वीर सावरकर के खिलाफ नहीं हूं, लेकिन उनके हिंदुत्व का हम समर्थन नहीं करते: मनमोहन सिंह

पहले कांग्रेस ने वीर सावरकर (Veer Savarkar) को भारत रत्न देने का विरोध किया तो गुरुवार को पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह (Manmohan singh) ने मुंबई में पत्रकारों से कहा कि कांग्रेस की सरकार में वीर सावरकर (Veer Savarkar) के लिए पोस्टल स्टाम्प (डाक टिकट) जारी किया गया था. 

वीर सावरकर के खिलाफ नहीं हूं, लेकिन उनके हिंदुत्व का हम समर्थन नहीं करते: मनमोहन सिंह
पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने मुंबई में प्रेस कांफ्रेंस की.

मुंबई: महाराष्‍ट्र विधानसभा चुनाव 2019 (Maharashtra Assembly Elections 2019) के लिए जारी घोषणा पत्र में बीजेपी ने वीर सावरकर (Veer Savarkar) को भारत रत्न देने का वादा किया है. इस मुद्दे पर कांग्रेस फंसती दिख रही है. पहले कांग्रेस ने वीर सावरकर (Veer Savarkar) को भारत रत्न देने का विरोध किया तो गुरुवार को पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह (Manmohan singh) ने मुंबई में पत्रकारों से कहा कि कांग्रेस की सरकार में वीर सावरकर (Veer Savarkar) के लिए पोस्टल स्टाम्प (डाक टिकट) जारी किया गया था. हालांकि मनमोहन सिंह (Manmohan singh) ने ये भी कहा कि वे वीर सावरकर (Veer Savarkar) के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन उन्होंने हिंदुत्व की जिस विचारधारा का समर्थन करते थे, कांग्रेस उसके पक्ष में नहीं है.

इससे पहले कांग्रेस ने मंगलवार को हिंदू महासभा के संस्थापक विनायक दामोदर सावरकर को महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव से पहले भारत रत्न दिए जाने की बीजेपी की मांग पर सवाल उठाया. कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने कहा, 'मैं हैरान हूं कि एक तरफ बीजेपी महात्मा गांधी की प्रशंसा कर रही है और दूसरी तरफ सावरकर के लिए भारत रत्न की मांग कर रही है. एक ऐसा देश, जहां महात्मा गांधी की हत्या को आत्महत्या बताया जा रहा है, तब कुछ भी संभव हो सकता है. बहरहाल, गंभीरता से कहें तो सावरकर को महात्मा की हत्या के आरोप में आरोपित किया गया था लेकिन यह सही है कि उन्हें बरी कर दिया गया था.'

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस द्वारा संयुक्त रूप से जारी चुनावी घोषणापत्र में मांग की गई है कि बीजेपीनीत राजग सरकार वीर सावरकर (Veer Savarkar) को देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से सम्मानित करे. बीजेपी ने मराठा और दलित भावनाओं को जगाते हुए समाज सुधारकों ज्योतिबा फुले और सावित्री बाई फुले के लिए भी भारत रत्न की मांग की है.

इसके अलावा बीजेपी ने अगले पांच वर्षों में एक करोड़ रोजगार सृजित करने और महाराष्ट्र को एक खरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का भी वादा किया है. घोषणापत्र की आलोचना करते हुए तिवारी ने पीएमसी बैंक घोटाले और उसके एक जमाकर्ता की मौत पर सवाल उठाते हुए कहा, 'जनता इस निष्कर्ष पर पहुंची है कि बैंकों में उनका पैसा सुरक्षित नहीं है.' महाराष्ट्र की 288 विधानसभा सीटों पर 21 अक्टूबर को चुनाव होंगे जबकि इसका परिणाम 24 अक्टूबर को आएगा.