close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बीजेपी-शिवसेना के बीच मीडिएटर के जरिये बातचीत, एकदूसरे के सामने नए प्रस्ताव रखे: सूत्र

महाराष्ट्र में बीजेपी-शिवसेना के बीच मुख्यमंत्री पद सहित मंत्री पदों और सत्ता में हिस्सेदारी को लेकर खींचतान जारी है. 

बीजेपी-शिवसेना के बीच मीडिएटर के जरिये बातचीत, एकदूसरे के सामने नए प्रस्ताव रखे: सूत्र
शिवसेना और बीजेपी के बीच बातचीत का दौर जारी रहेगा.

मुंबई: महाराष्ट्र (Maharashtra) में बीजेपी-शिवसेना (BJP-Shiv Sena) के बीच मुख्यमंत्री पद सहित मंत्री पदों और सत्ता में हिस्सेदारी को लेकर खींचतान जारी है. इसी बीच, सूत्रों के हवाले से खबर है कि बीजेपी शिवसेना के बीच मीडिएटर के जरिये बातचीत जारी है. दोनों पार्टियों ने एकदूसरे के सामने नए प्रस्ताव रखे हैं. शिवसेना ढाई साल के लिए महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री पद चाहती है. इसके अलावा 21 मंत्री पद मांग रही है. केंद्र सरकार में भी एक केंद्रीय मंत्री पद मांग रही है. राज्य में राजस्व, वित्त, शहरी विकाश और गृह मंत्रालय इन चार मंत्रालयों में से 2 मंत्रलाय शिवसेना चाहती है.

बीजेपी क्या-क्या मांगे मान सकती है: 
बीजेपी, शिवसेना को उपमुख्यमंत्री पद देगी पर शर्त है कि आदित्य ठाकरे, सुभाष देसाई या एकनाथ शिंदे, इन तीन में से कोई एक उपमुख्यमंत्री पद पर आए. 
बीजेपी ने पहले 13 मंत्री पद देने की बात की थी, अब 16 मंत्रिपद दे सकती है. 
राजस्व, वित्त, शहरी विकास और गृह मंत्रालय इन चार मंत्रालयों में से एक विभाग का मंत्रालय शिवसेना को दे सकती है. ज्यादातर संभावना है कि राजस्व विभाग शिवसेना को दिया जाएगा.
बीजेपी , केंद्र सरकार में एक स्वतंत्र प्रभार मंत्रालय भी शिवसेना को दे सकती है.
सूत्रों के मुताबिक, सिचाई, कृषी, ग्रामीण विकास, आदिवासी विकाश मंत्रालय शिवसेना को दिया जाएगा.

LIVE टीवी:

शिवसेना और बीजेपी के बीच बातचीत का दौर जारी रहेगा. अगर बातचीत से आखिरी निष्कर्ष नही निकलता तो बीजेपी सिंगल लार्जेस्ट पार्टी के तौर पर सरकार बनाने का दावा पेश करेगी और सरकार बनाएगी. इस बीच शिवसेना और बीजेपी के बीच सत्ता में भागेदारी को लेकर बातचीत का और समय मिलेगा. अगले हफ्ते बीजेपी सरकार बनाने का दावा पेश करेगी. महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में किसी भी दल को पूर्ण बहुमत नही मिला है. 288 सीटों की विधानसभा में 145 जादुई आंकड़ा है. 105 विधायको के साथ बीजेपी सबसे बड़ा दल है जबकि सहयोगी शिवसेना के 56 विधायक चुनकर आए हैं.