रिजर्व बैंक जल्दी ही ला रहा है 100 रुपये का नया नोट, पुराने नोट रहेंगे वैध

रिजर्व बैंक जल्दी ही ला रहा है 100 रुपये का नया नोट, पुराने नोट रहेंगे वैध

रिजर्व बैंक जल्दी ही 100 रुपये का नया नोट चलन में लाएगा। यह महात्मा गांधी श्रृंखला-2005 की डिजाइन के अनुरूप होगा।आरबीआई ने एक अधिसूचना में कहा, ‘रिजर्व बैंक जल्दी ही महात्मा गांधी श्रृंखला-2005 में 100 रुपये के नये नोट जारी करेगा। इसमें इंसेट लेटर ‘आर’ दोनों नंबर पैनलो में होगी। इस पर रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल के हस्ताक्षर होंगे।’

अब ATM से एक दिन में निकाल पाएंगे 4500 रुपये, RBI ने बढ़ाई लिमिट

अब ATM से एक दिन में निकाल पाएंगे 4500 रुपये, RBI ने बढ़ाई लिमिट

नोटबंदी की समय सीमा खत्‍म होने के बाद केंद्र सरकार ने लोगों को नए साल का तोहफा दिया है। नोटबंदी से परेशान जनता को नए साल पर राहत देते हुए एटीएम से धन निकासी की सीमा बढ़ाकर 4500 रुपये कर दी गई है। अब आप रविवार यानी एक जनवरी, 2017 से एक दिन में एटीएम से 4500 रुपये निकाल पाएंगे।

अघोषित आय खपाने वालों पर RBI सख्‍त, अब PAN नंबर के बिना बैंक खातों से नहीं निकाल सकेंगे पैसे

अघोषित आय खपाने वालों पर RBI सख्‍त, अब PAN नंबर के बिना बैंक खातों से नहीं निकाल सकेंगे पैसे

अघोषित आय खपाने वालों पर अब रिजर्व बैंक ने सख्‍त रुख अपना लिया है। बैंकिंग चैनल का दुरुपयोग कर अपना बेहिसाबी धन जमा कराने वाले लोगों पर शिकंजा कसते हुए रिजर्व बैंक ने ऐसे बैंक खातों से निकासी पर अंकुश लगा दिया जिनमें पांच लाख रुपये से अधिक की राशि जमा है और इन खातों में दो लाख रुपये से अधिक राशि 9 नवंबर के बाद जमा की गई।

कैश लेने के लिए बैंक, एटीएम के बाहर लग रहीं लंबी कतारें

नकदी की समस्या से लोग अभी भी परेशान है और सुबह से ही एटीएम और बैंकों के बाहर कभी ना खत्म होने वाली कतारें लग गई हैं। लोग अपनी रोजमर्रा की जरूरतों के नकदी चाहते हैं और चलन से बाहर किए गए 500 और 1000 के नोटों के बदले मान्य नोट लेने के लिए कतारों में खड़े हैं।

नोटबंदी: लंबी कतार से निपटने को नया फॉर्मूला- रुपये निकालने के लिए नहीं बल्कि नोट बदलने पर लगेगी स्‍याही

नोटबंदी: लंबी कतार से निपटने को नया फॉर्मूला- रुपये निकालने के लिए नहीं बल्कि नोट बदलने पर लगेगी स्‍याही

नोटबंदी के बाद देशभर के बैंकों के बाहर लोगों की लंबी कतारों से निपटने के लिए सरकार ने नया फॉर्मूला निकाला है। नोटबंदी के बाद आम लोगों की परेशानी को ध्यान में रखते हुए सरकार ने अप्रचलित नोटों को बदलवाने वालों की अंगुली पर अमिट स्याही लगाने तथा जनधन खातों में संदिग्ध जमाओं की निगरानी करने का फैसला किया है। हालांकि, भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने इस मसले पर यह साफ किया है कि बैंकों की लाइनों में लगे केवल उन लोगों की उंगली में स्याही लगाई जाएगी जो पुराने नोट को एक्सचेंज करने के लिए बैंक शाखाओं पर आएंगे। आरबीआई ने यह भी कहा है कि पैसा निकालने वाले लोगों की उंगलियों पर स्याही लगाने की जरूरत नहीं है।

मसाला बांड से बैंकों की पूंजी की दिक्कत कम होगी: फिच

मसाला बांड से बैंकों की पूंजी की दिक्कत कम होगी: फिच

भारतीय रिजर्व बैंक की बैंकों को मसाला बांड जारी करने की अनुमति देने की पहल से बैंकों के लिए अतिरिक्त पहली और दूसरी श्रेणी की पूंजी जुटाने तथा निवेशक दायरा बढ़ाने में आने वाली दिक्कतें दूर होंगी। यह बात फिच ने कही।

उर्जित पटेल लगातार दूसरी बार बने रिजर्व बैंक के डिप्टी गवर्नर

उर्जित पटेल लगातार दूसरी बार बने रिजर्व बैंक के डिप्टी गवर्नर

सरकार ने उर्जित पटेल को तीन साल की अवधि के लिये फिर से रिजर्व बैंक का डिप्टी गवर्नर नियुक्त किया है। पटेल का कार्यकाल तीन साल के लिये बढ़ाया जाना काफी अहमियत रखता है, क्योंकि इससे पहले किसी भी डिप्टी गवर्नर को दूसरा कार्यकाल नहीं मिला।

