अमेरिकी कांग्रेस ने पास किया व्यय विधेयक, ट्रंप के दस्तखत के बाद शुरू हुआ सरकारी कामकाज

ट्रंप ने ट्वीट कर विधेयक पर दस्तखत करने की घोषणा की. उन्होंने शुक्रवार को तड़के विधेयक पारित किए जाने की तारीफ करते हुए इसे अमेरिकी सेना और 'नौकरियों, नौकरियों, नौकरियों' के लिए उत्साहवर्धक करार दिया था.

अमेरिकी कांग्रेस ने पास किया व्यय विधेयक, ट्रंप के दस्तखत के बाद शुरू हुआ सरकारी कामकाज
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट कर विधेयक पर दस्तखत करने की घोषणा की (फाइल फोटो)
Play

वॉशिंगटन:  अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शुक्रवार को अहम व्यय विधेयक पर दस्तखत कर दिए, जिससे कुछ समय तक अमेरिकी सरकार का कामकाज ठप रहने के बाद फिर से यह शुरू हो सका. तीन हफ्ते में दूसरी बार सरकारी कामकाज ठप हुआ. ट्रंप ने ट्वीट कर विधेयक पर दस्तखत करने की घोषणा की. उन्होंने शुक्रवार को तड़के विधेयक पारित किए जाने की तारीफ करते हुए इसे अमेरिकी सेना और 'नौकरियों, नौकरियों, नौकरियों' के लिए उत्साहवर्धक करार दिया था.

व्यय विधेयक हुआ पारित
द्विदलीय पैकेज के समर्थन में सदन में 186 के मुकाबले 240 वोट पड़े. इस पैकेज से सरकार को 23 मार्च तक खर्च करने लायक राशि मिलेगी. इससे सरकारी कामकाज फिर से शुरू हो सकेगा. एक रूढ़िवादी सीनेटर ने कांग्रेस को आधी रात की समयसीमा का पालन नहीं करने दिया, जिससे कामकाज ठप पड़ गया. केंटुकी के सीनेटर रैंड पॉल ने उच्च सदन में अपना वोट रोक दिया था, जिससे सरकारी कामकाज कुछ समय के लिए ठप हो गया था. पॉल ने सेना एवं घरेलू कार्यक्रमों पर खर्च में बड़ी बढ़ोतरी के विरोध में अपना वोट रोका था.

डोनाल्ड ट्रंप पर बरसे फिलस्तीनी राष्ट्रपति, पश्चिम एशिया में अमेरिका खुद ही मध्यस्थता लायक नहीं रहा

रात के वक्त मंजूर किए गए समझौते से कई डेमोक्रेट सदस्य भी हताश हो गए. वह देश से बाहर भेजे जाने के खतरे का सामना कर रहे हजारों युवा आव्रजकों की समस्या का निदान करने में असफल रहने को लेकर निराश थे. ट्रंप ने करार का बचाव किया, लेकिन कहा कि ‘‘डेमोक्रेटिक वोट पाने के लिए काफी बर्बादी हुई.’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमारी सेना अब पहले से ज्यादा मजबूत होगी. हम अपनी सेना से प्यार करते हैं, हमें उनकी जरूरत है और हमने उन्हें सब कुछ दिया.’’ 

अमेरिकी संसद ने कई घंटों की देरी के बाद विधेयक को पारित किया
इससे पहले, अमेरिकी कांग्रेस (संसद) ने आज कई घंटों की देरी के बाद एक अहम परिसंघीय व्यय विधेयक पारित कर दस्तखत के लिए राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के पास भेज दिया था ताकि देश में तीन हफ्तों में दूसरी बार ठप हुआ सरकारी कामकाज फिर से शुरू हो सके. 

सदन के स्पीकर पॉल रेयान, जो कांग्रेस में शीर्ष रिपब्लिकन है, ने पूरी तरह गैर-जरूरी बंद की गंभीरता को स्वीकार किया. उन्होंने कहा कि इतिहास की किताबों में हो सकता है इसे बहुत छोटी जगह मिले, लेकिन यह वॉशिंगटन को परिभाषित करने वाले राजनीतिक अवरोध के बारे में बहुत कुछ कहता है.

रात के अंधेरे में ही सदन ने वित्तपोषण विधेयक पारित किया . सीनेटर रैंड पॉल ने करार पर अपना वोट रोक लिया. उनकी दलील थी कि यह काफी महंगा है. पॉल ट्रंप की रिपब्लिकन पार्टी में एक रूढ़िवादी सदस्य हैं.

(इनपुट - भाषा)

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close