close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गडकरी नागपुर से मुंबई रवाना, कांग्रेस विधायकों को भेज रही जयपुर, शिवसेना- CM को देना होगा इस्‍तीफा

सियासी जोड़-तोड़ और बीजेपी के कांग्रेसी विधायकों के संपर्क में होने की बात पर संजय राउत ने कहा कि कांग्रेस विधायकों पर कर्नाटक का फॉर्मूला यहां नहीं चलेगा. मुख्यमंत्री को संविधान के हिसाब से आज इस्तीफा देना पड़ेगा.

गडकरी नागपुर से मुंबई रवाना, कांग्रेस विधायकों को भेज रही जयपुर, शिवसेना- CM को देना होगा इस्‍तीफा

मुंबई: महाराष्‍ट्र (Maharashtra Assembly Elections 2019) के पल-प्रतिपल बदलते सियासी माहौल के बीच केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी नागपुर से मुंबई के लिए रवाना हो गए हैं. माना जा रहा है कि शिवसेना के साथ सरकार गठन के मसले पर उपजे गतिरोध पर बातचीत के लिए वह आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत से मिले थे. उनके आगमन पर शिवसेना प्रवक्‍ता संजय राउत ने कहा कि नितिन गडकरी मुंबई के निवासी हैं. उनसे पूछा गया कि क्‍या गडकरी के पास सरकार गठन का कोई फॉर्मूला है तो उन्‍होंने कहा कि यदि ढाई साल के मुख्यमंत्री का गडकरी के पास खत है तो उद्धव ठाकरे को मैं बताता हूं. संजय राउत ने कहा कि महराष्ट्र, दिल्ली के सामने कभी नहीं झुकेगा. उद्धव ठाकरे और शरद पवार कभी नहीं झुके. महाराष्‍ट्र हमारा है.

सियासी जोड़-तोड़ और बीजेपी के कांग्रेसी विधायकों के संपर्क में होने की बात पर उन्‍होंने कहा कि कांग्रेस विधायकों पर कर्नाटक का फॉर्मूला यहां नहीं चलेगा. मुख्यमंत्री को संविधान के हिसाब से आज इस्तीफा देना पड़ेगा. अयोध्‍या केस में कोर्ट के संभावित फैसले पर संजय राउत ने कहा कि अयोध्या के मामले में नसीहत हमें देने की जरूरत नहीं है. शिवसेना का योगदान कोई नकार नहीं सकता. कोर्ट का फैसला हम मानेंगे.

कांग्रेस की चिंता
इस बीच शिवसेना के बाद अब कांग्रेस अपने विधायकों को लेकर चिंतित है. सूत्रों के मुताबिक उनको जयपुर भेजा जा रहा है. इस बीच नेता प्रतिपक्ष और कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता वड्डेत्तिवार के बंगले पर कांग्रेस नेताओं और विधायकों की बैठक हो रही है.

शिवसेना विधायकों को होटल में किया गया शिफ्ट
शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने आज दोपहर 12 बजे शिवसेना भवन में पार्टी नेताओं और जिला प्रमुखों की बैठक बुलाई है. उससे पहले गुरुवार को सियासी जोड़-तोड़ की आशंका के बीच शिवसेना विधायकों को होटल में शिफ्ट कर दिया गया. रंगशारदा होटल में देर रात तक आदित्‍य ठाकरे विधायकों के बीच मौजूद रहे.

दरअसल शिवसेना नेता रामदास कदम, एकनाथ शिंदे, अनिल देसाई और प्रताब सरनाईक एक साथ करीब 10 बजकर 20 मिनट पर रंगशारदा होटल पहुंचे थे. रात 11 बजकर 15 मिनट पर आदित्य ठाकरे विधायकों के बीच पहुंचे. शिवसेना विधायकों से मिलने गए ज्‍यादातर नेताओं ने लगभग रात तीन बजे के बाद अपने घर की ओर प्रस्थान किया. इसके बाद हाल ही में शिवसेना द्वारा  विधायक दल के नेता चुने गए एकनाथ शिंदे रात भर इन विधायकों के साथ होटल में मौजूद रहे.

गौरतलब है कि शिवसेना द्वारा होटल में लाए गए सभी विधायक देर रात तक होटल के लॉबी में ठहरे हुए थे. इस बीच एकनाथ शिंदे खुद सभी विधायकों के बीच मौजूद रहकर उनकी हर गतिविधि पर नज़र बनाए हुए थे. तड़के करीब 3:50 बजे के आसपास सभी विधायक अपने-अपने कमरे में आराम करने के लिए गए लेकिन एकनाथ शिंदे कुछ विधायकों के साथ होटल की लॉबी में मौजूद रहे.

(इनपुट: अहसान अब्‍बास, नित्‍यानंद शर्मा, अमित त्रिपाठी के साथ)

ये भी देखें...