tinka tinka

अब जिंदगी जीती दिख रहीं राजस्थान की जेलें...

अब जिंदगी जीती दिख रहीं राजस्थान की जेलें...

राजस्थान की सेंट्रल जेल 40.76 वर्ग एकड़ में फैली है. इस जेल में करीब 40 बैरक हैं. इस समय बन्दियों की संख्या 2000 है जबकि क्षमता 1673 है.

Nov 24, 2018, 12:16 AM IST
जेलों और सत्ता के बीच संवाद का डर

जेलों और सत्ता के बीच संवाद का डर

बिहार की हजारीबाग जेल में अपने अनुभवों पर आधारित किताब 'माई ईयर्स इन एन इंडियन प्रिजन' के जरिए मेरी टेलर ने भारतीय जेलों के हर कोने को पूरी सच्चाई से अपने शब्दों में पिरो दिया है

Sep 5, 2018, 12:11 AM IST
महिलाएं और ओपन जेल : तिहाड़ से उम्मीद की एक किरण

महिलाएं और ओपन जेल : तिहाड़ से उम्मीद की एक किरण

भारत की जेलों में इस समय करीब 17,000 महिलाएं कैद हैं. इनमें से करीब 6000 आजीवन कारावास पर हैं. देश में महिलाओं के लिए कुल 18 जेलें हैं और सिर्फ 4 जेलें खुली जेलें हैं.

Aug 7, 2018, 02:09 PM IST
'संजू' और वे लोग, जिनके रिश्ते जेल के अंदर हैं...

'संजू' और वे लोग, जिनके रिश्ते जेल के अंदर हैं...

जब फिल्‍में जेल जैसे विषय को असंवेदनशीलता के साथ दिखाती हैं तो वे उस मकसद को तोड़ देती हैं, जिसके लिए फिल्‍म का निर्माण किया गया था. 

Jun 15, 2018, 11:47 AM IST
मदर्स डे: जेल में मां, बच्चे और सजा

मदर्स डे: जेल में मां, बच्चे और सजा

पूरे देश में करीब 4 प्रतिशत महिलाएं जेलों में बंद हैं और उनके साथ करीब 1800 बच्चे भी वहीं रहने को मजबूर हैं.

मई 13, 2018, 08:28 AM IST
तिनका तिनका : जेलों में बेकाबू 'भीड़' और सुप्रीम कोर्ट की जायज चिंताएं

तिनका तिनका : जेलों में बेकाबू 'भीड़' और सुप्रीम कोर्ट की जायज चिंताएं

इस समय देश की ज्यादातर जेलों में अपनी निर्धारित क्षमता से कहीं ज्यादा कैदी हैं. नेशनल क्राइम रिकॉर्ड्स ब्‍यूरो की 2015 की रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय जेलों में क्षमता के मुकाबले 114.4 फीसदी ज्‍यादा कैदी बंद हैं और कुछ मामलों में तो यह तादाद छह सौ फीसदी तक है. 

Apr 9, 2018, 05:35 PM IST
फिल्मी परदे पर जेलें और मानवाधिकार

फिल्मी परदे पर जेलें और मानवाधिकार

जेल में आसाराम हो, राम रहीम या पीटर मुखर्जी- खबर का संसार उस एक तस्वीर को पाने के लिए लालायित रहता ही है जो एक्सलूसिव हो और तुरंत बिके, इस बात की परवाह किए बिना कि कई बार ऐसी खबरों का खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ता है जिनका इन सहूलतों से कोई सरोकार नहीं.

Mar 12, 2018, 07:09 PM IST
जब जेलों में लिखी गई देश की तकदीर

जब जेलों में लिखी गई देश की तकदीर

जेल में भगत सिंह करीब 2 साल रहे. इस दौरान वे लेख लिखकर अपने क्रान्तिकारी विचार व्यक्त करते रहे.

Mar 2, 2018, 10:25 AM IST
आंखों में सपने संजोए बंदी: 14 पेट्रोल पंप, हजारों उम्मीदें...

आंखों में सपने संजोए बंदी: 14 पेट्रोल पंप, हजारों उम्मीदें...

