जिनपिंग ने डोनाल्ड ट्रंप को किया फोन, उत्तर कोरिया के खिलाफ संयम रखने को कहा

ट्रंप ने शुक्रवार (11 अगस्त) को ट्वीट कर उत्तर कोरिया को चेतावनी दी थी कि समस्या के समाधान के लिए सैन्य तैयारियां सटीक और पूरी.

अंतिम अपडेट: शनिवार अगस्त 12, 2017 - 05:00 PM IST
जिनपिंग ने डोनाल्ड ट्रंप को किया फोन, उत्तर कोरिया के खिलाफ संयम रखने को कहा
शी जिनपिंग ने कहा, कोरियाई प्रायद्वीप को परमाणु बम विहीन करना चीन और अमेरिका का समान लक्ष्य है. (फाइल फोटो)

बीजिंग: चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने शनिवार (12 अगस्त) को अपने अमेरिकी समकक्ष डोनाल्ड ट्रंप से कोरियाई प्रायद्वीप में तनाव बढ़ने से रोकने के लिए उत्तर कोरिया के खिलाफ संयम बरतने का आग्रह किया है. शी ने फोन पर ट्रंप से कहा, "संबंधित पक्षों को ऐसी टिप्पणियां या कार्रवाई करने से बचना चाहिए, जिससे कोरियाई प्रायद्वीप में तनाव बढ़े." समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, शी ने यह भी कहा कि समस्या के समाधान के लिए चीन, अमेरिका के साथ मिलकर काम करने को तैयार है. एक दिन पहले ही उत्तर कोरिया ने प्रशांत महासागर में स्थित अमेरिकी द्वीप गुआम पर बमबारी करने की धमकी दी थी.

उत्तर कोरिया की धमकी के एक दिन बाद ही शी ने कहा, "कोरियाई प्रायद्वीप को परमाणु बम विहीन करना, शांति एवं स्थिरता कायम करना चीन और अमेरिका का समान लक्ष्य है." ट्रंप ने शुक्रवार (11 अगस्त) को ट्वीट कर उत्तर कोरिया को चेतावनी दी थी कि समस्या के समाधान के लिए सैन्य तैयारियां सटीक और पूरी.

अमेरिकी राष्ट्रपति कार्यालय ने शनिवार (12 अगस्त) को कहा है कि फोन पर हुई बातचीत के दौरान दोनों देशों के नेताओं ने 'संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद द्वारा हाल ही में पारित प्रस्ताव' पर सहमति जताई और कहा कि उत्तर कोरिया द्वारा लगातार किए जा रहे हथियारों के परीक्षण पर लगाम लगाने के लिए और शांति एवं स्थिरता स्थापित करने के लिए यह एक बेहद अहम और जरूरी कदम है.

'डोनाल्ड ट्रंप और शी जिनपिंग ने माना, उत्तर कोरिया को बंद करनी चाहिए उकसावे की कार्रवाई'

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने कोरियाई प्रायद्वीप को परमाणु मुक्त बनाने के आपने साझा संकल्प को दोहराया और दोनों इस बात पर सहमत हुए कि उत्तर कोरिया को अपने उकसावे और उत्तेजित करने वाली कार्रवाई बंद करनी चाहिए. उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन ने अमेरिका को गुआम पर मिसाइलें दागने की धमकी दी थी जिसके बाद दोनों नेताओं ने फोन पर बातचीत की.

व्हाइट हाउस ने बताया कि दोनों नेताओं ने दोहराया कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने हाल में उत्तर कोरिया पर जो प्रस्ताव मंजूर किया है वह कोरियाई प्रायद्वीप में शांति और स्थायित्व के लिए महत्वपूर्ण और आवश्यक कदम है. राष्ट्रपति कार्यालय ने कहा, ‘राष्ट्रपति ट्रंप और राष्ट्रपति शी ने माना कि उत्तर कोरिया को उकसावे और उत्तेजित करने वाली अपनी कार्रवाई बंद करनी चाहिए.’ व्हाइट हाउस ने कहा, ‘ट्रंप इस वर्ष के अंत में चीन में शी से मुलाकात के लिए उत्सुक हैं और दोनो नेताओं के बीच होने वाली बैठक ऐतिहासिक घटना होगी.’