फ्लिन के ख़िलाफ़ जांच रोकने की बात से ट्रंप का इनकार, रूस संबंधी जांच को बताया विरोधियों की साज़िश

Last Updated: Friday, May 19, 2017 - 19:30
फ्लिन के ख़िलाफ़ जांच रोकने की बात से ट्रंप का इनकार, रूस संबंधी जांच को बताया विरोधियों की साज़िश
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की फाइल फोटो.

वॉशिंगटन: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शुक्रवार (19 मई) को मीडिया की उन खबरों को पूरी तरह खारिज कर दिया जिनमें दावा किया गया है कि उन्होंने बर्ख़ास्त किए जा चुके एफबीआई निदेशक जेम्स कोमी से अपने पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार माइक फ्लिन और रूस के बीच संबंधों की एजेंसी की जांच को रोकने को कहा था. व्हाइट हाउस के दैनिक संवाददाता सम्मेलन के दौरान इस रिपोर्ट को लेकर सवाल किए जाने पर उन्होंने ‘नहीं’ में जवाब दिया.

‘न्यूयॉर्क टाइम्स’ में मंगलवार (16 मई) को प्रकाशित हुई एक रिपोर्ट के अनुसार ट्रंप ने कोमी को फ्लिन के खिलाफ जांच रोकने को कहा था. रिपोर्ट में बताया गया है कि अमेरिका के राष्ट्रपति ने कोमी को कहा था, ‘मुझे उम्मीद है आप इस बात को जाने देंगे.’ इसके अनुसार ट्रंप ने यह अनुरोध उस समय किया था जब फ्लिन के रूस के साथ संबंधों की रिपोर्ट उजागर होने के बाद उन्होंने (फ्लिन) राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार पद से इस्तीफा दे दिया था.

ट्रंप ने कोमी को ऐसे समय में अचानक बर्खास्त कर दिया था जब वह पिछले साल हुए राष्ट्रपति पद के चुनाव के दौरान ट्रंप के चुनाव अभियान और रूस के बीच संबंधों की जांच का नेतृत्व कर रहे थे.
ट्रंप ने कोमी को बर्खास्त करने के अपने निर्णय का बचाव करते हुए कहा कि पूर्व एफबीआई प्रमुख कई लोगों के बीच ‘काफी अलोकप्रिय’ थे.

उन्होंने कहा, ‘मैंने वास्तव में निर्णय लेते समय सोचा था कि यह एक द्विदलीय निर्णय होगा. क्योंकि आपने देखा होगा कि न केवल रिपब्लिकन पक्ष के लोग बल्कि डेमोक्रेटिक पक्ष के भी सभी लोग निदेशक कोमी के बारे में गलत बातें कर रहे थे.’

विरोधियों ने निशाना बनाने के लिए रूस संबंधी जांच शुरू की: ट्रंप

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि वह वर्ष 2016 के राष्ट्रपति पद के चुनाव में रूस की कथित संलिप्तता को लेकर उनकी चुनाव प्रचार मुहिम की जांच के लिए एक विशेष अधिवक्ता की नियुक्ति का सम्मान करते हैं लेकिन इस पूरे मामले को उठाने का मकसद केवल उन्हें निशाना बनाना है.

ट्रंप ने चुनाव में रूसी हस्तक्षेप के आरोपों की जांच के लिए पूर्व एफबीआई निदेशक राबर्ट मुलर की नियुक्ति संबंधी प्रश्न के उत्तर में कहा, ‘मेरी और मेरी प्रचार मुहिम की रूस के साथ निश्चित ही कोई सांठ गांठ नहीं है.’ उन्होंने कहा, ‘मैं इस कदम का सम्मान करता हूं लेकिन इस पूरे मामले का मकसद मुझे निशाना बनाना है.’ राष्ट्रपति ने दोहराया कि उनका रूस से कोई लेना देना नहीं है. उन्होंने कहा कि वह अमेरिका को आगे ले जाना चाहते हैं.

उन्होंने कहा, ‘मैं कल (20 मई) सउदी अरब जाउंगा. मैं इस्राइल जाउंगा. मैं रोम जाउंगा. मैं जी 7 में हिस्सा लूंगा. मुझे ऐसी हर चीज से नफरत है जो लोगों को विभाजित करती है. लोग जो करना चाहता हैं, मुझे उससे कोई दिक्कत नहीं है लेकिन हमें देश को फिर से पटरी पर लाना होगा. हमने पिछले कुछ दिनों में इस दिशा में काफी प्रगति की है.’ 

ट्रंप ने कहा, ‘मेरा विश्वास कीजिए, कोई सांठगांठ नहीं है. मुझे रूस से कोई दिक्कत नहीं है लेकिन जब अमेरिका की बात आती है तो रूस हो या फिर कोई और हो, मेरी प्राथमिकता अमेरिका ही है.’ उन्होंने उनके खिलाफ महाभियोग चलाने की डेमाकेट्रिक पार्टी के सदस्यों द्वारा उठाई गई मांग को बेतुकी बताया और कहा कि अमेरिका उनके नेतृत्व में प्रगति कर रहा है.

एजेंसी

First Published: Friday, May 19, 2017 - 19:30
comments powered by Disqus