close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

हरियाणा: चुनाव से पहले महिलाओं ने पुरुषों को इस मामले में पछाड़ा, पूरा प्रदेश हुआ खुश

हरियाणा में विधानसभा चुनाव के परिणाम से पहले महिलाओं से जुड़ी एक अच्छी खबर सामने आई है. 

हरियाणा: चुनाव से पहले महिलाओं ने पुरुषों को इस मामले में पछाड़ा, पूरा प्रदेश हुआ खुश
.(प्रतीकात्मक तस्वीर)

चंडीगढ़: हरियाणा में लोकसभा चुनाव से लेकर विधान सभा चुनाव तक मतदाताओं की संख्या में 3 लाख 33 हजार के करीब बढ़ोतरी हुई है. हरियाणा में लोकसभा चुनाव करीब चार महीने पहले इसी वर्ष मई महीने में हुआ था. मतदाताओं की इस बढ़ी हुई संख्या में दिलचस्प आंकड़ा महिला मतदाताओं का है. महिला मतदाताओं की संख्या पुरुषों के मुकाबले अधिक बढ़ी है. महिला मदताओं की संख्या 1 लाख 72  हजार के करीब बढ़ी है जबकि पुरुष मतदाताओं की संख्या में 1 लाख 61 हजार की बढ़ोतरी हुई है. हरियाणा में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ नारे की एक खूबसूरत झलक विधानसभा चुनाव में भी दिखाई दे रही है.

विधान सभा चुनावों के लिए मतदाता सूची में जो नए मतदाता दर्ज हुए हैं. इसमें पुरुषों के मुकाबले महिलाओं की संख्या काफी अधिक है. हरियाणा राज्य निर्वाचन आयोग की तरफ से मिली जानकारी के अनुसार इसी वर्ष मई महीने में हुए लोकसभा चुनावों के बाद हरियाणा में हो रहे विधान सभा चुनावों तक मतदाताओं की संख्या में 3 लाख 33 हजार के करीब बढ़ोतरी हुई है.

और दिलचस्प बात यह है कि पुरुष मतदताओं की संख्या के मुकाबले महिला मतदताओं की संख्या करीब दस हजार अधिक बढ़ी है. हरियाणा के संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी डाक्टर इंद्रजीत ने बताया कि पुरुष मतदाताओं की संख्या 1 लाख 61 हजार के करीब बढ़ी है जबकि महिला मतदाताओं की संख्या 1 लाख 72 हजार के करीब बढ़ी है.

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्ष 2015 में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान की देशव्यापी शुरुआत हरियाणा की पवित्र धरती से ही की थी. हरियाणा ने प्रधानमंत्री को इस विश्वास को नतीजे भी दिए हैं. वर्ष 2014 में हरियाणा में लिंगानुपात 1000 लड़कों पर 871 लड़कियों का था. वर्ष 2015 में 1000 लड़कों पर लड़कियों की संख्या 876, 2016 में 900 और 2017 में 914 हुआ. वर्ष 2019 के पहले 6 महीनों में यह आंकड़ा 918 के पास पहुंच चुका है.