ओवैसी के खिलाफ चुनावी मैदान में बीजेपी ने उतारी मुस्लिम महिला उम्मीदवार

शहजादी ने आरोप लगाया कि हैदराबाद के पुराने शहर में एक सांप्रदायिक माहौल बना दिया गया है. सामान्य मुसलमानों समेत आम लोगों के जीवन में कोई बदलाव नहीं आया है.

ओवैसी के खिलाफ चुनावी मैदान में बीजेपी ने उतारी मुस्लिम महिला उम्मीदवार
फाइल फोटो

हैदराबाद: भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने हैदराबाद की चंद्रयानगुट्टा विधानसभा सीट से ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के शीर्ष नेता अकबरुद्दीन ओवैसी का मुकाबला करने के लिए एक मुस्लिम महिला उम्मीदवार सैयद शहजादी को चुनाव मैदान में उतारा है. चुनावी राजनीति में एक नौसिखिया मानी जाने वाली, शहजादी एबीवीपी की नेता हैं और तेलंगाना के अदिलाबाद की रहने वाली हैं. हैदराबाद में उस्मानिया विश्वविद्यालय से राजनीति विज्ञान में स्नातकोत्तर शहजादी ने आरोप लगाया कि चंद्रयानगुट्टा और हैदराबाद शहर के अन्य हिस्सों में आम लोगों की स्थिति में कोई बदलाव नहीं आया है, जबकि AIMIM पिछले दो दशक से यहां का प्रतिनिधित्व कर रही है.

ओवैसी ने हैदराबाद के पुराने शहर में बनाया सांप्रदायिक माहौल- शहजादी
उन्होंने कहा कि वह केंद्र सरकार की योजनाओं को लागू करके लोगों के कल्याण के लिए काम कर सकती हैं. उन्होंने कहा, 'मैं पूछ रही हूं कि आपके (लोगों) लिए उन्होंने (ओवैसी) किया क्या है? आपके जीवन में क्या बदलाव आया है? आपके बच्चों की शिक्षा के बारे में क्या और उनमें से कितनों को रोजगार मिला हुआ हैं? कितने इंजीनियर और डॉक्टर बन गए हैं.' शहजादी ने आरोप लगाया कि हैदराबाद के पुराने शहर में एक सांप्रदायिक माहौल बना दिया गया है. सामान्य मुसलमानों समेत आम लोगों के जीवन में कोई बदलाव नहीं आया है.

बीजेपी ने बनाया था कलाम को राष्ट्रपति- शहजादी
अकबरुद्दीन ओवैसी एआईएमआईएम के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी के छोटे भाई हैं. वह 1999, 2004, 2009 और 2014 में विधानसभा के लिए निर्वाचित हुए थे. वह हाल में भंग हुई पहली तेलंगाना विधानसभा में एआईएमआईएम विधायक दल के नेता थे. बीजेपी के सांप्रदायिक पार्टी होने के आरोपों को खारिज करते हुए शहजादी ने कहा कि इस तरह की मानसिकता बना दी गई है कि यह मुस्लिमों का विरोध करती है. उन्होंने कहा कि यह वही बीजेपी है जिसने दिवंगत एपीजे अब्दुल कलाम को देश का राष्ट्रपति बनाया और सिकंदर बख्त, नजमा हेपतुल्ला और एमजे अकबर जैसे बीजेपी के मुस्लिम नेताओं को अहम पद दिए.

युवाओं को आगे बढ़ाने का काम कर रही है बीजेपी
उन्होंने दावा किया कि हैदराबाद में मौलाना आजाद उर्दू विश्वविद्यालय और उत्तर प्रदेश के मदरसों के लिए बजट को बढ़ाया गया. शहजादी ने कहा कि वह गरीबी, लोगों के मुद्दे और मुस्लिम महिलाओं से संबंधित मुद्दों को समझती है. उन्होंने कहा, ''यदि कोई पार्टी है जिसने युवाओं को प्रोत्साहित किया तो वह बीजेपी है. वह बीजेपी ही है जिसने मुस्लिमों को भी प्रोत्साहित किया और मैं इसका एक उदाहरण हूं.'' बीजेपी की तेलंगाना इकाई के अध्यक्ष के लक्ष्मण ने कहा कि शहजादी एआईएमआईएम के गलत कार्यों और वे कैसे गरीब मुस्लिमों का शोषण कर रहे हैं, इसे उजागर कर सकती है. शहजादी ने तीन तलाक मुद्दे पर मोदी सरकार के निर्णय की प्रशंसा की. उन्होंने कहा कि वह मुस्लिम महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए काम करना चाहती है.