Google में यौन उत्पीड़न: कर्मचारियों ने किया प्रदर्शन, सीईओ सुंदर पिचई बोले, मैं अभी भी बॉस हूं

गूगल के सीईओ सुंदर पिचई ने एक कॉन्फ्रेंस में कहा कि कंपनी के कर्मचारियों द्वारा किए गए विरोध के कुछ सकारातमक पहलू हैं लेकिन वह अभी भी इंचार्ज हैं और कर्मचारियों के विरोध के आगे नहीं झुकेंगे. 

Google में यौन उत्पीड़न: कर्मचारियों ने किया प्रदर्शन, सीईओ सुंदर पिचई बोले, मैं अभी भी बॉस हूं

सैनफ्रांसिस्को: दुनिया की दिग्गज सॉफ्टवेयर कंपनी गूगल के 200 से अधिक कर्मचारी ने हाल में सामने आए यौन उत्पीड़न के मामलों को लेकर विरोध-प्रदर्शन किया. बीते एक नवंबर को गूगल के कर्मचारियों ने वैश्विक स्तर पर वॉकआउट किया. यह प्रदर्शन यौन उत्पीड़न के आरोपों का सामना कर रहे 'फादर ऑफ एंड्रॉयड' कहे जाने वाले एंडी रुबिन को गूगल द्वारा बचाए जाने के विरोध में किया गया. यह प्रदर्शन ऐसे वक्त में हुआ जब कुछ ही दिनों पहले इस बात का खुलासा हुआ है कि गूगल द्वारा बीते दो साल के भीतर 48 लोगों को यौन उत्पीड़न के आरोपों को लेकर कंपनी से निकाला गया. 

उधर, विरोध-प्रदर्शन के बीच गूगल के सीईओ सुंदर पिचई ने एक कॉन्फ्रेंस में कहा कि कंपनी के कर्मचारियों द्वारा किए गए विरोध के कुछ सकारातमक पहलू हैं लेकिन वह अभी भी इंचार्ज हैं और कर्मचारियों के विरोध के आगे नहीं झुकेंगे. पिचई ने कहा, " "हम रिफ़रेंडम से कंपनी नहीं चलाते." उन्होंने आगे कहा, "गूगल में, हमने बहुत ही ऊंचे मापदंड स्थापित किए हैं. यौन उत्पीड़न सामाजिक समस्या है...हम निश्चित रूप से अपना सर्वश्रेष्ठ कर रहे हैं."

एंडी रुबिन ने एक्जिट पैकेज के आरोप नकारे
उधर,  एंडी रुबिन ने एक्जिट पैकेज के आरोपों से इनकार किया है. रुबिन के प्रवक्ता सैम सिंगर ने कहा कि रुबिन ने प्लेग्राउंड नामक एक उद्यम शुरू करने के लिए 2014 में एप्पल को छोड़ने का फैसला किया था. इससे पहले, सुंदर पिचई ने अपने कर्मचारियों के नाम लिखे एक पत्र में कहा कि प्रौद्योगिकी क्षेत्र की दिग्गज कंपनी ने अनुचित आचरण के कारण अपने कर्मचारियों के खिलाफ यह कठोर कदम उठाया है. पिचई ने यह पत्र 'न्यूयॉर्क टाइम्स' की एक रिपोर्ट के जवाब में लिखा, जिसमें कहा गया था कि एंड्रॉयड निर्माता एंडी रुबिन को उन पर लगे यौन उत्पीड़न के आरोपों के बदले नौ करोड़ डॉलर का एक्जिट पैकेज देकर विदा किया गया था. 

Google CEO sundar pichai to visit Washington will also meet with Donald trump

पिचई ने अपने पत्र में कहा कि गूगल अपने कर्मचारियों को एक सुरक्षित और समावेशी कार्यस्थल प्रदान करने को लेकर बहुत गंभीर है. हम आपको आश्वस्त करते हैं कि हम यौन उत्पीड़न या दुर्व्यवहार से जुड़ी शिकायतों पर गौर करते हैं और पूरी जांच कर कार्रवाई करते हैं. पिचई ने कहा कि पिछले दो वर्षों में कंपनी से निकाले गए कर्मचारियों में से किसी को भी एक्जिट पैकेज नहीं मिला था. रुबिन पर 2013 में एक महिला कर्मचारी ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था, जिसके बाद गूगल के तत्कालीन मुख्य कार्यकारी अधिकारी लैरी पेज ने उनसे इस्तीफा देने के लिए कहा था.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close