close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

महाराष्ट्र: राष्ट्रवाद के नारों के साथ अमित शाह ने फूंका चुनावी बिगूल

महाराष्ट्र के बीड सावरगाव सें मंच से अमित शाह ने राष्ट्रवाद के नारों के साथ ही चुनाव बिगुल फूंक दिया है. 

महाराष्ट्र: राष्ट्रवाद के नारों के साथ अमित शाह ने फूंका चुनावी बिगूल
.(फाइल फोटो)

महाराष्ट्र: महाराष्ट्र विधानसभा के चुनाव के मद्देनजर मंगलवार को दशहरे के दिन बीड के सावरगाव में हुए अमित शाह के रैली सें राष्ट्रवाद के नारे गूंजे. अमित शाह के रैली से बीजेपी ने राजनीतिक शक्ति प्रदर्शन किया. इस रैली में धारा 370 मुद्दा का प्रमुखता से उठा. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को इसी रैली से 370 ध्वज की सलामी दी गई और 370 का मुद्दा भी विधानसभा चुनाव में प्रमुखता से लोगों में लेकर जायेगी यह स्पष्ट हो गया है. अमित शाह ने इस मंच से वंचित समाज को साधने का भी प्रयास किया. 

साथ ही राष्ट्रवाद का विरोध करने वालों का जिक्र अपने भाषण में किया. अमित शाह ने कहा कि, आपने मोदी को 300 सीटें दी है. मोदी जी ने पांच महीने में 370 हटा दिया. आज उनके सम्मान में 370 ध्वज लेकर उनके सम्मान में राष्ट्रभक्त खड़े हैं. अमित शाह ने बताया कि पांव साल पहले भी 2014 में जब महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव होने वाले थे. उन्होंने बीड के भगवान गड से ही रैली कियी थी. पांच साल बाद अब वह संत भगवान बाबा के स्मृती स्थल सावरगाव में वह रैली करने आए है.

महाराष्ट्र की मंत्री पंकजा मुंडे ने ही उस भगवान गड की रैली का आयोन किया था. अब संत भगवान बाबा के स्मृती स्थल का ट्रस्ट के माध्यम से निर्माण किया है. वह हमारे दिवंगत नेता गोपीनाथ मुंडे की विरासत आगे बढा रही है. संत भगवान बाबा के वंचित समाज कि लिए किए कार्य को गोपीनाथ मुंडे ने आगे बढ़ाया है. 

गोपीनाथ मुंडे ने गन्ना कटाई मजदूरों और चीनी कारखानों में काम करने वाले मजदूरों के लिए पूरा जीवन लगाया था. पंकजा मुंडे भी उसी रास्ते पर चल रही है. मोदीजी के नेतृत्व में देश दिन दूनी रात चौगुनी तरक्की कर रहा है. वंचितों के विकास के लिए बाबासाहेब अंबेडकर की जो कल्पना थी .उसी तरह मोदी सरकार काम कर रही है. 

इस प्रकार सावारगाव के इस मंच से राष्ट्रवाद के साथ वंचित समाज के हित का मुद्दा उठाया गया. महाराष्ट्र की वंजारा समाज में संत भगवान बाबा को मानने वाला एक बडा वर्ग है. वंजारा समाज से आने वाली राज्य की मंत्री पंकजा मुंडे ने संत भगवान बाबा के गाव सावरगाव से दहशरा रैली के कर राजनितिक शक्तीप्रदर्शन किया है. 

बीजेपी के दिवंगत नेता गोपीनाथ मुंडे के समय से भगवान गड यह दशहरा रैली होती थे . अब उनकी बेटी पंकजा मुंडे इस विरासत को आगे बढा रही है. वंजारा समाज के कई लोग अभी भी गन्ना कटाई और चीनी शुगर मिल में मजदूरी का काम करते हैं. उसी वंचित समाज के हित की बात अमित शाह ने अपनी इस रैली में की.