रिजर्व बैंक ने 2015-16 का आर्थिक वृद्धि अनुमान घटाकर 7.4 फीसदी किया

रिजर्व बैंक ने 2015-16 का आर्थिक वृद्धि अनुमान घटाकर 7.4 फीसदी किया

रिजर्व बैंक ने मंगलवार को 2015-16 के लिए सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) वृद्धि दर का अपना अनुमान 7.6 प्रतिशत से घटाकर 7.4 प्रतिशत कर दिया और कहा कि वित्त वर्ष की शेष अवधि में इसमें तेजी आने की उम्मीद है।

जानें, 500 और 1000 रुपये के नए नोट के बारे में

जानें, 500 और 1000 रुपये के नए नोट के बारे में

रिजर्व बैंक अतिरिक्त खूबियों के साथ 500 रुपये और 1000 रुपये के नए बैंक नोट जारी करेगा। ये नोट ऐसे होंगे जिसे दृष्टिहीन भी छूकर पहचान सकेंगे। आरबीआई ने एक विज्ञप्ति में कहा, दृष्टिहीन व्यक्ति बैंक नोटों की आसानी से पहचान कर सके, इसके लिए दो और खूबियां जोड़ी गई हैं। बैंक का कहना है कि सभी मौजूदा नोट भी चलन में बने रहेंगे।

बैंकिंग प्रणाली के लिहाज से SBI और ICICI बैंक महत्वपूर्ण : RBI

बैंकिंग प्रणाली के लिहाज से SBI और ICICI बैंक महत्वपूर्ण : RBI

रिजर्व बैंक ने सार्वजनिक क्षेत्र के स्टेट बैंक और निजी क्षेत्र के आईसीआईसीआई बैंक को बैंकिंग प्रणाली के लिहाज से महत्वपूर्ण बैंक चिन्हित किया है और इनमें किसी भी प्रकार की विफलता की स्थिति में वित्तीय सेवाओं को बाधित होने से बचाने के लिये उच्च स्तरीय निगरानी व्यवस्था पर जोर दिया है।

श्रमिक संगठन ने पेमेंट बैंक का विरोध किया

बैंक कर्मचारियों के एक प्रमुख संगठन ने भुगतान बैंक स्थापित किये जाने का विरोध किया और कहा कि उनके आने से सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के हित प्रभावित होंगे।

रिजर्व बैंक ने दस लाख रुपये तक के होम लोन नियमों में ढील दी

रिजर्व बैंक ने दस लाख रुपये तक के होम लोन नियमों में ढील दी

सस्ती आवासीय परियोजनाओं को प्रोत्साहित करने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक ने दस लाख रुपये तक के आवासीय कर्ज के लिए नियमों में ढील दी है। केंद्रीय बैंक ने इसके तहत बैंकों को स्टांप ड्यूटी व पंजीकरण शुल्क को भी मकान की लागत में शामिल करने की अनुमति दे दी है।

शिक्षा ऋण की गुणवत्ता सुधारने का प्रयास कर रहा है रिजर्व बैंक

शिक्षा ऋण की गुणवत्ता सुधारने का प्रयास कर रहा है रिजर्व बैंक

रिजर्व बैंक के गवर्नर रघुराम राजन ने कहा कि केंद्रीय बैंक डिफाल्ट की ऊंची दर के बावजूद शिक्षा ऋण की गुणवत्ता सुधारने का प्रयास कर रहा है। राजन ने यहां भारतीय विज्ञान संस्थान के परिसर में श्री विट्ठल एन चंदावरकर स्मृति व्याख्यान दिया। उन्होंने शिक्षा ऋण पर एक सवाल के जवाब में कहा कि मोटरसाइकिल ऋण की वापसी नहीं करने पर उसको जब्त किया जा सकता है, लेकिन शिक्षा ऋण के साथ ऐसा करना संभव नहीं है।

31 मार्च के बाद 2005 के पहले के छपे नोट (रुपया) नहीं चलेंगे, पहले के सभी नोट वापस लेगा RBI

भारतीय रिजर्व बैंक ने आज कहा कि 2005 से पहले जारी सभी करेंसी नोट 31 मार्च 2014 के बाद वापस लिए जाएंगे। यानी 2005 से पहले के छपे सभी नोट रद्दी हो जाएंगे।

नोटों पर कुछ न लिखें, महंगा पड़ सकता है नोट पर लिखना

भारतीय रिजर्व बैंक के डिप्टी गवर्नर के सी चक्रवर्ती ने आज यहां कहा कि लोगों को नोटों पर कुछ न लिखने के लिए जागरुक किया जा रहा है। मगर यह अफवाह गलत है कि पहली जनवरी से बैंक उन नोटों को स्वीकार नहीं करेंगे, जिन पर कुछ लिखा होगा।

नीतिगत ब्याज दरों में कमी का पक्ष रखते रहेंगे: चिदंबरम

वित्तमंत्री पी चिदंबरम ने मंगलवार को कहा कि मुद्रास्फीति में गिरावट तथा आर्थिक वृद्धि को बढ़ावा देने की जरूरत को ध्यान में रखते हुए सरकार भारतीय रिजर्व बैंक की ओर से नीतिगत ब्याज दर में कमी के लिए तर्क देना जारी रखेगी।