close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

रिपोर्टर ने उद्धव ठाकरे से पूछा - क्या इस बार शिवसेना का CM बनेगा, मिला यह जबाव

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में बीजेपी-शिवसेना गठबंधन को 157 सीट मिलती नजर आ रही हैं लेकिन सीएम पद को लेकर पेंच फंसता नजर आ रहा है. 

रिपोर्टर ने उद्धव ठाकरे से पूछा - क्या इस बार शिवसेना का CM बनेगा, मिला यह जबाव
शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के बयान ने बढ़ाई बीजेपी की चिंता...

नई दिल्ली: महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव (Maharashtra Assembly elections 2019) में बीजेपी-शिवसेना गठबंधन (BJP-Shiv Sena alliance) को 157 सीट मिलती नजर आ रही हैं. बीजेपी 98, जबकि शिवसेना 57 सीट पर लीड कर रही है. इसी के साथ, महाराष्ट्र में शिवसेना और बीजेपी के बीच मुख्यमंत्री पद को लेकर पेंच फंसता जा रहा है. उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने शाम को पार्टी द्वारा आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में सीएम पद पर दावा जताते हुए कहा कि उनकी पार्टी 50-50 के फॉर्मूले से कम में नहीं झुकेंगे. हम हर बार बीजेपी का प्रस्ताव नहीं मानेंगे.

प्रेस कॉन्फ्रेंस में जब एक रिपोर्ट ने ठाकरे से पूछा कि क्या इस बार राज्य में शिवसेना का सीएम बनेगा? इसके जवाब में ठाकरे ने कहा - आपके मुंह में घी-शक्कर. ठाकरे ने कहा, "50-50 का फॉर्मूला लोकसभा चुनाव के दौरान तय हुआ था. अब वक्त आ गया है, इस पर अमल हो. मुझे बीजेपी की अड़चने चुनाव के पहले प्रदेश चंद्रकांत पाटिल ने बताई, मैंने उनकी बातें सुन ली. अब चुनाव हो गए हैं, पहले बैठक करेंगे, बैठक में सभी विषयों पर चर्चा करेंगे,फिर हम तय करेंगे,करना क्या है." 

उधर, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने कहा कि शिवसेना मोलभाव करने वाली पार्टी नहीं, हिंदुत्व के मुद्दे पर एकसाथ आए हैं. कुछ अपेक्षाएं हो सकती हैं, मिलकार बात की जाएगी. फड़णवीस ने कहा कि हमें 105 सीटे मिली हैं, हमारी सीटें कम हुई है. फड़णवीस ने कहा कि हमें 105 सीटे मिली हैं, हमारी सीटें कम हुई है. पिछली बार हमने 260 सीटों पर चुनाव लड़ा था, तो हमें 122 सीटे मिली थीं. इस बार हमने 164 सीटों पर चुनाव लड़ा जिसमें अब सीटें कम हुई हैं  लेकिन हमारा स्ट्राईक रेट बड़ा है.  

LIVE टीवी: 

फड़णवीस ने यह भी कहा, "हमारे कुछ बागी उम्मीदवार चुनाव लड़े थे. हमारे बागी 15 लोग जीतकर आए हैं, उनसे संपर्क हुआ है. यह सभी हमारे साथ रहेंगे. हम अगले पांच साल तक मजबूत सरकार देंगे. पाच साल सरकार चलाकर एक सीएम फिर से चुनकर आ रहा है, यह पहली बार हुआ है. महराष्ट्र के जनादेश को स्वीकृत करते हैं. जनता की उम्मीदो पर मेरी सरकार खरी उतरी है."