वॉट्सऐप में आया नया फीचर, अब पता चल जाएगा कौन फैलाता है फेक न्यूज

वॉट्सऐप ने अपने प्लेटफॉर्म पर फैलाई जा रही फेक खबरों और अफवाहों को रोकने के लिए नया कदम उठाया है. मैसेजिंग ऐप वॉट्सऐप ने 'फॉरवर्ड मैसेज इंडीकेटर' फीचर की शुरुआत की है. 

वॉट्सऐप में आया नया फीचर, अब पता चल जाएगा कौन फैलाता है फेक न्यूज

नई दिल्ली: वॉट्सऐप ने अपने प्लेटफॉर्म पर फैलाई जा रही फेक खबरों और अफवाहों को रोकने के लिए नया कदम उठाया है. मैसेजिंग ऐप वॉट्सऐप ने 'फॉरवर्ड मैसेज इंडीकेटर' फीचर की शुरुआत की है. इस फीचर की मदद से कोई भी यूजर यह पता लगा लेगा कि उसके पास आया मैसेज वास्तविक रूप से किसने बनाया है या फिर किसी और के मैसेज को फॉरवर्ड किया है. हाल के दिनों में सोशल मीडिया के जरिए देश में फेक न्यूज और अफवाहें फैलाने के कई मामले सामने आए थे. वॉट्सऐप भड़काऊ मैसेज और अफवाहें फैलाने को लेकर विवादों में घिरा हुआ है. 

कैसे लगेगी फेक न्यूज पर रोक
कंपनी ने अपने नए फीचर को लेकर दुनिया भर में प्रेस रिलीज जारी की है. इसमें कहा गया है कि वॉट्सऐप यूजर को यह पता चल जाएगा कि कौन-कौन से मैसेज उसे फॉरवर्ड किए गए हैं. इससे यूजर को एक-दूसरे के साथ और वॉट्सऐप ग्रुप में बातचीत करने में आसानी होगी. हालांकि, अब भी यह सवाल बना हुआ है कि वॉट्सऐप के इस कदम से फेक न्यूज पर किस हद तक लगाम लगेगी.

अपडेट करना होगा वॉट्सऐप
नए फीचर से यूजर को यह भी पता चलेगा कि उसके दोस्त या रिश्तेदार द्वारा भेजा गया मैसेज उन्होंने लिखकर भेजा है या कहीं और से आया है. इस फीचर के लिए यूजर को अपने स्मार्टफोन में वॉट्सऐप का अपडेटेड वर्जन रखना होगा.

WhatsApp की अनोखी ट्रिक, सामने वाले यूजर को नहीं दिखेगा 'ब्लू टिक'

वॉट्सऐप, Whatsapp, Whatsapp new feature, Fake news, Forward Message Indicator
मैसेज के ऊपर ऐसे लिखा दिखेगा, पता चलेगा ये फॉरवर्डड मैसेज है या नहीं.

पता लगेगा यह है गलत संदेश
कंपनी का दावा है कि 'वॉट्सऐप आपकी सुरक्षा को लेकर काफी गंभीर है. हम आपको फॉरवर्ड किए गए मैसेज को शेयर करने से पहले एक बार सोचने की सलाह देते हैं. इसे फॉरवर्ड करने से बचने के लिए आप एक टच से स्पैम (गलत संदेश) की रिपोर्ट कर सकते हैं या मैसेज भेजने वाले शख्स को ब्लॉक कर सकते हैं.' गुजरात, महाराष्ट्र, राजस्थान, उत्तर प्रदेश में ऐसी कई घटनाएं सामने आई हैं, जिनमें झूठी खबरों, अफवाहों को बेवजह बढ़ाया गया.

WhatsApp में आया नया फीचर, बिना ऐप खोले ही कर सकेंगे चैटिंग

कंपनी से शिकायत करें
फेसबुक के स्वामित्व वाले वॉट्सऐप ने मंगलवार को अपने विज्ञापन में लोगों को झूठी खबरों से बचने की सलाह दी थी. इस विज्ञापन में वॉट्सऐप ने कहा है, 'हम सब मिलकर फेक न्यूज की समस्या को दूर कर सकते हैं. इसके लिए प्रौद्योगिकी कंपनियों, सरकार और सामुदायिक संगठनों को मिलकर काम करना होगा. अगर आपको कुछ ऐसा दिखाई देता है जो आपको लगता है कि सच नहीं है तो कृपया उसकी रिपोर्ट करें.' इस बारे में पिछले हफ्ते सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने वॉट्सऐप से ज्यादा जिम्मेदारी सुनिश्चित करने को कहा था. 

फेसबुक-वॉट्सऐप जैसे सोशल मीडिया पर लगा टैक्स, रोजाना देने होंगे 3 रुपये 35 पैसे!

सोच समझकर शेयर करें मैसेज
इस विज्ञापन में वॉट्सऐप ने यूजर्स से अनुरोध किया है कि वे फॉरवर्ड किए गए मैसेज से सावधान रहें, परेशान करने वाली जानकारी पर खुद से सवाल उठाएं, जिस जानकारी पर यकीन करना मुश्किल हो उसकी जांच करें, मैसेज में मौजूद फोटो या वीडियो को ध्यान से देखें, लिंक की जांच करें और मैसेज को सोच समझकर ही शेयर करें.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close