEO

भारत की बड़ी छलांग:साउथ एशिया सैटेलाइट लांच, सार्क देशों को भारत का गिफ्ट, पीएम मोदी ने दी बधाई, देखें VIDEO

भारत ने आज सफलतापूर्वक दक्षिण एशिया संचार उपग्रह का प्रक्षेपण किया जिसका पूरी तरह वित्त पोषण भारत कर रहा है और इसे दक्षिण एशिया के पड़ोसी देशों के लिए ‘अमूल्य उपहार’बताया जा रहा है जो क्षेत्र के देशों को संचार और आपदा के समय में सहयोग देगा.इस सैटेलाइट के लॉन्च से दक्षिण एशियाई देशों के बीच संपर्क को बढ़ावा मिलेगा.पीएम मोदी ने इस बड़ी सफलता पर इसरो को बधाई दी है.

मई 5, 2017, 05:29 PM IST