चुनाव से पहले मिजोरम में भी कांग्रेस के किले में दरार, विधानसभा स्पीकर ने थामा BJP का दामन

मिजाेरम में 28 नवंबर को चुनाव होंगे. नॉर्थ ईस्ट में एक मात्र यही राज्य है, जहां कांग्रेस की सरकार है.

चुनाव से पहले मिजोरम में भी कांग्रेस के किले में दरार, विधानसभा स्पीकर ने थामा BJP का दामन
भारतीय जनता पार्टी की सदस्ता लेते हिफेई. (फोटो-एएनआई)

आइजोल: मिजोरम विधानसभा चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है. मिजोरम विधानसभा के अध्यक्ष हिफेई ने सोमवार को कहा कि उन्होंने अपने पद, सदन और कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया है. हिफेई ने कहा कि उन्होंने अपना इस्तीफा विधानसभा उपाध्यक्ष आर. लालरीनवमा को सौंपा जिन्होंने उसे स्वीकार कर लिया है. हिफेई ने कहा कि उन्होंने सत्तारूढ़ कांग्रेस पार्टी से भी इस्तीफा दे दिया है और सोमवार को भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए हैं.

अनुभवी नेता हिफेई 2013 में पलक विधानसभा क्षेत्र से चुनकर 40 सदस्यीय विधानसभा में पहुंचे. पूर्वोत्तर में मिजोरम एकमात्र कांग्रेस शासित राज्य है. यहां 28 नवंबर को विधानसभा चुनाव होने हैं.

Congress leader Hiphei resigned as Speaker of Mizoram Legislative Assembly and joins BJP

आपको बता दें कि मिजोरम उन पांच राज्यों में से एक हैं, जहां विधानसभा इसी माह चुनाव होने हैं. 40 सदस्यों वाली विधानसभा के लिए यहां 28 नवंबर को वोट डाले जाएंगे. फिलहाल, ये पूर्वोत्तर का एकमात्र ऐसा राज्य है जहां कांग्रेस सत्ता में है. बीजेपी मिजोरम में सरकार बनाने के लिए पूरी तैयारी के साथ चुनाव मैदान में उतरी है. चुनाव से ठीक पहले हिफेई का इस्तीफा कांग्रेस के लिए एक बड़ा झटका माना जा रहा है. 

 हिफेई पूर्वोत्तर में ईसाई जनजातीय नेता के तौर पर जाने जाते हैं. आपको बता दें कि हिफेई पिछले हफ्ते गुवाहाटी गए थे और असम के वित्त मंत्री हिमंता बिस्वा शर्मा से मुलाकात के बाद नई दिल्ली भी गए थे और वहां वरिष्ठ बीजेपी नेताओं से मुलाकात करने के बाद वो मिजोरम पहुंचे और ये फैसला लिया. 

अब तक 5 विधायक छोड़ चुके हैं पार्टी
नॉर्थ ईस्ट में यही एकमात्र राज्य है, जहां अब तक कांग्रेस की सत्ता है. लेकिन इस बार जिस तरह से एक के बाद एक कांग्रेस नेता पार्टी छोड़ रहे हैं, उसे देखकर लग रहा है कि मिजोरम में भी कांग्रेस की जमीन खिसकती हुई दिख रही है. मिजोरम में 28 नवंबर को चुनाव होगा. ऐसे में जब पार्टियां मजबूती से प्रचार करते हुए चुनावी मैदान में हैं तब कांग्रेस के बड़े नेता पार्टी छोड़ रहे हैं. सोमवार को पार्टी के एक वरिष्ठ विधायक मिंगदाइलोवा खियांगते ने कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया. यहां अब तक 5 विधायक कांग्रेस पार्टी का साथ छोड़ चुके हैं.