इस समय तेलंगाना में 14 पेट्रोल पंपों का जिम्‍मा पूरी तरह से कैदियों के हाथों में है. यहां काम करने वाले बंदी 3 शिफ्टों में इन पेट्रोल पंपों को रात-दिन चला रहे है. इसके अलावा 2 पेट्रोल पंप ऐसे हैं जिन्‍हें पूरी तरह से महिला बंदी चलाती हैं.

Feb 19, 2018, 01:05 PM IST
जेलों पर लिखने वाले ऐसे तीन किरदार, जिनकी कहीं बात नहीं हुई

जेलों पर लिखने वाले ऐसे तीन किरदार, जिनकी कहीं बात नहीं हुई

कमाल की बात यह है कि जेलों के नाम पर होने वाले शोध में भी अक्सर जेल का वही सच और वही साहित्य चर्चा में आता है जिसे मीडिया लपकती है. बाकी जेल की दुनिया की ही तरह कहीं गुमनामी में खो जाता है. 

Feb 3, 2018, 12:54 PM IST
तिनका-तिनका : हाशिए के पार की एक दुनिया, जो खुद को सृजन से जोड़ रही है

तिनका-तिनका : हाशिए के पार की एक दुनिया, जो खुद को सृजन से जोड़ रही है

तेलंगाना की जेल में बंदी 24 साल के गौरिश ने जेल में बंद मां को निरीहता से देखते उसके बच्चों और पिता को दिखाया है. पेशे से फोटोग्राफर रहे गौरिश के लिए चित्रकारी नई जिंदगी लेकर आई है.

Jan 2, 2018, 04:23 PM IST
इस साल तीन वर्ग में बांटे गए तिनका-तिनका अवार्ड, तिहाड़ जेल में हुआ कार्यक्रम

इस साल तीन वर्ग में बांटे गए तिनका-तिनका अवार्ड, तिहाड़ जेल में हुआ कार्यक्रम

इस साल पेंटिंग और चित्रकारी के वर्ग में पहला पुरस्कार 73 वर्षीय भैश सिंह साहू को दिया गया. छत्तीसगढ़ की बिलासपुर जेल में बंदी भैश ने जेल में आ रहे बदलाव को पेंसिल से उकेरा है. इस श्रेणी में दूसरा पुरस्कार भी छत्तीसगढ़ की बिलासपुर जेल के हिस्से ही आया है.

Dec 11, 2017, 03:12 PM IST
तिनका तिनका : बंद दरवाजे खुलेंगे कभी... आंखों में न रहेगी नमी, न होगी नमी

तिनका तिनका : बंद दरवाजे खुलेंगे कभी... आंखों में न रहेगी नमी, न होगी नमी

आरती बताया करती थी कि उसकी हर शाम कविता के साथ ढलती है और कविता के साथ ही सुबह का सूरज उगता है. वह 8000 से ज्‍यादा डायरियां लिख चुकी है जिसमें उसकी जिंदगी के तकरीबन हर दिन का हिसाब है.

Dec 4, 2017, 07:23 PM IST
तिनका तिनका: अमानवीय होती जेलों को अब सुधरना ही होगा

तिनका तिनका: अमानवीय होती जेलों को अब सुधरना ही होगा

इसी साल अभिनेता संजय दत्त ने एक जनहित याचिका के जरिये जेलों की स्थिति को सुधारने की अपील की थी. इसी तरह गौरव अग्रवाल ने भी एक नागरिक के तौर पर देश भर की जेलों में भीड़ को कम करने और अमानवीय परिस्थितियों को घटाने की तरफ ध्यान दिलाया. 

Nov 19, 2017, 04:19 PM IST
जेल हमेशा अंत हो, यह जरूरी नहीं...

जेल हमेशा अंत हो, यह जरूरी नहीं...

मैंने एक अलग महमूद देखा. जेल में जब मेरी उससे मुलाकात हुई तो वह मुझे देखकर थोड़ा हिचका और फिर बातें होने लगीं. मैंने देखा कि उसके अंदर एक परेशानी थी. एक संकोच था.

Sep 26, 2017, 01:31 PM IST

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close