प्रवीण कुमार

बीते दो दशक से पहले प्रिंट और वर्तमान में ऑनलाइन पत्रकारिता में सक्रिय. राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय राजनीति व समसामयिक विषयों में गहरी रूचि. गंभीर विषयों पर लेखन कार्य.

LIVE UPDATE : तूफान 'हुदहुद' की रफ्तार हुई कमजोर लेकिन मचाई भारी तबाही

LIVE UPDATE : तूफान 'हुदहुद' की रफ्तार हुई कमजोर लेकिन मचाई भारी तबाही

ज़ी मीडिया ब्यूरो/प्रवीण कुमार/रामानुज सिंह

बैंग बैंग' समीक्षा : एक्शन के साथ रोमांस भी

बैंग बैंग' समीक्षा : एक्शन के साथ रोमांस भी

प्रवीण कुमार/ज़ी मीडिया ब्यूरो

कश्मीर में आपदा से क्या सीखा?

सदियों से कश्मीर को धरती का स्वर्ग माना जाता रहा है, और यहां आए जल-प्रलय ने इस बात को साबित कर दिया कि स्वर्ग भी नरक बनने का सामर्थ्य रखती है। बड़ा सवाल यह कि धरती के इस स्वर्ग को नरक बनने का सामर्

सत्ता मोह में ढाई दशक की दोस्ती कुर्बान

कहते हैं कि सियासत में वैचारिक दोस्ती से कहीं ज्यादा अहमियत सत्ता मोह की होती है। कुछ ऐसा ही महाराष्ट्र में भाजपा, शिवसेना तथा अन्य छोटे दलों से मिलकर बनी महायुति के साथ घटित हुआ। महाराष्ट्र में 48

पांच दिन की यात्रा पर जापान पहुंचे पीएम मोदी

पांच दिन की यात्रा पर जापान पहुंचे पीएम मोदी

ज़ी मीडिया ब्यूरो/प्रवीण कुमार

लव-जिहाद : समझो तो अमृत वरना जहर

लव जिहाद को लेकर देश का सियासी पारा उफान पर है। उत्तर प्रदेश भाजपा की मथुरा के बृंदावन में दो दिवसीय बैठक में लव-जिहाद पर प्रस्ताव पारित करने की घोषणा और फिर उसपर यू-टर्न ने विपक्षी पार्टियों और मी

तो क्या सिर मुंडाते ही ओले पड़े?

अपने कामकाज को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भले ही कहें कि हमारी सरकार को हनीमून मनाने का भी मौका नहीं मिला, लेकिन भाजपा की सेहत और देश के हालात इस बात को बयां करने के लिए काफी हैं कि मोदी सरकार

सरकार! महंगाई पर ये कैसी मेहरबानी?

मोदी सरकार का पहला बजट बड़े बदलाव की उम्मीद पर खरा नहीं उतरा। आम लोगों की पहली और अंतिम चिंता सिर्फ महंगाई है, लेकिन इसको लेकर कोई भी ठोस कार्ययोजना मोदी सरकार के पहले बजट में सामने नहीं आई। हां, मह