सीरिया के हालातों पर UNO प्रमुख ने जताई चिंता, कहा- 'इदलिब में नहीं होना चाहिए खूनखराबा'

सीरिया में विरोधियो के अंतिम गढ़ इबदिल में चल रहे संघर्ष पर यूएनओ प्रमुख ने दोनों पक्षों को आपस में बातचीत कर संघर्ष को समाप्त करने की अपील की   

सीरिया के हालातों पर UNO प्रमुख ने जताई चिंता, कहा- 'इदलिब में नहीं होना चाहिए खूनखराबा'
सीरिया में चल रहा आंतरिक संघर्ष (प्रतीकात्मक तस्वीर)

संयुक्त राष्ट्र: संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने विद्रोहियों के कब्जे वाले सीरिया के प्रांत इदलिब में व्यापक पैमाने पर कार्रवाई शुरू करने के खिलाफ सीरिया और उसके समर्थकों को चेतावनी दी है. इसके साथ ही उन्होंने शांति की अपील करते हुए कहा है कि वह इस स्थान पर किसी भी तरह का खूनखराबा नहीं होने देना चाहते हैं.

मंगलवार को गुटेरेस ने संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में एक कार्यक्रम के दौरान संवाददाताओं से कहा, ‘‘इदबिल में भारी पैमाने पर संघर्ष को टालना बेहद आवश्यक है.’’ तुर्की संघर्ष विराम की अपील कर रहा है ताकि सीरिया में विद्रोहियों के आखिरी मजबूत गढ़ इदलिब में सशस्त्र बलों के भविष्य पर बातचीत की जा सके लेकिन रूस और ईरान ने उसके आह्वान को ठुकरा दिया है. लम्बे समय से चल रहे सीरिया संघर्ष में काफी सीरियाई नागरिक विस्थापित हुए हैं. वहीं लाखो को अपनी जान भी गंवानी पड़ी है. 

इसे भी पढ़ें:अमेरिका ने रूस से की अपील, कहा- सीरिया में संघर्षविराम बनाए रखने पर डाले दबाव

रूस ने दी सीरिया के हालातों पर जानकारी
रूस सीरिया के बागियों के कब्जे वाले इदलिब प्रांत पर ईरान की राजधानी तेहरान में हुई वार्ता के परिणाम की जानकारी से मंगलवार को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद को अवगत कराया. रूस ने यह बातचीत सीरिया के इदलिब प्रांत के मामले में ईरान और तुर्की के साथ की था.

संयुक्त राष्ट्र ने मानवीय संकट पर जताई चिंता
संयुक्त राष्ट्र ने हमला होने की स्थिति में बड़े मानवीय संकट को लेकर चेताया था जहां तकरीबन 30 लाख लोग रहते हैं, जिनमें से करीब आधे लोग सात साल की लड़ाई में पहले ही विस्थापित हो चुके हैं. शुक्रवार को तेहरान में हुई बातचीत में ईरान, रूस और तुर्की के बीच प्रांत में सैन्य कार्रवाई को टालने पर कोई सहमति नहीं बन पाई थी.